1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. varanasi
  5. aap mp sanjay singh raised questions against police in chandauli case nrj

चंदौली कांड: AAP सांसद संजय सिंह ने चलाए जहर बुझे तीर, तीखे सवालों से पुलिस को घेरा, कल पूरी UP में विरोध

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने वाराणसी के एक निजी होटल में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि चंदौली के अंदर पुलिस दबिश के लिए पहुंचती है. निशा यादव नामक युवती की हत्या कर देती है. परिवारवालों को बर्बरतापूर्वक पीटती है, मारती है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Varanasi
Updated Date
आप सांसद संजय सिंह से पूछे तीखे सवाल.
आप सांसद संजय सिंह से पूछे तीखे सवाल.
Prabhat Khabar

Varanasi News: वाराणसी पहुंचे आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने चंदौली पीड़ित परिवार से मुलाकात की. इसके बाद उन्‍होंने कहा कि चंदौली और ललितपुर में सीधे-सीधे अपराध में शामिल पुलिसवालों की जांच खुद पुलिसवालें करेंगे तो न्याय मिलने में संदेह है. दोनों घटनाओं की जांच हाइकोर्ट की निगरानी में सीबीआई से करने की मांग पार्टी करती है. उन्होंने पुलिस पर हत्या के प्रयास नहीं, हत्या के मुकदमे की मांग करते हुए दोषी पुलिसकर्मियों के तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है.

पुलिस की छापेमारी पर उठाए सवाल

आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने वाराणसी के एक निजी होटल में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि चंदौली के अंदर पुलिस दबिश के लिए पहुंचती है. निशा यादव नामक युवती की हत्या कर देती है. परिवारवालों को बर्बरतापूर्वक पीटती है, मारती है. उन्‍होंने कहा, 'मैं ये पूछना चाहता हूं कि जब पुलिस किसी के घर दबिश के लिए जाती है तो उसकी इंट्री होती है. रवानगी दर्ज होती है. सबके नाम लिखे जाते हैं कि कौन-कौन सा पुलिस वाला दबिश के लिए जा रहा है. फिर अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर कैसे दर्ज हो सकती है क्योंकि पुलिस को तो पता है कि कौन-कौन से लोग वहां गए हैं.' संजय सिंह ने कहा कि इसलिए आम आदमी पार्टी ने यह तय किया है कि उत्तर प्रदेश में हो रही ऐसी घटनाओं पर हम शांत और चुप नहीं बैठ सकते. इसके खिलाफ शनिवार को पूरे उत्तर प्रदेश में जिला मुख्यालयों पर विरोध-प्रदर्शन किया जाएगा. इन दोनों मामलों में हाईकोर्ट से मॉनीटर्ड सीबीआई टीम जांच करे.

'हाइकोर्ट की निगरानी में सीबीआई करे जांच'

उन्‍होंने कहा क‍ि मामला भी 304 में लिखा गया है. सरकार से पूछना चाहता हूं कि क्या उस लड़की ने अपने आप को स्वयं मार लिया? क्या निशा यादव की हत्या नहीं हुई? यदि हत्या हुई है तो मुकदमा हत्या का दर्ज होना चाहिए. यानी 302 का. अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई. ललितपुर में भी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई. ललितपुर में सीधे-सीधे अपराध में शामिल पुलिसवालों की जांच खुद पुलिसवाले करेंगे तो न्याय मिलने में संदेह है. दोनों घटनाओं की जांच हाइकोर्ट की निगरानी में सीबीआई से करने की मांग पार्टी करती है.

फास्‍टट्रैक कोर्ट में सुनवाई की मांग

संजय सिंह ने यूपी के योगी सरकार पर निशाना लगाते हुए प्रयाजराज में दो-दो परिवारों के सामूहिक हत्याकांड पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि परिवार का परिवार साफ कर दिया जाता है. योगी जी बुलडोजर चलवाकर वाहवाही लूटने में व्यस्त रहते हैं जबकि उनके थानों में न्याय मांगने वालों के साथ दुराचार किया जाता हैं. उन्होंने प्रयागराज में पीड़ित परिवार राहुल तिवारी और सुनील यादव के मामले को फास्टट्रैक कोर्ट में सुनवाई की मांग की.

रिपोर्ट : विपिन सिंह

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें