काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर: भूमि पूजन करने के बाद बोले पीएम मोदी- भोले की किसी ने चिंता नहीं की

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

वाराणसी : प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के लिए भूमि पूजन किया और नींव की ईंट रखी. आज सुबह पीएम मोदी वाराणसी पहुंचे और सबसे पहले उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर में भगवान शिव की आराधना की और उनका आशीर्वाद लिया. यहां उन्हें मंदिर में प्रसाद स्वरूप बनारसी सिल्क का केसरिया गमछा और रुद्राक्ष की माला भेंट की गयी.

काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के लिए भूमि पूजन करने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि शायद मुझसे भोलेबाबा ने कहा कि बेटे बातें तो बहुत करते हो, आओ यहां काम करके दिखाओ. योगी जी ने जिस टीम को यहां काम के लिए लगाया है, वे पूरे मन से इस काम में लगे हुए हैं. मैं उनको धन्यवाद देता हूं.

आगे उन्होंने कहा कि विश्वनाथ धाम एक ऐसी परियोजना है जिसके बारे में मैं लंबे समय से सोच रहा था. सक्रिय राजनीति में आने से पहले ही मैं काशी आ गया था. तब से मुझे लगता है कि मंदिर परिसर के लिए कुछ करना चाहिए. भोले बाबा के आशीर्वाद से मेरा सपना सच हो गया. भोले बाबा की पहले किसी ने इतनी चिंता नहीं की. महात्मा गांधी भी बाबा की इस हालत पर चिंतित थे.

पीएम मोदी ने कहा कि 2014 के चुनाव के दौरान मैंने कहा था कि मैं यहां आया नहीं हूं, मुझे यहां बुलाया गया है. शायद मुझे ऐसे ही कामों के लिए बुलाया गया था. यह चारो तरफ से दीवारों में घिरे भोले बाबा की मुक्ति का पर्व है. मैं इस काम के लिए योगी जी की सरकार का धन्यवाद करता हूं। उन्होंने इसमें काफी सहयोग किया है. उन्होंने कहा कि यदि तीन साल पहले मुझे यूपी की तत्कालीन सरकार का साथ मिला होता तो आज मैं इसका उद्घाटन कर रहा होता.

पीएम मोदी ने कहा कि ये काशी विश्वनाथ धाम, अब काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर के रूप में जाना जायेगा. इससे काशी की पूरे विश्व में एक अलग पहचान बनेगी. अब मां गंगा को सीधे बाबा भोलेनाथ से जोड़ दिया गया है. अब श्रद्धालु गंगा स्नान करके सीधे भोले बाबा के दर्शन करने आ सकेंगे.

इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ यूपी के राज्यपाल रामनाइक और सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें