1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal chunav 2021 fir against mamata banerjee at mathabhanga police station accused of inciting general public against central forces pwn

ममता बनर्जी के खिलाफ माथाभांगा थाना में FIR, आम जनता को केंद्रीय बलों के खिलाफ भड़काने का आरोप

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
ममता बनर्जी के खिलाफ माथाभागां थाना में FIR, आम जनता को केंद्रीय बलों के खिलाफ भड़काने का आरोप
ममता बनर्जी के खिलाफ माथाभागां थाना में FIR, आम जनता को केंद्रीय बलों के खिलाफ भड़काने का आरोप
File Photo

कोलकाता : ममता बनर्जी के खिलाफ कूचबिहार के माथाभांगा थाने में एफआईआर दर्ज करायी गयी है. बंगाल की मुख्यमंत्री पर केंद्रीय बलों का घेराव करने के लिए लोगों को उकसाने के आरोप है. इसे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई. एफआईआर आरोप लगाया गया है कि मुख्यमंत्री के उकसाने की वजह से शीतलकूची गोलीबारी की घटना हुई और उसमें चार लोगों की जान गई.

कूचबिहार में बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाध्यक्ष सिद्दिकी अली मिया ने थाना में शिकायत दर्ज कराया है. उन्होंने अपने शिकायत में दावा किया कि ममता बनर्जी ने बानारेश्वर में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि सुरक्षाबलों को घेरे लें. इस रैली के बाद ही यह घटना घटी. ममता दीदी के भाषण ने लोगों को चुनावों के चौथे चरण के दौरान केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) के कर्मियों के खिलाफ हमले के लिए उकसाया.

माथाभांगा पुलिस थाने में दर्ज किये गये शिकायत में शिकायतकर्ता ने ममता बनर्जी के भाषण की एक वीडियो क्लिप भी संलग्न की है. सिद्दिकी मिया ने कहा कि ममता बनर्जी के भड़काऊ बयान से भड़के गांव वालों ने तैनात सुरक्षाकर्मियों के हथियार छीनने की कोशिश की. प्राथमिकी में मिया ने कहा है कि महिलाओं सहित गांव वालों ने केंद्रीय बलों पर शारीरिक नुकसान पहुंचाने के इरादे से हमला किया, यह जानते हुए भी कि यह तैनात सुरक्षाकर्मियों की मौत का कारण भी बन सकता है.

पीटीआई-भाषा के मुताबिक भाजपा नेता सिद्दीकी मिया से जब संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि अगले कुछ दिनों के भीतर पुलिस यदि कुछ कार्रवाई नहीं करती है तो वह ममता बनर्जी को गिरफ्तार करने की मांग के साथ व्यापक विरोध प्रदर्शन करेंगे. उन्होंने कहा, ‘‘चार लोगों की मौत के लिए सिर्फ ममता बनर्जी जिम्मेदार हैं.

सिद्दीकी मिया ने कहा कि हमारे जिले के मतदाताओं के प्रति मुख्यमंत्री जवाबदेह हैं. उल्लेखनीय है कि 10 अप्रैल को सीतलकूची विधानसभा क्षेत्र के एक मतदान केंद्र के बाहर स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया था, जिसके बाद आत्मरक्षा में सुरक्षाकर्मियों को कथित तौर पर गोली चलानी पड़ी. इस घटना में चार लोगों की मौत हो गई.

इस घटना के बाद निर्वाचन आयोग ने उस मतदान केंद्र पर मतदान टाल दिया था. आयोग ने इस घटना के बाद तीन दिनों तक किसी भी राजनीतिक दल के नेता के जिले में प्रवेश पर रोक लगा दी थी. बनर्जी घटना में मारे गए लोगों के परिजनों से बुधवार को मुलाकात की थी.

Posted By: Pawan Singh

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें