1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election last phase violence update tmc candidate jafikul islam accused of killing cpim supporter in murshidabad district domkal abk

माकपा कार्यकर्ताओं पर TMC कैंडिडेट जफिकुल इस्लाम ने चढ़ाई गाड़ी ! अस्पताल में एक की मौत, इलाके में तनाव

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
माकपा कार्यकर्ताओं पर TMC कैंडिडेट जफिकुल इस्लाम ने चढ़ाई गाड़ी !
माकपा कार्यकर्ताओं पर TMC कैंडिडेट जफिकुल इस्लाम ने चढ़ाई गाड़ी !
प्रभात खबर ग्राफिक्स

Bengal Election 2021: पश्चिम बंगाल में अंतिम चरण की वोटिंग गुरुवार सुबह 7 बजे से शुरू हो गई है. इसके पहले मुर्शिदाबाद में माकपा के एक कार्यकर्ता को मौत के घाट उतार दिया गया. जबकि, बीरभूम जिले के एक इलाके में रात भर बमबाजी होती रही. बीरभूम के जिला तृणमूल अध्यक्ष अणुब्रत मंडल को चुनाव आयोग के निर्देशानुसार उनके घर पर ही नजरबंद किया गया है. इधर मुर्शिदाबाद के डोमकल में तृणमूल उम्मीदवार की गाड़ी से टक्कर लगने के बाद माकपा के दो कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए थे. हादसे के बाद उन्हें मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया. इनमें से एक की मौत हो गई.

माकपा कार्यकर्ता पर टीएमसी कैंडिडेट ने चढ़ाई गाड़ी...

कार्यकर्ता की मौत से आहत माकपा का कहना है कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार प्रचार बंद हो गया है. लेकिन, नियमों को दरकिनार करके तृणमूल उम्मीदवार जफिकुल इस्लाम क्षेत्र में रात 11 बजे सभा कर रहे थे. इसी का विरोध किया गया तो उन्होंने अपनी गाड़ी से माकपा के दो कार्यकर्ताओं को कुचल दिया. इस हादसे में गंभीर रूप से घायल अब्दुल कादिर ने मुर्शिदाबाद मेडिकल कॉलेज अस्पताल में दम तोड़ा है. घटना के बाद पूरे क्षेत्र में तनाव का माहौल है. एक तरफ वोटिंग हो रही है तो दूसरी ओर अतिरिक्त संख्या में पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है.

काशीपुर-बेलगछिया में वोटिंग के दौरान हंगामा

बर्दवान के म्यूरेश्वर में बीजेपी के एजेंट को मतदान केंद्र के अंदर घुसने से रोक दिया गया था. आरोप है कि बड़ी संख्या में तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता एकत्रित हो गए थे, जिसकी वजह से तनावपूर्ण हालात बने हुए थे. इधर काशीपुर-बेलगछिया जहां से मिथुन चक्रवर्ती मतदाता हैं, वहां भारतीय जनता पार्टी के पोलिंग एजेंट को जेके मित्रा रोड में बने मतदान केंद्र में बैठने से रोका गया था. सूचना मिलने के बाद बीजेपी उम्मीदवार शिवाजी सिंह रॉय मौके पर पहुंचे और हंगामा कर रहे तृणमूल कार्यकर्ताओं को दौड़ाते हुए घर तक ले गए. बाद में बीजेपी एजेंट को बैठने की अनुमति मिल गई. यह भी आरोप लगाया गया कि बीजेपी एजेंट का दस्तावेज भी फाड़ दिया गया था.

बीरभूम जिले में हिंसा के साथ चुनाव की शुरुआत

बीरभूम जिले में चुनाव के साथ ही हिंसा की शुरुआत हो गई है. नानूर के बलूटी गांव में भाजपा कार्यकर्ताओं को बंदूक की बट से मारा पीटा गया है. आरोप है कि टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने गांव वालों को वोट करने के लिए निकलने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी है. दूसरी तरफ बेलियाघाटा में भी बीजेपी के एजेंट के साथ मारपीट की गई है. गुरदास कॉलेज के मतदान केंद्र पर सुबह के समय तनाव बना हुआ था. इसके अलावा बीरभूम जिले के नानूर में ही बेजरा गांव में रात भर बमबारी हुई है. 112 नंबर मतदान केंद्र पर टीएसी के पोलिंग एजेंट देवदास सरकार के घर हमले का आरोप भाजपा कार्यकर्ताओं पर लगा है. हालांकि, भाजपा का आरोप है कि ऐसा कुछ नहीं हुआ है. अगर कहीं भी हिंसा हुई है तो तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने किया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें