1. home Home
  2. state
  3. up
  4. varanasi
  5. ramayana circuit train ayodhya varanasi and prayag route chart and destinations abk

उत्तर प्रदेश के अयोध्या, काशी और प्रयागराज में रामायण सर्किट ट्रेन का पड़ाव, ऐसी होगी यात्रियों की रूटीन

रामायण सर्किट ट्रेन की शुरुआत 7 नवंबर को दिल्ली से सफदरजंग रेलवे स्टेशन से शाम को होगी. ट्रेन के जरिए रामभक्त 17 दिनों के दौरान देशभर में फैले भगवान श्रीराम से जुड़े स्थलों की यात्रा करेंगे.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Varanasi
Updated Date
Ramayana Circuit Train Journey
Ramayana Circuit Train Journey
सोशल मीडिया

Ramayana Circuit Train Journey: मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम से जुड़े स्थलों के बारे में जानकारी देने के लिए भारतीय रेलवे ने रामायण एक्सप्रेस के नए सीजन की शुरुआत की घोषणा की है. इसे रामायण सर्किट ट्रेन के नाम से भी जाना जाता है. रामायण सर्किट ट्रेन की शुरुआत 7 नवंबर को दिल्ली से सफदरजंग रेलवे स्टेशन से शाम को होगी. ट्रेन के जरिए रामभक्त 17 दिनों के दौरान देशभर में फैले भगवान श्रीराम से जुड़े स्थलों की यात्रा करेंगे. यात्रियों की सुविधाओं को देखते हुए ट्रेन में स्लीपर और एयरकंडीशन कोच अटैच किए गए हैं. खास बात यह है कि ट्रेन से यात्री रामजन्मभूमि का भी दर्शन करेंगे.

इन शहरों से गुजरेगी रामायण एक्सप्रेस ट्रेन

दिल्ली - अयोध्या - सीतामढ़ी - जनकपुर - वाराणसी - प्रयाग - चित्रकूट - नासिक - हम्पी - रामेश्वरम - दिल्ली

रामायण एक्सप्रेस ट्रेन के लिए यात्री https://www.irctctourism.com वेबसाइट पर जाकर बुकिंग करा सकते हैं. सफर की शुरुआत में आपको कोविड वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट भी लाना होगा. कोविड-19 वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट 18 या इससे ज्यादा उम्र के लोगों के लिए जरूरी किया गया है. 17 दिनों में यात्रियों को 1700 किलोमीटर की सफर कराई जाएगी. इसकी शुरुआत अयोध्या जी से होगी.

Ramayana Circuit Train UP Tour
Ramayana Circuit Train UP Tour
सोशल मीडिया

श्रीराम से जुड़े इन स्थलों का ट्रेन से करें दर्शन

अयोध्या:- राम जन्मभूमि मंदिर, हनुमान गढ़ी, सरयू घाय

नंदीग्राम:- भरत-हनुमान मंदिर, भरत कुंड

जनकपुर:- राम-जानकी मंदिर

सीतामढ़ी:- जानकी मंदिर, पुनौरा धाम

सीता समाहित स्थल, सीतामढ़ी सीता माता मंदिर

वाराणसी:- तुलसी मानस मंदिर, संकट मोचन मंदिर, विश्वनाथ मंदिर

प्रयागराज:- भारद्वाज आश्रम, गंगा-यमुना संगम, हनुमान मंदिर

श्रींगावेरपुर:- ऋषि समाधि, शांता देवी मंदिर, राम चौरा

चित्रकूट:- गुप्ता गोदावरी, रामघाट, भरत मिलाप मंदिर, सती अनसुईया मंदिर

नासिक:- त्र्यंबकेश्वर मंदिर, पंचवटी, सीता गुफा, कालाराम मंदिर

हम्पी:- अनजानाद्री हिल, ऋषिमुख, सुग्रीव गुफा, चिंतामणि मंदिर, रघुनाथ मंदिर

रामेश्वरम:- शिव मंदिर और धनुषकोडी

पूजा-पाठ के साथ यात्रियों के आराम का ख्याल 

दिल्ली से खुलने के बाद ट्रेन सुबह 6 बजे अयोध्या पहुंचेगी. यहां यात्रियों को चाय-नाश्ता के बाद होटल में ले जाया जाएगा. इसके बाद यात्री तैयार होकर अयोध्या के मंदिरों के दर्शन करेंगे. लंच के बाद विश्राम मिलेगा. शाम में 5.30 बजे यात्री सरयू आरती देख सकेंगे. डिनर के बाद अयोध्या में रात्रि विश्राम का मौका मिलेगा.

वाराणसी में ट्रेन के सुबह में पहुंचने के बाद यात्रियों को चाय-नाश्ता मिलेगा. यात्री अपने संबंधित होटल में जाएंगे. यात्रियों को वाराणसी के मंदिरों के दर्शन कराए जाएंगे. इसमें तुलसी, संकट मोचन हनुमान मंदिर और काशी विश्वनाथ मंदिर शामिल हैं. इसके बाद शाम में यात्रियों को गंगा आरती देखने का मौका मिलेगा. गंगा आरती देखने के बाद यात्री डिनर करेंगे और वाराणसी में रात्रि विश्राम कर सकेंगे.

वाराणसी से प्रयाग पहुंचने के बाद यात्रियों को दिनभर धार्मिक स्थलों के दर्शन कराए जाएंगे. उनके खाने और आराम का भी खास ख्याल रखा जाएगा. प्रयाग में यात्रियों को रात्रि विश्राम का मौका मिलेगा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें