1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal will remain closed for 9 days in august lockdown extended till august 31

बंगाल में अगस्त महीने के 7 दिन रहेगी संपूर्ण बंदी, 31 अगस्त तक बढ़ा राज्य में लॉकडाउन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bengal news : अगस्त महीने में 7 दिन संपूर्ण लॉकडाउन और राज्य में 31 अगस्त तक लॉकडाउन जारी रखने की जानकारी देतीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.
Bengal news : अगस्त महीने में 7 दिन संपूर्ण लॉकडाउन और राज्य में 31 अगस्त तक लॉकडाउन जारी रखने की जानकारी देतीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी.
प्रभात खबर.

Lockdown in Bengal : कोलकाता : पश्चिम बंगाल में हफ्ते में दो दिन संपूर्ण लॉकडाउन की पूर्ण घोषणा के तहत राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Benerjee) ने संपूर्ण लॉकडाउन के दिनों की घोषणा कर दी है. इस हफ्ते बुधवार (29 जुलाई, 2020) को संपूर्ण लॉकडाउन के बाद अगला लॉकडाउन 5 अगस्त (बुधवार) को होगा. इसी तरह अगस्त महीने में 7 दिन पूरे राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन रहेगा. वहीं, राज्य में लॉकडाउन को अब 31 जुलाई से बढ़ा कर 31 अगस्त, 2020 कर दिया है. हांलाकि, मंगलवार को राज्य सरकार ने 9 दिन संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की थी, लेकिन कुछ देर बाद राज्य के गृह विभाग ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि आगामी 2 और 9 अगस्त के संपूर्ण लॉकडाउन को वापस ले लिया है.

राज्य में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus infection) की रोकथाम को लेकर राज्य सरकार ने अगस्त माह में 9 दिन संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की है. ईद, राखी एवं स्वाधीनता दिवस को ध्यान में रखते हुए राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन बुधवार (29 जुलाई, 2020) के बाद 5 अगस्त (बुधवार), 8 अगस्त (शनिवार), 16 अगस्त (रविवार), 17 अगस्त (सोमवार), 23 अगस्त (रविवार), 24 अगस्त (सोमवार) और 31 अगस्त (सोमवार) को होगा. राज्य में लॉकडाउन को अब 31 जुलाई से बढ़ा कर 31 अगस्त कर दिया है. जिन दिनों में संपूर्ण लॉकडाउन नहीं होगा उन दिनों आम लॉकडाउन के नियम लागू होंगे.

इधर, राज्य के गृह विभाग ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है कि आगामी 2 अगस्त (रविवार) और 9 अगस्त (रविवार) के संपूर्ण लॉकडाउन को वापस ले लिया है. अपने ट्वीट में गृह विभाग ने कहा है कि संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा के बाद राज्य सरकार को विभिन्न हलको से अपील की जा रही थी कि कुछ तिथियों में लॉकडाउन न करें क्योंकि वह उत्सव व महत्वपूर्ण सामुदायिक कार्यक्रमों के दिन हैं. लिहाजा राज्य सरकार दो व नौ अगस्त के लॉकडाउन को वापस ले रही है.

मुख्यमंत्री ने बताया कि 15 अगस्त तक कोविड टेस्ट को दैनिक 25 हजार करने का लक्ष्य है. राज्य में 15 अगस्त से 2 लाख एंटीजेन टेस्ट भी होंगे. राज्य में कोविड की स्थिति को प्रभावी तौर पर निंयत्रित करने के लिए समन्वय (Coordination) बेहद जरूरी है. इन टीमों की देखरेख में आइएएस अधिकारियों को नियुक्त किया गया है. इससे पहले 5 जिलों को भी उच्च जोखिम वाले जिले करार देते हुए आइएएस अधिकारियों की नजरदारी में रखा गया था. इसके तहत कोलकाता के नोडल ऑफिसर गृह सचिव आलापन बंद्योपाध्याय हैं. इसके अलावा हावड़ा के नोडल ऑफिसर राजेश पांडेय, उत्तर 24 परगना के मनोज पंत, दक्षिण 24 परगना के नवीन प्रकाश और हुगली के नोडल ऑफिसर मनीष जैन हैं.

प्रभावी समन्वय के लिए 8 टीमें गठित

अब 8 टीमें बनायी गयी है. इसके तहत कोविड इन्फ्रास्ट्रक्चर आग्यूमेंटेशन टीम का नेतृत्व मनोज पंत करेंगे. टेस्टिंग/लैब टीम का नेतृत्व विनोद कुमार करेंगे. उनका सहयोग शरद द्विवेदी करेंगे. सेफ होम टीम का नेतृत्व सौमित्र मोहन, डेडबॉडी डिस्पोजल एंड क्रिमेशन टीम का नेतृत्व विनोद कुमार करेंगे. कोविड मैनेजमेंट टीम की देखरेख शुभांजन दास करेंगे. टेलीसर्विसेस टीम (कोविड हेल्पलाइन) की देखरेख संजय बंसल करेंगे. डेटा मैनेजमेंट टीम का नेतृत्व सुमित गुप्ता और कोविड वरियर क्लब टीम का नेतृत्व महुआ बनर्जी करेंगी.

बनाया गया कोविड पेशेंट मैनेजमेंट सिस्टम

बेहद गंभीर मरीजों की नजरदारी के लिए कोविड पेशेंट मैनेजमेंट सिस्टम (सीपीएमएस) बनाया गया है. इसके तहत 1200- 1400 मरीजों की ऑनलाइन निगरानी होगी. यह स्वास्थ्य भवन के विशेषज्ञ करेंगे. इस पोर्टल पर हर गंभीर मरीज की रिपोर्ट आयेगी और चिकित्सा करने वाले चिकित्सकों को दिशा- निर्देश दिये जा सकेंगे.

संभावित कोविड मृतकों के शव सौंपे जायेंगे परिजनों को

मुख्यमंत्री ने बताया कि ऐसे कई मामले आते हैं कि मरीज की मौत उसके कोविड रिपोर्ट आने से पहले ही हो जाती है. ऐसी हालात में मृतक के परिजनों को कोविड रिपोर्ट का इंतजार करना पड़ता है. उसके बाद ही उन्हें शव मिल पाता है. अब आइसीएमआर की गाइडलाइन के तहत संभावित कोविड मौत के मामले में परिजनों को रिपोर्ट का इंतजार नहीं करना होगा और उन्हें शव कोविड प्रोटोकॉल के तहत सौंप दिया जायेगा.

एक दिन छोड़ कर 5 सितंबर से कक्षाएं शुरू करने की योजना

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि कोरोना की स्थिति के मद्देनजर 31 अगस्त, 2020 तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है. लिहाजा, तब तक स्कूल-कॉलेज बंद रहेंगे. लेकिन, स्थिति अगर अनुकूल रही, तो लक्ष्य है कि 5 सितंबर शिक्षक दिवस के दिन से एक दिन छोड़- छोड़कर कक्षाएं शुरू की जाये. लेकिन, यह सबकुछ कोरोना की स्थिति पर निर्भर करता है और इस संबंध में पहले घोषणा की जायेगी.

मुख्यमंत्री ने एक बार फिर बताया कि चौबीसों घंटे टेलीमेडिसिन सुविधा, एंबुलेंस परिसेवा, सरकारी अस्पतालों में भर्ती के लिए कोविड हेल्पलाइन- 1800 313 444 222 है. पीड़ित व्यक्ति इसका उपयोग कर सकते हैं.

Posted By : Samir ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें