1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 malda north lok sabha seat won by bjp from habibpur and gajol assembly constituency bjp do magic or congress and left will win in assembly elections

हबीबपुर और गाजोल से BJP ने जीती थी मालदा उत्तर लोकसभा सीट, विधानसभा चुनाव में चलेगा जादू या संयुक्त मोर्चा मारेगा बाजी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
हबीबपुर और गाजोल से BJP ने जीती थी मालदा उत्तर लोकसभा सीट
हबीबपुर और गाजोल से BJP ने जीती थी मालदा उत्तर लोकसभा सीट
प्रभात खबर

बंगाल चुनाव 2021: बंगाल में छह चरणों की वोटिंग के बाद दो चरणों की वोटिंग बाकी है. 26 अप्रैल को मालदा, दक्षिण दिनाजपुर, मुर्शिदाबाद, पश्चिम बर्दवान और साउथ कोलकाता में सातवें चरण में वोटिंग है. मालदा जिले के मालदा उत्तर लोकसभा सीट की 6 विधानसभा सीट हबीबपुर, गाजोल, चांचल, हरिश्चंद्रपुर, मालतीपुर और रतुआ में वोटिंग होनी है. इन सब में से हबीबपुर और गाजोल विधानसभा सीट काफी महत्वपूर्ण सीट मानी जा रही है. इन दो सीट को बीजेपी काे आॅक्सीजन देने वाली सीट कहने में भी दोराय नहीं है. दरअसल, यहीं दो सीटें हैं जिनकी बदौलत बीजेपी ने 2019 की लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के गढ़ मालदा उत्तर लोकसभा सीट पर कब्जा करने में सफल हो पायी थी.बीजेपी ने टीएमसी और कांग्रेस के मंसूबों पर पानी फेरकर यहां अपना परचम लहराया.

ऐसे बदली थी इस लोकसभा और विधानसभा सीट की समीकरण

मालदा उत्तर कांग्रेस के गढ़ पर कब्जा करने की टीएमसी ने कोशिश की थी. दरअसल, कांग्रेस सांसद मौसम बेनजीर नूर 2009 से 2014 तक इस सीट से कांग्रेस सांसद रही थी. 2019 लोकसभा चुनाव से पहले मौसम टीएमसी में शामिल हो गयी थी. वहीं इस दौरान हबीबपुर विधानसभा सीट पर 2006 से 2016 तक लेफ्ट को जीत दिलाने वाले खगेन मुर्मू ने भी पार्टी बदल ली और बीजेपी का झंडा थाम लिया. 2019 में बीजेपी ने लोकसभा सीट से खगेन मुर्मू को टिकट दिया था तो वहीं टीएमसी ने मौसम बेनजीर नूर पर दांव खेला था. इस दौरान खगेन मुर्मू ने मौसम बेनजीर नूर को हराकर इस सीट पर जीत हासिल की थी.

हबीबपुर और गाजोल में बीजेपी को मिले थे सबसे ज्यादा वोट

2019 में मालदा उत्तर लोकसभा सीट के तहत हबीबपुर और गाजोल में बीजेपी को टीएमसी की तुलना में सबसे ज्यादा वोट मिली थी. हबीबपुर से खगेन मूर्मु को 1,07,630 वोट मिले थे जबकि टीएमसी की मौसम बेनजीर नूर को 53,794 वोट ही मिली थी. वहीं गाजोल से बीजेपी के खगेन मूर्मु को 1,08,351 वोट मिले थे जबकि मौसम बेनजीर नूर को 67,180 वोट पर ही संतुष्ट रहना पड़ा था. हालांकि 7 सीटों में से इन दो सीटों पर ही बीजेपी को वोट इतनी मिली थी कि बीजेपी ने टीएमसी के नूर का सफाया कर दिया था. इस बार विधानसभा चुनाव में बीजेपी अपनी इस जीत को बरकरार रख पायेगी या कांग्रेस और लेफ्ट संयुक्त मोर्चा अपना गढ़ बचा लेगी. टीएमसी भी इन सीटों पर कुछ करिश्मा दिखा सकती है.

2016 में हबीबपुर और गाजोल सीट के परिणाम पर एक नजर

2016 में हबीबपुर विधानसभा सीट से लेफ्ट के खगेन मुर्मू ने जीत हासिल की थी. खगेन ने टीएमसी के अमल किस्कू को 2512 वोटों से हराया था. लेफ्ट के खगेन मुर्मू अभी बीजेपी में है. गाजोल में लेफ्ट कैंडिडेट दिपाली विश्वास को 85949 वोट मिली थी. दीपाली ने टीएमसी के सुशील चंद्र राॅय को 20602 वोटों से पराजित किया था. दीपाली लेफ्ट से पहले टीएमसी में गयी थी. अभी वो बीजेपी में शामिल है.

इस बार इन दो सीटों पर चुनाव लड़ रहे कैंडिडेट्स

हबीबपुर विधानसभा सीट से बीजेपी ने जोएल मुर्मू, टीएमसी ने प्रदीप बास्के और संयुक्त मोर्चा ने ठाकुर टुडू को चुनावी मैदान में उतारा है. जोएल को 2019 में उपचुनाव के बाद यहां का विधायक बनाया गया था. दरअसल, 2016 में खगेन मूर्मु विधायक बने थे. बीजेपी ने उन्हें 2019 में लोसकसभा सांसद का टिकट दिया था जिसके लिए उन्होंने इस सीट को छोड़ा था. वहीं गाजोल से बीजेपी ने चिन्मय देव बर्मन, टीएमसी ने बासंती बर्मन और संयुक्त मोर्चा ने अरूण विश्वास को टिकट दिया है.

Posted by : Babita Mali

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें