1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. lucknow
  5. up cm yogi adityanath launches women help desk under mission shakti sur

Mission Shakti: थाने में बेझिझक जा सकेंगी महिलाएं, बेबाकी से कह सकेंगी अपनी बात! सीएम योगी ने की 'महिला हेल्प डेस्क' की शुरुआत

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
यूपी महिला हेल्प डेस्क
यूपी महिला हेल्प डेस्क
Photo: Twitter

लखनऊ: हाथरस मामले में महिला सुरक्षा के मसले पर चौतरफा आलोचनाओं का सामना कर रही यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की है. सूबे के 1535 थानों में फिलहाल महिला हेल्प डेस्क की शुरुआत की गई है. जानकारी के मुताबिक यूपी सरकार की महात्वाकांक्षी मिशन शक्ति कार्यक्रम के तहत महिला हेल्प डेस्क की शुरुआत की गई.

प्रशिक्षित महिला पुलिसकर्मियों की तैनाती

जानकारी के मुताबिक थाने में बनाए गए महिला हेल्प डेस्क में प्रशिक्षित महिला पुलिसकर्मियों की तैनाती की जाएगी. महिला हेल्प डेस्क इसलिए बनाए गए हैं ताकि किसी भी तरीके के अपराध का शिकार होने वाली महिलाएं बेझिझक अपनी समस्याएं बता सकें. पहले शिकायत आती थी कि थाने में तैनात पुरूष पुलिसकर्मी महिलाओं के साथ तमीज से पेश नहीं आते.

महिलाएं भी अपनी सारी समस्याएं पुरुष पुलिसकर्मी से साझा नहीं कर पातीं. महिला पुलिसकर्मियों के सामने वे भली-भांति अपनी प्रॉब्लम कह पाएंगी. योगी सरकार का दावा है कि इसका लाभ मिलेगा.

महिला हेल्प डेस्क का हुआ वर्चुअल उद्घाटन

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअली महिला हेल्प डेस्क का उद्घाटन किया. इस दौरान यूपी के डीजीपी हितेश चंद्र चंद्र अवस्थी ने सूबे में महिला अपराध की दिशा में अब तक हुई कार्रवाई का पूरा ब्योरा सीएम योगी आदित्यनाथ के सामने रखा. सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुलिस विभाग के वरीय अधिकारियों से महिला हेल्प डेस्क की कार्यशैली का पूरा ब्योरा लिया. समझा कि इसकी कार्यप्रणाली कैसी होगी.

जानकारी के मुताबिक यूपी में बनाए गए इन महिला हेल्प डेस्क में तकनीकी एक्सपर्ट, साईबर क्राईम एक्सपर्ट, लीगल एडवाइजर आदि की न्युक्ति की जाएगी. महिला हेल्प डेस्क के कॉन्सेप्ट को सफल बनाने के लिए राज्य में सक्रिय महिला संगठनों और समाज सेवी संगठनों की मदद ली जाएगी. इसका उद्देश्य सूबे में महिलाओं के लिए बेहतर माहौल बनाना है.

महिला सुरक्षा चौतरफा घिरी है यूपी सरकार

बता दें कि यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार महिला सुरक्षा के मसले पर लगातार विपक्षी पार्टियों के निशाने पर है. योगी सरकार में यूपी की कानून व्यवस्था पर काफी सवाल खड़े हुए हैं. विशेष तौर पर हाथरस में एक नाबालिग युवती की कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में यूपी सरकार की खूब किरकिरी हुई है.

केवल हाथरस ही नहीं बल्कि बलरामपुर और भदोही में भी दुष्कर्म और हत्या की वारदातें सामने आईं. इस दौरान पुलिस की कार्यशैली पर भी सवालिया निशान लगे.

यूपी में मिशन शक्ति कार्यक्रम किया गया लांच

उपरोक्त घटनाओं के बाद चौतरफा घिरी योगी सरकार ने पिछले हफ्ते मिशन शक्ति कार्यक्रम की घोषणा की थी. सीएम योगी आदित्यनाथ ने मिशन शक्ति कार्यक्रम को सफल बनाने का निर्देश दिया था. इस मौके पर सीएम ने कहा था कि हमें नवरात्र के वास्तविक संदेश को आत्मसात करना होगा. सशक्त स्त्री ही समृद्ध समाज का आधार है.

मुख्यमंत्री ने कहा था कि प्रदेश की एक-एक बालिका और महिला की सुरक्षा, गरिमा और सशक्तिकरण का संकल्प लेते हुए मिशन शक्ति को सफल बनाना चाहिए. उन्होंने कहा था कि महिला सुरक्षा, गरिमा और सशक्तिकरण को जनांदोलन बनाना होगा.

Posted By- Suraj Thakur

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें