1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal election 2021 64 candidates in 8th phase election facing criminal cases adr report reveals mtj

बंगाल चुनाव 2021: आठवें चरण में चुनाव लड़ रहे 283 में 64 उम्मीदवारों पर दर्ज हैं क्रिमिनल केस

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
आठवें चरण में भी 23 फीसदी उम्मीदवारों पर क्रिमिनल केस
आठवें चरण में भी 23 फीसदी उम्मीदवारों पर क्रिमिनल केस
Prabhat Khabar

कोलकाता : पश्चिम बंगाल चुनाव के आठवें चरण में कुल 283 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं. इनमें से 64 पर क्रिमिनल केस दर्ज हैं. 50 ऐसे हैं, जिन पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं. यह जानकारी उम्मीदवारों ने खुद चुनाव आयोग को दी है. चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की ओर से दाखिल हलफनामा का विश्लेषण करने के बाद वेस्ट बंगाल इलेक्शन वॉच एवं एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने एक रिपोर्ट जारी की है.

एडीआर की रिपोर्ट में कहा गया है कि चुनाव लड़ रहे कुल 283 उम्मीदवारों में 23 फीसदी पर आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं, जबकि 18 फीसदी प्रत्याशी गंभीर आपराधिक मामलों में आरोपी हैं. दागी लोगों को टिकट देने में इस चरण में मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) सबसे आगे है. उसने 70 फीसदी ऐसे उम्मीदवार उतारे हैं, जिनके खिलाफ आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं. माकपा के 10 में 7 उम्मीदवार क्रिमिनल केस का सामना कर रहे हैं.

बंगाल में 10 साल से सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के 60 फीसदी और भाजपा के 53 फीसदी उम्मीदवारों पर आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं. तृणमूल ने इस चरण में सभी 35 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं, जिसमें 21 के दामन पर क्राइम के दाग हैं. भाजपा के 35 में से 10 उम्मीदवारों पर अपराध के दाग लगे हैं. आखिरी चरण के चुनाव में कांग्रेस ने भी 19 ऐसे लोगों को टिकट दिये हैं, जिनके दामन पर अपराध के दाग लगे हैं.

सीरियस क्रिमिनल केस का सामना करने वालों में सबसे ज्यादा उम्मीदवार भाजपा के हैं. उसके 35 में से 18 यानी 51 फीसदी उम्मीदवारों ने अपने हलफनामे में कहा है कि वे गंभीर आपराधिक मामलों का सामना कर रहे हैं. कांग्रेस के 19 में से 9 यानी 47 फीसदी प्रत्याशियों पर गंभीर आपराधिक मामले चल रहे हैं. तृणमूल कांग्रेस के 35 में से 8 (23 फीसदी) और माकपा के 10 में से 2 (20 फीसदी) प्रत्याशियों पर सीरियस क्रिमिनल केस दर्ज हैं.

क्रिमिनल केस का सामना कर रहे उम्मीदवारों में 12 ने खुद कहा है कि उनके खिलाफ महिलाओं के खिलाफ अपराध से जुड़े मुकदमे लंबित हैं. 6 लोगों ने कहा है कि वे हत्या जैसे जघन्य अपराध के आरोपी हैं. 17 उम्मीदवारों ने अपने हलफनामा में यह कहा है कि उनके खिलाफ हत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज है. ऐसे ही उम्मीदवारों की वजह से आठवें चरण की 35 में से 11 विधानसभा सीटों रेड अलर्ट विधानसभा घोषित किया गया है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें