1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 burdwans oldest voter voted with postal ballot said my democratic right to vote in bengal

Bengal Election 2021: बर्दवान के सबसे बुजुर्ग वोटर ने पोस्टल बैलेट से किया मतदान, कहा- वोट देना मेरा लोकतांत्रिक अधिकार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 बर्दवान के सबसे बुजुर्ग वोटर ने पोस्टल बैलेट से किया मतदान, कहा- वोट देना मेरा लोकतांत्रिक अधिकार
बर्दवान के सबसे बुजुर्ग वोटर ने पोस्टल बैलेट से किया मतदान, कहा- वोट देना मेरा लोकतांत्रिक अधिकार
prabhat khabar

निमाई दास: बंगाल चुनाव के चार चरणों की वोटिंग के बाद बाकी बचे चार चरणों पर सभी की नजरें हैं. पांचवें चरण की वोटिंग 17 अप्रैल को है. खास बात यह है कि वोटिंग के दौरान एक से बढ़कर एक तसवीरें सामने आती हैं, जिन्हें देखकर लोकतंत्र में हमारा भरोसा और भी मजबूत हो जाता है. अब, पश्चिम बर्दवान जिला के सबसे बुजुर्ग मतदाता की वीडियो सामने आई है. इतनी उम्र के बावजूद उन्होंने वो मतदान करना नहीं भूले.पश्चिमी बर्दवान जिले में सातवें चरण में वोटिंग होनी हैं. आज पोइला बैशाख पर पश्चिमी बर्दवान के सबसे बुजुर्ग वोटर ने अपने अधिकार का प्रयोग किया और पोस्टल बैलेट के जरिए मतदाना किया. उस बुजुर्ग मतदाता का नाम हराधन साहा है. उनकी उम्र 111 वर्ष हैं लेकिन वोटर आईडी कार्ड के मुताबिक उनकी उम्र 102 वर्ष हैं. हराधन साहा कांकसा के सरस्वतीगंज के रहने वाले हैं.

पोस्टल बैलेट से वोट देने के बाद हराधन साहा ने कहा, वोट देना हमारा लोकतांत्रिक अधिकार हैं. उन्होंने अपना वोट देकर अपनी भागीदारी जाहिर की. बता दें कि हराधन साहा, उन सभी वोटर्स के लिए प्रेरणा है जो वोट देना नहीं चाहते हैं. कुछ लोगों की मानें तो वोट देना यानी समय बर्बाद करना हैं तो कुछ लोगों के अनुसार कौन सी सरकार आकर आम जनता का भला करेगी. हराधन साहा के उत्साह को देखकर आम वोटर्स भी वोट देने के लिए आगे आयेंगे.

हराधन साहा के बारे में बताया जाता है उनके घर से मतदान केंद्र 400 मीटर दूरी पर हैं. वो हमेशा ही 400 मीटर की दूरी तय कर वोट देने मतदान केंद्र पर ही जाते थे. 2019 में लोसकभा चुनाव में उनके लिए गाड़ी की व्यवस्था करने का आश्वासन दिया गया था लेकिन वो खुद अपने पोते के साथ पैदल ही मतदान केंद्र पर पहुंचे थे. अभी उम्र बढ़ने के साथ ही उन्हें कान से कम सुनायी देता हैं और आंख से भी कम दिखता हैं. इसके साथ ही कोरोना महामारी फैली हुई हैं.

इस बार विधानसभा चुनाव में बुजुर्ग मतदाताओं के लिये चुनाव आयोग ने घर बैठ कर पोस्टल बैलट के माध्यम से मतदान करने की व्यवस्था की है. इस बाबत हराधन साहा की उम्र को देखते हुए उनके लिए पोस्टल बैलेट की व्यवस्था की गयी. आज पोइला बैशाख के दिन सेंट्रल फोर्स के जवानों की उपस्थिति में हाराधन साहा ने बैलेट के जरिए अपना वोट डाला. वो इस जिले के सबसे बुजुर्ग मतदाता बताये जा रहे हैं. बता दें कि पश्चिमी बर्दवान सहित 5 जिलों की 36 सीटों पर सातवें चरण में 26 अप्रैल को वोटिंग होनी हैं. जिसका रिजल्ट 2 मई को आयेगा.

Posted by : Babita Mali

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें