1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 cast votes suvendu adhikari relative who hospitalised tmc makes serious allegations on central force in durgapur east bengal

Suvendu Adhikari के रिश्तेदार अस्पताल में, तो किसने डाले वोट? TMC का सेंट्रल फोर्स पर गंभीर आरोप

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
शुभेंदु के रिश्तेदार अस्पताल में तो किसने डाले वोट, TMC का सेंट्रल फोर्स पर गंभीर आरोप
शुभेंदु के रिश्तेदार अस्पताल में तो किसने डाले वोट, TMC का सेंट्रल फोर्स पर गंभीर आरोप
prabhat khabar

दुर्गापुर (अविनाश यादव/ नीरज): दुर्गापुर में सातवें चरण की वोटिंग जारी है. वोटिंग के बीच छप्पा वोट डालने का मामला भी सामने आ रहा है. छप्पा वोट को लेकर मतदाताओं में नाराजगी देखी जा रही हैं. वोट डालने के लिए जब मतदाता बूथ पर पहुंच रहे हैं, तब पता चल रहा है, उनका वोट तो पहले ही डाला जा चुका है. यहां तक की नंदीग्राम से बीजेपी कैंडिडेट शुभेंदु अधिकारी के रिश्तेदार अस्पताल में इलाजरत है लेकिन उनका वोट डल चुका हैं. घटना दुर्गापुर पूर्व विधानसभा सीट की बतायी जा रही हैं. घटना को लेकर टीएमसी ने सेंट्रल फोर्स पर गंभीर आरोप लगाये हैं.

जानकारी के अनुसार, दुर्गापुर पूर्व विधानसभा सीट के अंतर्गत इस्पात नगर की मारकोनी सेक्टर स्थित विद्यासागर प्राथमिक विद्यालय में बूथ नंबर 78 और 69 में फर्जी और छप्पा वोट डालने का आरोप सामने आया है. इस घटना को लेकर वोटर्स ने जमकर हंगामा किया. वहीं टीएमसी ने घटना को लेकर आरोप लगाया, सेंट्रल फोर्स के जवान छप्पा वोट डलवाने में बीजेपी की मदद कर रहे हैं.

इस दौरान टीएमसी ने यह भी आरोप लगाया, नंदीग्राम से बीजेपी कैंडिडेट शुभेंदु अधिकारी के भाई के ससुर परेश मुखर्जी और सास माया मुखर्जी दोनों ही अस्पताल में भर्ती है, लेकिन दोनों का वोट डाला जा चुका है. अब सवाल उठ रहा है, उनके वोट किसने डाले हैं? वहीं स्टील टाउनशिप की रहने वाली मतदाता सुमिता भौमिक जब वोट डालने पहुंची तो उसके होश ही उड़ गये.

सुमिता ने बताया सुबह करीब 10 बजे अपना वोट डालने विद्यासागर स्कूल पहुंची तब उसे पता चला कि किसी ने दो घंटे पहले ही उसका वोट डाल दिया है. इसके अलावे कई और मतदातों ने फर्जी और छप्पा वोट डालने की शिकायत की है. सभी मतदाताओं का आरोप है, सुरक्षा की चाक चौबन्द व्यवस्था होने के बाद भी किस प्रकार उनका वोट किसी और ने डाल दिया.

मतदाताओं ने इसके लिए सीधे तौर पर सेंट्रल फोर्स के जवानों को जिम्मेदार ठहराया. इसके बाद मतदाता हंगामा मचाने लगे. वहीं सूचना मिलते ही काफी संख्या में सेंट्रल फोर्स के जवान मतदान केंद्र पर पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया. दूसरी तरफ, टीएमसी ने इस घटना को लेकर सेंट्रल फोर्स पर बीजेपी के इशारे पर काम करने का आरोप लगाया. वहीं बीजेपी ने इन आरोपों को अस्वीकार किया है.

Posted by : Babita Mali

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें