1. home Home
  2. state
  3. up
  4. lucknow
  5. uttar pradesh deputy cm dinesh sharma got z plus and brajesh pathak got z category security sht

Lucknow News: चुनाव से पहले डिप्‍टी CM दिनेश शर्मा को जेड प्लस, मंत्री ब्रजेश पाठक को जेड कैटेगरी की सुरक्षा

डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा को जेड प्लस और मंत्री ब्रजेश पाठक को जेड श्रेणी की सुरक्षा दी गई है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा और मंत्री ब्रजेश पाठक
डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा और मंत्री ब्रजेश पाठक
File photo

Lucknow News: प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारी जोर शोर से चल रही है. इस बीच योगी सरकार के दो कैबिनेट मंत्रियों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. दरअसल, खुफिया विभाग से मिली अहम सूचना के बाद प्रदेश उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा और कानून मंत्री ब्रजेश पाठक की सुरक्षा में बढ़ोतरी की गई है. डिप्‍टी सीएम दिनेश शर्मा को जेड प्लस और मंत्री ब्रजेश पाठक को जेड श्रेणी की सुरक्षा दी गई है.

जेड श्रेणी की सुरक्षा

बता दें कि, केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से दिनेश शर्मा और ब्रजेश पाठक की सुरक्षा में बढ़ोतरी की गई है. जेड श्रेणी की सुरक्षा मिलने पर अत्याधुनिक हथियारों से लैस कुल 33 सुरक्षा गार्ड मिलते हैं. साथ ही वीआईपी के घर पर 10 आर्म्ड स्टेटिक गार्ड 24 घंटे तैनात रहते हैं. इसके अलावा छह राउंड द क्लॉक पीएसओ, तीन शिफ्ट में 12 आर्म्ड स्कार्ट कमांडो, शिफ्ट में दो पहरेदार और तीन प्रशिक्षित ड्राइवर चौबीसों घंटे मौजूद रहते हैं.

जानें जेड प्लस सुरक्षा की खासियत

देश की सभी श्रेणी की सुरक्षाओं में जेड प्लस हाईएस्ट लेवल की सुरक्षा है. इस सुरक्षा को मिलने के बाद संबंधित व्यक्ति की सुरक्षा में कुल 36 जवान तैनात रहते हैं. सुरक्षा में तैनात कुल जवानें में से 10 से अधिक एनएसजी कमांडो होते हैं, जोकि अत्याधुनिक हथियारों से लैस होते हैं. इसके अलावा दिल्ली पुलिस, सीआरपीएफ के कमांडो समेत राज्य की पुलिस भी शामिल होती है.

कब और किसे मिलती है सुरक्षा?

दरअसल, देश के बड़ी हस्तियों या फिर राजनेताओं की जान को खतरा होने की स्थिति में ही अतिरिक्त सुरक्षा प्रदान की जाती है. ये सुरक्षा नेताओं और मंत्रियों को मिलने वाली सिक्युरिटी से काफी अलग होती है. ये सुरक्षा तभी दी जाती है, जब खुफिया एजेंसियों द्वारा किसी नेता या प्रतिष्ठित हस्ती की जान को खतरा होने की पुष्टि की जाती है. इसके अलावा होम सेक्रेटरी, डायरेक्टर जनरल और चीफ सेक्रेटरी द्वारा सुरक्षा की कैटगिरी निर्धारित की जाती है, उसी आधार पर सिक्युरिटी दी जाती है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें