1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bjp leader rahul sinha protesting against fake vaccination in bengal arrested people have to wait whole night at vaccination centres mtj

कोलकाता में वैक्सीन के लिए रतजगा कर रहे लोग, वैक्सीनकांड का विरोध करने वाले भाजपा नेता राहुल सिन्हा गिरफ्तार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
प्रदर्शन के दौरान चोटिल हुए बंगाल प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष राहुल सिन्हा
प्रदर्शन के दौरान चोटिल हुए बंगाल प्रदेश भाजपा के पूर्व अध्यक्ष राहुल सिन्हा
Prabhat Khabar

कोलकाताः पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में फर्जी वैक्सीनेशन कांड की निष्पक्ष जांच की मांग करने वाले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता राहुल सिन्हा समेत कई नेताओं और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने सुकिया स्ट्रीट से गिरफ्तार कर लिया. इस दौरान राहुल सिन्हा चोटिल भी हो गये. उधर, कोलकाता के अलग-अलग अस्पतालों में बने वैक्सीनेशन सेंटर्स पर लोगों को टीका लेने के लिए रात-रात भर केंद्रों पर इंतजार करना पड़ रहा है.

भाजपा नेता राहुल सिन्हा ने इस अवसर पर कहा कि बंगाल में लोकतंत्र नहीं है. ममता बनर्जी बार-बार लोकतंत्र की बात करती हैं, लेकिन बंगाल में उन्होंने लोगों के अधिकारों का हनन किया है. उन्होंने पूछा कि फर्जी वैक्सीन लगाकर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ ममता बनर्जी की सरकार सख्त कार्रवाई क्यों नहीं कर रही. इतने बड़े मामले की सीबीआई जांच कराने से यह सरकार क्यों पीछे हट रही है.

राजधानी कोलकाता के कस्बा थाना क्षेत्र में फर्जी आईएएस अधिकारी देबांजन देव की ओर से आयोजित कराये गये वैक्सीनेशन कैंप के बाद प्रदेश में फर्जी वैक्सीन लगाकर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ का खुलासा हुआ था. तृणमूल कांग्रेस की सांसद मिमी चक्रवर्ती भी इसका शिकार हुईं थीं. उनकी शिकायत पर ही पुलिस ने लोगों को फर्जी टीका लगाये जाने के मामले का खुलासा किया था.

फेक वैक्सीनेशन का खुलासा होने के बाद खुद को कोलकाता नगर निगम का ज्वाइंट कमिश्नर बताने वाले फर्जी आईएएस अधिकारी देबांजन देव को गिरफ्तार कर लिया गया था. उसके कई साथियों को भी गिरफ्तार किया गया. इसके बाद पता चला कि उसने करीब 2,000 लोगों को कोरोना वैक्सीन के नाम पर निमोनिया का टीका लगवा दिया.

कोलकाता नगर निगम के मेयर और ममता बनर्जी कैबिनेट के कद्दावर नेता फिरहाद हकीम समेत तृणमूल कांग्रेस के कई नेताओं के साथ देबांजन देव की तस्वीरें सामने आयीं थीं. इसके बाद ही भाजपा के नेता ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस सरकार के खिलाफ हमला बोल दिया. भाजपा ने मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की, लेकिन सरकार ने सीआईडी जांच कराने का फैसला किया.

कोलकाता में फर्जी वैक्सीनेशन कांड का मामला कलकत्ता हाइकोर्ट भी पहुंचा, लेकिन अदालत ने कहा कि इसकी सीबीआई जांच कराने की जरूरत नहीं है. इसके बाद से भाजपा के नेता सड़क पर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. बंगाल भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व राष्ट्रीय महासचिव राहुल सिन्हा को सोमवार को प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया.

वैक्सीनेशन के लिए अस्पतालों के बाहर लगी लंबी कतारें

फर्जी वैक्सीन लगाये जाने का खुलासा होने के बाद सरकार ने कुछ खास जगहों पर ही वैक्सीनेशन की सुविधा शुरू की. लोगों से अपील की कि वे सरकारी वैक्सीनेशन सेंटर में ही टीका लगवायें. इसके बाद सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन लेने वाले लोगों की लंबी-लंबी कतारें लग रही हैं.

सोमवार को एसएसकेएम अस्पताल के अलावा नीलरतन सरकार अस्पताल, मानिकतला ईएसआई हॉस्पिटल और आरजी कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में टीकाकरण शिविर के सामने भीड़ उमड़ रही है. अस्पतालों के बाहर सैकड़ों लोगों को रात भर खुले आसमान के नीचे इंतजार करना पड़ रहा है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें