1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. amit shah released bjp manifesto ebar sonar bangla ebar asol poriborton ebar bjp promised free education to girls rs 10 thousand for farmers and transformation of kolkata mtj

भाजपा के संकल्प पत्र ‘ए बार सोनार बांग्ला ए बार बीजेपी’ में बेटियों को मुफ्त शिक्षा, किसानों को 10 हजार रुपये और नये कोलकाता का वादा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Ebar Sonar Bangla Ebar Asol Porborton Ebar BJP
Ebar Sonar Bangla Ebar Asol Porborton Ebar BJP
Prabhat Khabar

कोलकाता : बंगाल चुनाव 2021 के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का संकल्प पत्र रविवार को कोलकाता में जारी किया. इस सोनार बांग्ला संकल्प पत्र को ‘ए बार सोनार बांग्ला ए बार बीजेपी’ नाम दिया गया है. इसमें भाजपा ने मुख्य रूप से 13 बिंदुओं को रेखांकित किया है.

अमित शाह ने जो संकल्प पत्र जारी किया, उसमें महिला, युवा, किसान, सुशासन, स्वास्थ्य, अर्थव्यवस्था, पर्यटन, आधारभूत ढांचा, विकास, संस्कृति, आंचलिक उन्नति, परिवेश और नये कोलकाता की बात कही गयी है. इसमें बेटियों को केजी से पीजी तक मुफ्त शिक्षा की बात कही गयी है, तो किसानों को हर साल 10 हजार रुपये और मछुआरों को 6 हजार रुपये देने की बात कही गयी है.

भाजपा के 62 पन्ना के घोषणा पत्र में कोलकाता के लोगों को कई बड़ी सहूलियतें देने की बात कही गयी है. संकल्प पत्र में कहा गया है कि कोलकाता को तमाम वित्तीय सेवाओं के केंद्र के रूप में स्थापित किया जायेगा. 200 यूनिट तक घरेलू इस्तेमाल की बिजली मुफ्त मिलेगी. कोलकाता के सभी भवनों का नियमित अंतराल पर फायर ऑडिट कराया जायेगा. लो फ्लोर एसी बसों को शहर में उतारा जायेगा. बसों की संख्या बढ़ाकर 3,000 की जायेगी.

कोलकाता को ‘सिटी ऑफ फ्यूचर’ में तब्दील करने के लिए 22,000 करोड़ रुपये का कोलकाता डेवलपमेंट फंड स्थापित किया जायेगा. जिन इलाकों में ट्रैफिक की समस्या है, वहां 10 बहुमंजिला पार्किंग स्थल बनाया जायेगा. कोलकाता को प्रतिष्ठित यूनेस्को हेरिटेज सिटी का टैग दिलाने के लिए 500 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे.

वायु प्रदूषण से निबटने के लिए क्लीन कोलकाता मिशन के तहत 1,500 करोड़ रुपये की लागत से शहर में 10 स्मॉग टावर लगाये जायेंगे. भाजपा ने वादा किया है कि उसकी सरकार बंगाल में बनी, तो मेट्रो रेलवे का विस्तार श्रीरामपुर, धुलागढ़ और कल्याणी तक किया जायेगा.

इतना ही नहीं, कालीघाट की आदि गंगा नदी को पुनर्जीवित किया जायेगा. इस नदी में गंदगी फेंकने पर रोक लगायी जायेगी. सीवेज के पानी को उसमें प्रवाहित करने से रोका जायेगा. इसके साथ ही मिशन मोड पर नदी की सफाई की जायेगी, ताकि उसके पुराने गौरव को प्रतिष्ठित किया जा सके.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें