1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. bengal chief minister mamata banerjee demands resignation of pm modi for failure in coronavirus control management mtj

कोरोना की रोकथाम में विफल प्रधानमंत्री मोदी इस्तीफा दो, बोलीं बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
ममता बनर्जी
ममता बनर्जी
फाइल फोटो

बैरकपुर/तेहट्टा : मुख्यमंत्री और तृणमूल सुप्रीमो ममता बनर्जी ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोविड-19 की दूसरी लहर को संभाल नहीं पाये. इसलिए उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री संक्रमण के मामलों की संख्या रोकने के लिए योजना बनाने में विफल रहे.

ममता बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले पांच-छह महीने में मेडिकल ऑक्सीजन और टीकों की आपूर्ति के संभावित संकट पर ध्यान देने के लिए कुछ नहीं किया. तृणमूल सुप्रीमो ने रविवार को बैरकपुर और तेहट्ट में चुनावी रैलियों को संबोधित किया.

बैरकपुर की रैली में सुश्री बनर्जी ने कहा कि अपने देश में वैक्सीन की कमी के बावजूद प्रधानमंत्री ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी छवि चमकाने के लिए दूसरे देशों को टीके निर्यात किये. मौजूदा हालात के लिए वह ही जिम्मेदार हैं.

सुश्री बनर्जी ने यह भी आरोप लगाया कि कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिए केंद्र सरकार ने कोई प्रशासनिक योजना नहीं बनायी. भाजपा शासित प्रदेश गुजरात में भी कोविड-19 के हालात को संभाला नहीं जा सका है और पश्चिम बंगाल समेत पूरे देश को इस स्थिति में लाकर खड़ा कर दिया गया है.

तृणमूल सुप्रीमो का कहना है कि कि पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य के सभी नागरिकों को मुफ्त में टीका लगाने के लिए प्रधानमंत्री से करीब 5.4 करोड़ खुराकों की आपूर्ति का अनुरोध किया था, लेकिन उनकी तरफ से राज्य सरकार को अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है. राज्य सरकार ने कोविड-19 के टीकों की पूरी लागत वहन करने की भी बात कही थी. यदि प्रधानमंत्री ने यह मंजूरी दी होती, तो पश्चिम बंगाल के हर नागरिक को टीका लगाया गया होता.

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने भी जीवन रक्षक सामग्री के संकट का विषय उठाया है, लेकिन प्रधानमंत्री इस मुद्दे पर ध्यान दिये बिना बंगाल में चुनावी रैलियों में भाग ले रहे हैं.

वैक्सीन निर्यात पर मोदी को सुनायी खरी-खोटी

दूसरे देशों में वैक्सीन निर्यात करने के मामले को लेकर सुश्री बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री दूसरे देशों की मदद करते हैं, तो कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन पहले महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, बंगाल और देश के दूसरे राज्यों को पर्याप्त वैक्सीन मुहैया कराने की जरूरत थी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया.

रविवार को ही तेहट्टा में आयोजित सभा के दौरान सुश्री बनर्जी ने एक बार फिर 'बाहरी लोगों' का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि बंगाल में कोरोना संक्रमण बढ़ने के लिए दूसरे राज्यों से प्रचार के लिए आने वाले भाजपा के नेता जिम्मेदार हैं. वे चुनाव प्रचार के लिए 'बाहरी लोगों' को बिना कोविड-19 जांच कराये ला रहे हैं.

एनआरसी, सीएए को रोकने के लिए भाजपा को रोकना होगा

उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि हावड़ा में भाजपा के एक उम्मीदवार संक्रमित होने के बावजूद चुनाव प्रचार के लिए निकले. उन्होंने चुनाव प्रचार से दूरी क्यों नहीं बनायी? तृणमूल कांग्रेस इस तरह के खतरे नहीं मोल लेती है, जिससे लोगों को परेशानी हो. सभा में उन्होंने लोगों से कहा कि बंगाल में राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) और संशोधित नागिरकता कानून (सीएए) को रोकने के लिए भाजपा को सत्ता में आने से रोकना होगा.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें