1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal latest news update nia officers interrogated chinese spy in kolkata shocking secrets revealed by han junwei mtj

चीनी जासूस हान जुनवे ने कोलकाता में एनआइए के सामने उगले कई चौंकाने वाले राज

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चीनी जासूस हान जुनवे
चीनी जासूस हान जुनवे
Prabhat Khabar

कोलकाताः दक्षिण बंगाल की बांग्लादेश से सटी सीमा क्षेत्र से सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने सीमा चौकी मालिक सुल्तानपुर इलाके में एक चीनी नागरिक को गिरफ्तार किया था. उसे उस वक्त गिरफ्तार किया गया, जब वह अवैध तरीके से भारत–बांग्लादेश की अंतरराष्ट्रीय सीमा को पार करके भारतीय सीमा में घुस आया था.

बीएसएफ के अनुसार, हान जुनवे (36) नामक घुसपैठिया चीन के हुबेई प्रांत का रहने वाला है. आरोपी से शुक्रवार को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) के अधिकारियों ने भी पूछताछ की. उससे देश में आने का कारण और उसके साथियों के बारे में भी पूछा गया.

बीएसएफ की पूछताछ में आरोपी ने बताया था कि वह बिजनेस वीजा पर दो जून 2021 को ढाका पहुुंचा था. वहां अपने एक चीनी दोस्त के पास रहा और फिर आठ जून को बांग्लादेश के जिला छपाई नवाबगंज में आया. वहां एक होटल में ठहरा. 10 जून को उसे भारतीय सीमा के अंदर प्रवेश करने के दौरान सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पकड़ लिया.

पूछताछ के दौरान हान ने बताया कि इससे पहले भी वह कई बार भारत आ चुका है. वह 2010 में हैदराबाद और 2019 के बाद तीन बार दिल्ली, गुरुग्राम में आ चुका है. उसने कहा है कि गुरुग्राम में उसका एक होटल है, जिसका नाम 'स्टार स्प्रिंग' है. इस होटल में उसके कुछ चीनी साथी हैं. बाकी भारतीय लोगों को नौकरी पर रखा गया है.

सिम की तस्करी करने वाला साथी यूपी में गिरफ्तार

हान ने बताया कि जब वह हुबेई (चीन) चला गया था, तो उसका एक बिजनेस पार्टनर सन जियांग उसे 10–15 भारतीय सिम कुछ दिनों के अंतराल पर भेजता रहता था. कुछ दिन पहले उसके बिजनेस पार्टनर को एटीएस लखनऊ ने पकड़ लिया. हान ने बताया कि उसके दोस्त ने ही उसके और उसकी पत्नी के बारे में एटीएस लखनऊ को सारी जानकारी दे दी. एटीएस लखनऊ ने उनके विरुद्ध केस दर्ज कर लिया.

चूंकि भारत में हान के खिलाफ केस दर्ज होने गया था, चीन में उसे भारतीय वीजा नहीं मिला. इसलिए उसने भारत आने के लिए बांग्लादेश तथा नेपाल का वीजा हासिल किया. आरोपी के कब्जे से एक लैपटॉप, दो मोबाइल, एक बांग्लादेश का सिम, एक भारतीय सिम, दो चाइनीज सिम, दो पेन ड्राइव, तीन बैटरी, दो स्मॉल टॉर्च, पांच मनी ट्रांजैक्शन मशीन और दो एटीएम बरामद हुए‌ हैं.

1300 सिम की तस्करी की

चीन के नागरिक हान ने अधिकारियों को बताया कि उसने और उसके साथियों ने करीब 1,300 भारतीय सिम कार्ड की अब तक तस्करी की है. हान जुनवे (35) को आगे की कानूनी कार्यवाही के लिए पश्चिम बंगाल पुलिस के हवाले कर दिया है. उसे बीएसएफ के गश्ती दल ने बृहस्पतिवार को राज्य के मालदा जिला से गिरफ्तार किया था.

बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर, जिसका मुख्यालय कोलकाता में है, ने एक बयान में कहा कि जुनवे एक वांछित अपराधी रहा है और उससे पूछताछ में हैरान करने वाला तथ्य सामने आया है कि वह फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल कर अब तक करीब 1,300 भारतीय सिमकार्ड यहां से चीन ले जा चुका है.

बयान के अनुसार, जुनवे अपने साथियों की मदद से अंत:वस्त्रों में सिम छिपाता था और उन्हें चीन भेजता था. उनका मकसद सिम का इस्तेमाल कर लोगों को धोखा देना तथा उन्हें ठगकर पैसे ऐंठना था. उसकी गिरफ्तारी बीएसएफ के लिए बड़ी उपलब्धि है.

बैंक अकाउंट को करते थे हैक

आरोप हैं कि इन सिम कार्ड का इस्तेमाल बैंक खातों को हैक करने और वित्तीय धोखाधड़ी के लिए किया जाता है. चीनी नागरिक ने जांचकर्ताओं को बताया कि वह गलती से भारत में आ गया. वह लखनऊ एटीएस के समक्ष आत्मसमर्पण करना चाहता था. उसने कहा कि वह ई-कॉमर्स के व्यापार के संबंध में पहले भी भारत आ चुका है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें