1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal chunav 2021 pm modi lashes out at mamata banerjee says mishti doi of bengal is so sweet but why didi is so bitter bjp tmc in bengal election 2021

Bengal Chunav 2021: PM Modi ने ममता बनर्जी पर कसा तंज, कहा- बंगाल की 'मिष्टी दोई' इतनी मीठी है पर दीदी इतनी कड़वाहट कहां से लाती हैं

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
PM Modi ने ममता बनर्जी पर कसा तंज
PM Modi ने ममता बनर्जी पर कसा तंज
Twitter

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए प्रचार अभियान जोर शोर से चल रहा है. बीजेपी और टीएमसी के बीच जुबानी जंग तेज हो गयी है. टीएमसी की रैलियों में बीजेपी नेताओं के खिलाफ तो बीजेपी की रैलियों में टीएमसी नेताओं के खिलाफ बयानबाजी हो रही है. पीएम मोदी भी शनिवार को चुनाव प्रचार करने के लिए पश्चिम बंगाल में थे. इस दौरान उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी पर तंज कसा.

पीएम मोदी ने कहा कि बंगाल की मिष्टी दही बहुत मशहूर है. यह बहुत मीठी होती है. यहां के लोग भी मीठे होते हैं. पर दीदी इतनी कड़वाहट कहां से लाती हैं. इसके बाद उन्होंने लोगों को बताया कि दीदी क्यों इतनी कड़वी हो गयी हैं. पीएम मोदी ने कहा कि दीदी के हताशा का कारण उनके दस वर्ष का रिपोर्ट कार्ड है.

हरिपाल में जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने ममता बनर्जी पर तंज कसा. उन्होंने कहा बंगाल की जनता बिकाऊ नहीं है. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ममता दीदी कहती है बीजेपी की रैली में जो भीड़ होती है, उसे रुपये देकर बीजेपी बुलाती है. पीएम मोदी ने कहा कि अगर रैली में शामिल होने वाली जनता पैसों के लिए रैली में आती है. तो क्या बंगाल का नागिरक या बंगाल की जनता बिक सकती है? पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा नहीं, बंगाल की जनता बिकाऊ नहीं है. बंगाल के लोग स्वाभिमानी है.

बंगाल की जनता का जब पूरी अंग्रेज सल्तनत कुछ नहीं कर पायी तो बाकी क्या कर सकते हैं. इस जनसभा से पीएम मोदी ने यह भी कहा ममता दीदी की बौखलाहाट बढ़ने का कारण उनके 10 वर्षों का रिपोर्ट कार्ड है. इन 10 वर्षों में बंगाल में इंडस्ट्री बंद हो गयी है. अब तक कोई नयी इंडस्ट्री बंगाल में नहीं आयी. कोई नया निवेश, व्यवसाय और नौकरी बंगाल में नहीं आयी है और आने की संभावना भी नहीं है.

ममता बनर्जी की अगुवाई वाली तृणमूल कांग्रेस पर हमला करते हुए, पीएम मोदी ने आरोप लगाया कि पार्टी ने परेशानियों के दौर में अवसर में बदला और खूब धन कमाया. हुगली देश के सबसे पुराने ओद्योगिक क्षेत्रों में से एक है लेकिन आज यह बदहाल है. पुराने उद्योग बंद हो गए हैं. नए उद्योगों, नए निवेश, नए व्यापार और रोजगार की संभावनाएं भी बंद हो गई हैं."

उन्होंने कहा कि ऐसा समय था जब देश के बाकी हिस्सों से लोग बंगाल के कारखानों में काम करने आते थे. लेकिन आज बंगाल के लोगों को कहीं और नौकरियों की तलाश में पलायन के लिए मजबूर किया जा रहा है.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें