1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. varanasi
  5. pm narendra modi conversation with booth pramukh of varanasi through namo app acy

'श्रवण जी का हाल हौ' कुछ इस अंदाज में पीएम मोदी ने बूथ प्रमुखों से किया संवाद

पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को वाराणसी के बूथ प्रमुखों से संवाद किया. इस दौरान उन्होंने कई मुद्दों पर उनसे चर्चा की. देखें यह खास रिपोर्ट..

By Prabhat Khabar Digital Desk, Varanasi
Updated Date
पीएम नरेंद्र मोदी ने काशी के बूथ प्रमुखों सी किया संवाद
पीएम नरेंद्र मोदी ने काशी के बूथ प्रमुखों सी किया संवाद
सोशल मीडिया

Varanasi News: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 18 जनवरी यानी मंगलवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ संवाद किया. सुबह 11 बजे से प्रारम्भ हुए कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं व बूथ अध्यक्षों के साथ नमो एप के माध्यम से बातचीत करते हुए सभी के सुझाव व सवालों का भी जवाब दिया. पूरा संवाद शहर के विकास, टीकाकरण, स्वच्छता, सौंदर्यीकरण व चुनावी गतिविधियों पर केंद्रित रहा.

सुबह 11 बजे नमो एप के माध्यम से जैसे ही पीएम नरेंद्र मोदी ने संवाद प्रारम्भ किया, सभी कार्यकर्ताओं व बूथ अध्यक्षों ने हर-हर महादेव के उद्घोष के साथ उनका स्वागत किया. चयनित 8 बूथ अध्यक्षों में से एक श्रवण कुमार रावत से पीएम मोदी संवाद किया.

पीएम मोदी - श्रवण जी का हाल हौ. बाबा के धाम का आपने दर्शन किया.

श्रवण - जी बिल्कुल परिवार के साथ दर्शन किया. इसके लिए आपको धन्यवाद है. फल बेचने वालों से लेकर होटल वालों तक का कारोबार बढ़ा है. बनारस में दर्शनार्थियों की संख्या बढ़ी है. सबके हृदय से आपके लिए आशीर्वाद निकल रहा है. आपने सबके लिए रोजगार का माध्यम बढ़ाया है.

पीएम मोदी - श्रवण जी, आपसे सुनकर अच्छा लगा. असली इच्छा यही थी कि गरीब को रोजगार मिले. पहले भी आप विश्वनाथ धाम जाते थे और अब भी. क्या फर्क महसूस हुआ?

श्रवण - अब जमीन और आसमान का फर्क आया है. पहले गलियों में कंधे छिल जाते थे और गजब की धक्कामुक्की होती थी, लेकिन अब गजब की भव्यता और दिव्यता है. आनंद आ जाता है. मंदिर चौक में खड़ा कर होकर मंदिर की ओर देखने पर एक अजीब सी खुशी मिलती है. उसे व्यक्त नहीं किया जा सकता है. यह सब आपकी वजह से संभव हो पाया है. आप इतिहास पुरुष हो गए हैं. काशीवासियों ने कभी कल्पना भी नहीं थी कि बाबा का धाम ऐसा होगा.

पीएम मोदी- आप बूथ लेवल कार्यकर्ता होकर इतने सजग हैं. यह सुनकर और जानकर बहुत अच्छा लगा. श्रवण जी, जो कुछ भी हुआ, सब बाबा की कृपा है. बाबा की कृपा के बगैर कहां कुछ होता है. वह हमें सिर्फ माध्यम बनाते हैं. भाजपा के कार्यकर्ता सेवा का कोई अवसर न छोड़ें. मेरा एक आग्रह है कि आप सभी को बनारस में स्वच्छता के लिए जागरूकता फैलानी होगी. आप अपने साथियों के साथ बाहर से बनारस आने वालों को कबीरचौरा ले जाएं और संत रविदास मंदिर भी ले जाएं. इससे बनारस की संस्कृति और पर्यटन को लाभ होगा.

पीएम नरेंद्र मोदी ने सीमा कुमारी, बूथ अध्यक्ष महामना मंडल, वाराणसी कैंट विधानसभा से बातचीत में पूछा कि आज कल कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है. ऐसे में मिलना-जुलना कैसे हो पा रहा है? इस पर सीमा ने कहा कि दो गज जरूरी और मास्क है जरूरी के साथ हम लोग सभी से मिल जुल रहे हैं.

पीएम मोदी - आप जैसे बहिन के आशीर्वाद हमार असली शक्ति हउअे. मातृशक्ति प्रसन्न हौ ना...?

सीमा - आपने महिलाओं को सशक्त करने के लिए बहुत कुछ किया है. प्रधानमंत्री आवास से लेकर वह घर की मालकिन भी हो गई हैं. उनके नाम घर की रजिस्ट्री हो गई है. आपने गैस सिलेंडर दिया और हर घर में नल पहुंचाया.

पीएम मोदी - आपने कहा कि यह काम हमने किया है. हम कह रहे हैं कि ये काम देश की माताओं और बहनों ने किया है. उन्हीं ने तो हमें सेवा का अवसर दिया है. मेरा एक आग्रह है कि आप ज्यादा से ज्यादा महिलाओं और स्वयं सहायता समूहों को बैंकों से जोड़ें और डिजिटल पेमेंट से जोड़ें.

शहर उत्तरी विधानसभा के बागेश्वरी मंडल से बूथ अध्यक्ष आशुतोष शर्मा से पीएम मोदी ने चुटीले अंदाज में पूछा कि ए बार कितना ठंड पड़ल हौ बनारस में...? चुनाव की कितनी गर्मी है. मुझे बनारस में जन्म लेने का सौभाग्य तो नहीं मिला, लेकिन महादेव की कृपा से वहां से जुड़ने का मौका जरूर मिला. इस पर आशुतोष ने कहा कि मोदी और योगी की जोड़ी सब पर भारी है. बनारस का आपने जितना ध्यान रखा, उतना किसी ने नहीं रखा.

प्रधानमंत्री ने पूछा कि पहले बनारस की जब भी बात होती थी तो जाम की बात सबसे पहले आती थी. अब क्या स्थिति है? इस पर आशुतोष ने कहा कि रिंग रोड और बाबतपुर मार्ग बना है. तब से स्थिति बहुत ही बेहतर हुई है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि अच्छी कनेक्टिविटी जहां होती है, वहां विकास होता है. बनारस को लेकर पहले ही दिन से मेरा प्रयास है कि विरासत भी सुरक्षित रहे और विकास भी हो. लोगों से आग्रह करें कि वो शहर के अंदर अपनी गाड़ी अच्छे से पार्क करें. ट्रैफिक के नियमों का जितना पालन होगा, उतना ही यातयात अच्छा रहेगा.

रिपोर्ट- विपिन सिंह, वाराणसी

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें