1. home Home
  2. state
  3. west bengal
  4. bangladeshi youth living in india for 9 years arrested from kolkata got fake school certificate at the cost of rs 90 thousand mtj

9 साल से भारत में रह रहा था बांग्लादेशी युवक, 90 हजार में बनवाया था फर्जी स्कूल सर्टिफिकेट

West Bengal News| Bangladesh| Infiltration| पश्चिम बंगाल (West Bengal) से जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश (JMB) के तीन आतंकवादियों की गिरफ्तारी के बाद बांग्लादेशी (Bangladesh) युवक और चार महिलाओं की गिरफ्तारी हुई है. फर्जी स्कूल सर्टिफिकेट (Fake School Certificate) बनाकर नौ साल से भारत में रह रहे बांग्लादेशी युवक को विधाननगर पुलिस कमिश्नरेट के राजारहाट (Rajarhat) थाना की पुलिस ने रायगाछी आवासन (Raigachhi Abasan) से पकड़ा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
रायगाची आवासन से गिरफ्तार हुआ बांग्लादेशी युवक
रायगाची आवासन से गिरफ्तार हुआ बांग्लादेशी युवक
Prabhat Khabar

कोलकाता: पश्चिम बंगाल से जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) के तीन आतंकवादियों की गिरफ्तारी के बाद बांग्लादेशी युवक और चार महिलाओं की गिरफ्तारी हुई है. फर्जी स्कूल सर्टिफिकेट बनाकर नौ साल से भारत में रह रहे बांग्लादेशी युवक को विधाननगर पुलिस कमिश्नरेट के राजारहाट थाना की पुलिस ने रायगाछी आवासन से पकड़ा है. वहीं, सीमावर्ती इलाके से तीन महिलाओं को बीएसएफ ने गिरफ्तार किया है.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तार युवक का नाम गोविंद साहा (26) है. वह मूल रूप से बांग्लादेश के चांदपुर इलाके का रहने वाला है. आरोपी गोविंद वर्ष 2012 में अवैध रूप से सीमा पार करके भारत में घुसा था. उसने पहले बागुईहाटी में रहना शुरू किया.

बाद में उसने अपना ठिकाना बदल लिया. वह राजारहाट थाना इलाके में रहने लगा. आरोप है कि इसी दौरान उसने कई फर्जी दस्तावेज तैयार कर लिये. बताया जाता है कि 90 हजार रुपये देकर उसने पहले फर्जी स्कूल सर्टिफिकेट बनवाया. उस सर्टिफिकेट के आधार पर आधार कार्ड, पैन कार्ड और वोटर कार्ड तक बनवा लिया.

उसके हौसले बुलंद हो गये और पासपोर्ट के लिए आवेदन कर दिया. यहीं उसके फर्जीवाड़ा का खुलासा हो गया. पुलिस ने उसे धर दबोचा. पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह यहां पढ़ाई करने आया था.

उसने कहा कि इंजीनियरिंग कॉलेज में दाखिला लेने के लिए 90 हजार रुपये खर्च करके कोलकाता के एक व्यक्ति की मदद से पहले फर्जी स्कूल सर्टिफिकेट बनवाया. उस सर्टिफिकेट के सहारे उसने कॉलेज में दाखिला लिया. फिर धीरे-धीरे अन्य फर्जी दस्तावेज बनवाये.

पुलिस ने बताया कि पासपोर्ट के लिए आवेदन करने के दौरान पुलिस वेरिफिकेशन में कई सारे तथ्य सामने आये. संदेह के आधार पर पुलिस ने जांच शुरू की, तो उसके कई दस्तावेज फर्जी पाये गये. तुरंत पुलिस ने राजारहाट थाना को इसकी सूचना दी. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया.

रविवार को उसे बारासात अदालत में पेश किया गया. कोर्ट ने उसे पुलिस की हिरासत में भेज दिया है. पुलिस अब गोविंद साहा से पूछताछ कर रही है कि उसने फर्जी सर्टिफिकेट व सारे दस्तावेज कहां से और किसकी मदद से बनवाया. यह सब करने के पीछे उसका उद्देश्य क्या था.

चार बांग्लादेशी महिलाएं गिरफ्तार

उधर, अवैध तरीके से भारत में घुसने, मुंबई में रहने और वहां काम करने के बाद वापस सीमा पार करने के दौरान सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवानों ने चार बांग्लादेशी महिलाओं को पकड़ा है. रविवार को बीएसएफ ने उत्तर 24 परगना जिला की सीमा चौकी जीतपुर इलाके से उन्हें पकड़ा. आरोपियों के नाम अमीना शेख (23), महिनूर शेख (40), रेशमा (30) और नुरजहां शेख (25) हैं. आरोपियों को बागदा‌ थाना के हवाले कर दिया गया है.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें