1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal latest news announcement from jadavpur university the department be open two days a week know

जादवपुर यूनिवर्सिटी की ओर से घोषणा, सप्ताह में दो दिन खुले रहेंगे विभाग, जानें

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
जादवपुर यूनिवर्सिटी की ओर से घोषणा, सप्ताह में दो दिन खुले रहेंगे विभाग, जानें
जादवपुर यूनिवर्सिटी की ओर से घोषणा, सप्ताह में दो दिन खुले रहेंगे विभाग, जानें
Prabhat khabar

कोलकाता: जादवपुर यूनिवर्सिटी (जेयू) की ओर से घोषणा की गयी है कि कैंपस के सभी विभाग सप्ताह में केवल दो दिन ही खुले रहेंगे. जो विभाग अथवा केंद्र खुले रहेंगे, उसमें भी बहुत कम संख्या में कर्मचारी उपस्थित रहेंगे. कोविड संक्रमण की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए यह फैसला किया गया है. जादवपुर यूनिवर्सिटी की रजिस्ट्रार स्नेहामंजु बसु ने एक अधिसूचना जारी कर बताया कि कैंपस में कार्यालय मात्र दो दिन ही खुले रहेंगे.

आपातकालीन स्थिति में सप्ताह में तीन दिन खोले जा सकते हैं, अन्यथा केवल दो दिन ही कार्यालय खुले रहेंगे. संस्थानों को खुला रखने संबंधित केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार ही जरूरी कार्यालय खोले गये थे. इसमें गैर शिक्षा कर्मियों को सप्ताह में पांच दिन हाजिर होकर रिपोर्ट देने के लिए कहा गया था. शिक्षकों का एक समुदाय कैंपस में नियमित रूप से आ रहा था, जिससे कि वे डिजिटल प्लेटफाॅर्म पर क्लास लेने के लिए वर्चुअल क्लास रूम सुविधाओं का उपयोग कर सकें.

विभागों से जुड़े प्रशासनिक अधिकारियों को भी कार्यालय में हाजिर होना पड़ता था, लेकिन अब स्थिति फिर से बदली गयी है. कैंपस में क्लास गत वर्ष से ही बंद हैं, लेकिन यहां के रिसर्च स्कॉलर लैब में आकर काम कर रहे थे. उनकी सहायता के लिए शिक्षकों व कर्मचारियों को भी नियमित आना पड़ता था. जनवरी में जादवपुर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने गैर शिक्षा कर्मियों व अधिकारियों की शत-प्रतिशत उपस्थिति दर्ज की थी. जादवपुर यूनिवर्सिटी में नियमित आनेवाले अधिकारियों व कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद यह फैसला लिया गया कि न तो प्रतिदिन कार्यालय खुला रहेगा और न ही सभी कर्मचारी यहां हाजिर रहेंगे.

सरकार की गाइडलाइंस के अनुसार कैंपस में किसी भी विभाग में प्रशासनिक काम के लिए आधे यानी कि केवल 50 प्रतिशत कर्मचारी ही हाजिर होंगे. इसी के अनुसार विभागाध्यक्षों को रोस्टर बनाने के लिए कहा गया है. कैंपस में रिसर्च स्कॉलरों व अन्य विद्यार्थियों को फिलहाल कैंपस में आने की अनुमति नहीं है. जारी किये गये नोटिस में कहा गया है कि अगर आपातकालीन स्थिति में कैंपस में आना पड़े, तो रिसर्च स्कॉलर को रजिस्ट्रार अथवा विभागाध्यक्ष से विशेष अनुमति लेनी होगी. सप्ताह में दो बार पूरे कैंपस को सैनिटाइज्ड किया जायेगा.

गौरतलब है कि जादवपुर यूनिवर्सिटी के प्रो वाइस चांसलर प्रोफेसर चिरंजीव भट्टाचार्य भी कोरोना से संक्रमित होने पर होम आइसोलेशन में हैं. कैंपस में फिजिकली या ऑन कैंपस क्लास गत वर्ष मार्च से ही बंद है. केवल जरूरी कामकाज के लिए सप्ताह में दो बार कार्यालय खुला रहेगा, जिसमें न्यूनतम कर्मचारी रहेंगे. छात्र, शिक्षक व अन्य स्टाफ के लिए यह जरूरी सूचना जारी की गयी है.

Posted By: Aditi Singh

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें