1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal news in hindi did the people of tmc illegally occupy the ramakrishna ashram maharaj accused avh

Bengal News: TMC के लोगों ने किया रामकृष्ण आश्रम पर अवैध कब्जा? महाराज ने लगाया आरोप

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bengal News
Bengal News
Twitter

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से सटे दक्षिण 24 परगना के सारिसा गांव में स्वामी विवेकानंद द्वारा स्थापित रामकृष्ण मिशन आश्रम की जमीन कब्जा करने का आरोप लगाया गया है. आश्रम की ओर से कहा है गया है कि सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस से जुड़े लोगों ने आश्रम की जमीन को कब्जा करने की कोशिश की और आश्रम के महाराज को गाली गलौज देकर जान से मारने की धमकी भी दी.

आश्रम के महाराज स्वामी सोमेश्वरानंद जी ने बताया कि टीएमसी के लोगों की कोशिश है कि रामकृष्ण मिशन की शिक्षण संस्था की जमीन पर जबरन कब्जा किया जाए. साल 1921 में ‌ सरिसा ग्राम में इस आश्रम की स्थापना ग्रामीण लोगों के विकास के लिए हुई.

बताया जा रहा है कि बीते दिनों एक टीएमसी के लोगों ने कुछ असामाजिक तत्वों के साथ मिलकर आश्रम के जमीन के कुछ हिस्से पर जबरन गैर कानूनी तरीके से कब्जा कर वहां घर मकान बनाने की कोशिश की. सूचना मिलते ही महाराज ने इस गैर कानूनी कार्य में बाधा दिया तो असामाजिक तत्वों ने अभद्र भाषा का उपयोग किया और महाराज जी को धक्का देकर हटा दिया. महाराज जी ने उन लोगों को आगे काम नहीं बढ़ाने की चेतावनी दी.

इस घटना के बाद महराज ने बताया कि बीते 100 साल से इस तरह की घटना कभी नहीं हुई थी तो आज ऐसी घटना क्यों हुई? इस बारे में महाराज ने बताया कि एक शताब्दी से गांव के लोगों की सेवा में लगे रामकृष्ण मिशन के आश्रम को वहां से हटाने की साजिश रची गई है. आश्रम द्वारा क्षेत्र में कई बड़े कार्य किए जाते हैं जिनमें छात्रों के लिए उच्च माध्यमिक विद्यालय, 1008 छात्र, एक छात्रावास जिसमें 210 छात्रों की व्यवस्था, बालिकाओं के लिए माध्यमिक स्कूल,805 छात्राएं, छात्रावास में 104 छात्राओं की व्यवस्था शामिल है.

इसके साथ ही दो शिक्षक शिक्षण महाविद्यालय 180 प्रशिक्षु, बालिकाओं के लिए तकनीकी विभाग, वोकेशनल ट्रेनिंग संस्थान 481 प्रशिक्षुणी, चार जूनियर बेसिक स्कूल 821 छात्र, कोचिंग सेंटर, पाठ चक्र और मूल्य बोध शिक्षा 316 छात्र, दो गदाधर प्रकल्प और एक विवेकानंद प्रकल्प अस्वस्थ बच्चों के लिए, विभिन्न गांव के जनसेवा के लिए चिकित्सा सेवा केंद्र, महिलाओं के लिए कम्युनिटी सेंटर, नियमित सहायता सेवा के तहत कपड़ा, कंबल, दूध, पुस्तक, लेखन सामग्री के अलावा आर्थिक सहायता की व्यवस्था लगातार की जाती है.

ग्राम वासियों के लिए इस तरह का सेवा यज्ञ निरंतर करते जा रहे रामकृष्ण मिशन के साधु-संन्यासी और ब्रह्मचारी गण अब इस समुदाय के लोगों को खटक ने लगे हैं. महाराज ने बताया कि बीते 100 साल से जो कभी नहीं हुआ उस तरह के काम को करने के लिए असामाजिक तत्वों ने एकजुटता की है और सत्ता का संरक्षण प्राप्त है. उन्होंने कहा कि अब जनमानस को सोचना होगा कि वे रामकृष्ण मिशन के इस तरह के ग्रामीण सेवा कार्य के समर्थन में खड़े होंगे कि नहीं. बीते दिनों इस तरह का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था लेकिन किसी ने इसे महत्व नहीं दिया.

Posted by: Avinish kumar mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें