1. home Home
  2. state
  3. up
  4. meerut
  5. up chunav 2022 illegal firearms demand increased before elections police caught gang in meerut avi

यूपी में चुनाव से पहले बढ़ी अवैध तमंचे की डिमांड! मेरठ में पुलिस ने गिरोह को दबोचा, दिल्ली तक फैला रखा था जाल

मेरठ पुलिस के इंचौली थाने को गुप्त सूचना मिली कि खेत के ट्यूबवेल पर अवैध तमंचा की फैक्ट्री चल रही हैच. इन तमंचों का सप्लाई यूपी के अलग-अलग जिलों में किया जा रहा था.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Meerut
Updated Date
UP Crime News
UP Crime News
प्रभात खबर ग्राफिक्स

उत्तर प्रदेश में चुनाव से पहले अवैध तरीके से तमंचे बनाकर स्पलाई करने वाले एक गिरोह का मेरठ पुलिस ने खुलासा किया है. पुलिस ने छापेमारी कर अवैध असलहे बनाने वाले पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. ये सभी लोग खेत के ट्यूबवेल पर छुपकर तमंचा बनाता था और सप्लाई करता था. वहीं पुलिस सभी गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ करने में जुट गई है.

रिपोर्ट के मुताबिक मेरठ पुलिस के इंचौली थाने को गुप्त सूचना मिली कि खेत के ट्यूबवेल पर अवैध तमंचा की फैक्ट्री चल रही है, जिसके बाद एक टीम बनाई गई और खेत में छापेमारी कर गिरोह के सदस्यों को दबोचा. वहीं पुलिस ने घटनास्थल पर से कई असलहे भी बरामद किए हैं.

मेरठ सीओ सदर पूनम सिरोही ने बताया कि इचौली थाने के गांव बिसौला में अवैध असलहा फैक्ट्री चलने की सूचना प्राप्त हुई थी. सूचना पर टीम गठित कर छापा मारा गया,जहां से भारी मात्रा में असलहे बरामद किए गए हैं. उन्होंने आगे कहा कि शुरूआती पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि कच्चा माल दिल्ली से खरीदते थे और फिर बनाकर सप्लाई करते थे.

पुलिस ने बताया कि गिरोह के सरगना पहले भी हथियार तस्करी मामले में जेल जा चुका है. वहीं टीम के बारे में पूछताछ कर रही है. पुलिस ने आगे बताया कि तमंचे की सप्लाई करने के लिए इस गिरोह ने सेल्स एजेंट भी रखा था. वहीं एक तमंचे की कीमत करीब 3000-4000 रुपये तक में बेचा जाता था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें