1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 cm mamata banerjee opens her secret on not giving ticket to two time tmc mla debashree roy from raidighi in bengal

Bengal Election 2021: TMC विधायक देबश्री राय को टिकट नहीं देने पर ममता बनर्जी ने तोड़ी चुप्पी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
TMC विधायक देबश्री राय को टिकट नहीं देने पर ममता बनर्जी ने तोड़ी चुप्पी
TMC विधायक देबश्री राय को टिकट नहीं देने पर ममता बनर्जी ने तोड़ी चुप्पी
social media

Bengal Election 2021: बंगाल विधानसभा चुनाव शुरू से ही चर्चा में है. देश के 5 राज्यों में चुनाव हो रही है लेकिन सबसे ज्यादा चर्चा बंगाल चुनाव की ही हो रही है. चुनाव से पहले टिकट को लेकर टीएमसी और बीजेपी कैंडिडेट्स की नाराजगी सभी को ज्ञात है. टीएमसी ने कई सीटिंग विधायकों का पत्ता काटकर नये चेहरों को मौका दिया है. इन सीटिंग विधायक में टाॅलीवुड एक्ट्रेस और दो बार की रायदीघी से टीएमसी विधायक रह चुकी देबश्री राय भी थी.आज रायदीघी में चुनाव प्रचार करने आयी सीएम और टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने टिकट नहीं देने पर अपनी चुप्पी तोड़ी.

ममता बनर्जी ने कहा देबश्री राय के खिलाफ शिकायतें मिलने पर ही उन्हें इस बार टिकट नहीं दिया गया. रायदीघी में जनसभा को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा देबश्री राय के खिलाफ रायदीघी के लोगों में असंतोष था. ये सब बातें मुझ तक पहुंची थी. इसलिए, इस बार उन्हें टिकट नहीं दिया गया. उन्होंने कहा एक जनप्रतिनिधि से इलाके के लोगों की कई आशाएं होती है. देबश्री राय से भी यहां की जनता को कुछ आशाएं थी लेकिन उन्होंने किसी की इच्छा को पूर्ण नहीं किया.

इस वजह से उनके खिलाफ इलाके के लोगों में असंतोष था. उनके खिलाफ भ्रष्टाचार की भी आरोप मिल रही थी. यहां तक की प्रशासनिक मीटिंग में भी राज्य की योजनाओं को लेकर भी देबश्री राय से कभी संतोषजनक जवाब नहीं मिला. उनकी परफॉर्मेंस को लेकर पार्टी समर्थकों में भी असंतोष था. इन कारणों से ही उन्हें कैंडिडेट नहीं बनाया गया. इस सीट से टीएमसी ने आलोक जलदाता को कैंडिडेट बनाया है.

बता दें कि टिकट नहीं मिलने पर देबश्री राय ने अपनी नाराजगी जतायी थी. इसके बाद उन्होंने पार्टी छोड़ दी. इसके बाद उन्होंने बीजेपी से भी संपर्क किया था, हालांकि अभी तक बीजेपी में उनका जाना तय नहीं हुआ है. देबश्री राय 2011 में पहली बार रायदीघी विधानसभा से खड़ी हुई थी. 2011 और 2016 में दो बार उन्होंने इस सीट से जीत हासिल की थी. हालांकि उनके विधायक बनने के बाद से ही उन पर आरोप लग रहे थे कि वो अपने विधानसभा क्षेत्र में नहीं जाती है.

उस समय चर्चा थी दक्षिण 24 परगना जिले के दायित्व में रहे शोभन चटर्जी के साथ उनके अच्छे संबंध है. हालांकि वो ममता बनर्जी की फेवरेट लिस्ट में भी थी. इस वजह से उन्हें 2016 में भी टिकट दिया गया था और उन्होंने जीत हासिल की थी. मगर, इस बार उन्हें दरकिनार कर दिया गया. वहीं आज इस सभा से ही ममता बनर्जी ने कहा मुझे पूरा यकीन है इस बार के चुनाव में इस सीट से टीएमसी की ही जीत होगी.

Posted by : Babita Mali

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें