1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 tmcs first phase candidate will play magic in jhargram and medinipur assembly seats in this election

Bengal Election 2021: झारग्राम और मेदिनीपुर सीट को TMC के लिए रौशन कर पाएंगे यह 'फिल्मी सितारे'!

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 झारग्राम और मेदिनीपुर सीट को टीएमसी के लिए रौशन कर पाएंगे यह सितारे
झारग्राम और मेदिनीपुर सीट को टीएमसी के लिए रौशन कर पाएंगे यह सितारे
Prabhat Khabar

Bengal Election 2021: बंगाल विधानसभा चुनाव के पहले चरण का चुनाव 27 मार्च को होगा. 5 जिलों पश्चिम मेदिनीपुर, पूर्व मेदिनीपुर, बांकुड़ा, पुरुलिया और झारग्राम की 30 सीटों पर 191 कैंडिडेट्स चुनाव लड़ने वाले हैं. 191 कैंडिडेट्स में से टीएमसी की दो स्टार भी अपनी - अपनी किस्मत आजमाने के लिए चुनाव मैदान में उतरी हैं. वो दो स्टार हैं जून मालिया और बीरबाहा हांसदा.

टीएमसी ने टाॅलीवुड स्टार जून मालिया मेदिनीपुर विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में है तो झारग्राम से संथाली भाषा की एक्सट्रेस बीरबाहा हांसदा को उतारा गया है. झारग्राम और मेदिनीपुर विधानसभा सीट टीएमसी के लिए बेहद खास सीट भी मानी जा रही है.बता दें कि जून मालिया बांग्ला फिल्मों की जानी- मानी हस्ती है तो वहीं बीरबाहा ना सिर्फ ट्राइबल जाति यानी संथाली भाषा के फिल्मों की अभिनेत्री हैं बल्कि वो हिंदी और बांग्ला फिल्मों में भी काम कर चुकी है.

जून मालिया का राजनीति में ये पहला कदम है वहीं बीरबाहा हांसदा राजनीति परिवार की बेटी हैं. वो झारखंडा पार्टी (नरेन) के संस्थापक नरेन हांसदा और पाॅलिटिशियन चुनीबाला हांसदा की बेटी है. बीरबाहा हांसदा 2019 के लोकसभा चुनाव में झारखंडा पार्टी (नरेन) की तरफ से झारग्राम लोकसभा सीट के लिए चुनाव में खड़ी हो चुकी है. हालांकि उस दौरान उन्हें पराजित होना पड़ा था.

इस बार बीरबाहा हांसदा का मुकाबला बीजेपी के सुखमय सत्पथी और संयुक्त मोर्चा के मधुजा सेन राय के साथ है. वहीं मेदिनीपुर से खड़ी जून मालिया का मुकाबला लेफ्ट के तरुण कुमार घोष और बीजेपी के शमित कुमार दास के साथ है. तरुण कुमार घोष के पिता कमाख्या घोष विधायक रह चुके हैं. वहीं बीजेपी के शमित कुमार दास जिले के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं.

झारग्राम और मेदिनीपुर के 2019 के लोकसभा चुनाव के परिणाम

2019 में लोकसभा चुनाव में टीएमसी को झारग्राम और मेदिनीपुर विधानसभा सीट से करारी हार मिली थी. झारग्राम में बीजेपी को 83812 वोट मिली थी जबकि टीएमसी को 82169 वोट मिली थी. वहीं मेदिनीपुर सीट पर भी बीजेपी की लीड थी. बीजेपी को 110372 वोट मिली थी जबकि टीएमसी को 93731 वोट मिली थी. झारग्राम और मेदिनीपुर लोकसभा सीट पर बीजेपी का ही कब्जा है.

लोकसभा चुनाव के परिणाम का असर विधानसभा चुनाव पर पड़ता है या नहीं, यह अभी टीएमसी और बीजेपी दोनों के लिए बड़ी चुनौती है. इस बार बीजेपी अपने लोकसभा चुनाव के रिजल्ट को दोहराने के लिए उतरी है तो वहीं टीएमसी अपनी विधानसभा सीट पर कब्जा बरकरार रखने के लिए मैदान में है.

2016 में झारग्राम और मेदिनीपुर विधानसभा सीट के परिणाम 

2016 में झारग्राम विधानसभा सीट पर टीएमसी के सुकुमार हांसदा जीते थे. उन्होंने झारखंड पार्टी (नरेन) के चुनीबाला हांसदा को 55228 वोटों के अंतर से पराजित किये थे. वहीं मेदिनीपुर विधानसभा सीट पर भी टीएमसी के मृगेंद्रनाथ माइति का कब्जा था. उन्होंने लेफ्ट के संतोष राणा को 32987 वोटों के अंतर से हराया था.

Posted by : Babita Mali

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें