1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal police arrested fake cbi officer subhodip banerjee from new delhi mtj

फर्जी सीबीआई अधिकारी शुभदीप बनर्जी को बंगाल पुलिस ने दिल्ली से किया गिरफ्तार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
फर्जी सीबीआई अधिकारी ने की है लाखों की ठगी
फर्जी सीबीआई अधिकारी ने की है लाखों की ठगी
Prabhat Khabar

Fake CBI Officer Arrested: कोलकाताः पश्चिम बंगाल पुलिस ने नयी दिल्ली से एक फर्जी सीबीआई (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) अधिकारी बनकर ठगी करने वाले शख्स को दिल्ली से गिरफ्तार किया है. उसकी पत्नी की शिकायत के आधार पर बंगाल पुलिस ने कार्रवाई की और रविवार को दिल्ली के एक होटल से उसे धर दबोचा.

बताया जा रहा है कि सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर शुभदीप बनर्जी ने लाखों रुपये की ठगी की है. इस सिलसिले में उसके खिलाफ हावड़ा जिला में एक प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी. आरोपी शुभदीप बनर्जी की पत्नी ने ठगी के आरोप में जगाछा थाने में शिकायत दर्ज करायी थी.

पारिवारिक सूत्रों ने बताया कि शुभदीप ने बैंगलोर में बीटेक की पढ़ाई की है. इसके बाद वह एक प्राइवेट कंपनी में काम करने लगा. इस कंपनी में काम करने के दौरान कुछ दिन पहले ही बिहार निवासी ललन से उसका संपर्क हुआ था, जिसके बाद से वह अंतरराष्ट्रीय ठगी गिरोह से जुड़ गया.

इस दौरान शुभदीप ने अलग-अलग राज्यों में कई लोगों को सरकारी नौकरी दिलाने का झंसा दिया और उनसे लाखों रुपये की ठगी की. इस ठगी गिरोह में अलग-अलग लोगों को अलग-अलग काम सौंपा गया था. शुभदीप बनर्जी गिरोह के झांसे में आने वाले लोगों का ऑनलाइन इंटरव्यू लिया करता था.

उसकी पत्नी ने बताया गया है कि उसने खुद को सीबीआई अधिकारी बताकर उससे पिछले साल प्रेम विवाह किया, लेकिन कुछ महीने बीतने के बाद उसकी पोल खुल गयी. अपने पति की असलियत का उसे पता चल गया. इसके बाद उसने शुभदीप को तलाक दे दिया और उसके खिलाफ जगाछा थाने में लिखित शिकायत दर्ज करा दी.

शुभदीप की पत्नी की शिकायत के आधार पर पुलिस ने उसका फोन ट्रैक करना शुरू किया, तो पता चला कि यह फर्जी सीबीआई अधिकारी इस वक्त दिल्ली में है. इसके बाद बंगाल पुलिस की एक टीम दिल्ली गयी और वहां के एक होटल से शुभदीप को गिरफ्तार कर लिया.

उल्लेखनीय है कि पश्चिम बंगाल में पिछले दिनों कई फर्जी अधिकारी पकड़े गये हैं. इनमें फर्जी आईएएस से लेकर फर्जी ईडी और फर्जी डीएसपी तक शामिल हैं. फर्जी आईएएस अधिकारी और कोलकाता नगर निगम का ज्वाइंट कमिश्नर बनकर फर्जी वैक्सीनेशन कैंप लगाने वाले देबांजन अधिकारी की वजह से ममता बनर्जी सरकार की खूब किरकिरी हो चुकी है.

फर्जी अधिकारियों के खिलाफ बंगाल पुलिस का अभियान तेज

इसके बाद से ही बंगाल में फर्जीवाड़ा करने वालों के खिलाफ अभियान तेज कर दिया गया है. किसी भी नीली बत्ती वाली की कार को रोककर जांच करने के आदेश दिये गये हैं. इसी क्रम में फर्जी अधिकारी बनकर लोगों से ठगी करने वाले कई लोग बंगाल के अलग-अलग इलाके से पकड़े गये हैं. एक फर्जी सीबीआई अधिकारी को भी कोलकाता से पिछले दिनों गिरफ्तार किया गया था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें