1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. lucknow
  5. newly elected mlc of up will take oath on april 26 cm and deputy cm will also be present acy

UP MLCs Oath Ceremony: नवनिर्वाचित एमएलसी 26 अप्रैल को लेंगे शपथ, सीएम और डिप्टी सीएम भी रहेंगे मौजूद

नवनिर्वाचित विधान परिषद सदस्यों के शपथ ग्रहण समारोह में यूपी सरकार के मंत्री भी मौजूद रहेंगे. विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना भी शामिल होंगे. स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र से चुने एमएलसी का शपथग्रहण होगा.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Lucknow
Updated Date
UP MLCs Oath Ceremony
UP MLCs Oath Ceremony
प्रभात खबर ग्राफिक्स

UP MLCs Oath Ceremony: उत्तर प्रदेश के नवनिर्वाचित विधान परिषद सदस्यों (MLCs) का शपथ ग्रहण समारोह 26 अप्रैल को शाम चार बजे तिलक हाल नवीन भवन में होगा. विधान परिषद सभापति कुंवर मानवेंद्र सिंह नवनिर्वाचित सदस्यों को शपथ दिलाएंगे. शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, ब्रजेश पाठक भी शामिल होंगे.

नवनिर्वाचित विधान परिषद सदस्यों के शपथ ग्रहण समारोह में यूपी सरकार के मंत्री भी मौजूद रहेंगे. विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना भी शामिल होंगे. स्थानीय प्राधिकारी निर्वाचन क्षेत्र से चुने एमएलसी का शपथग्रहण होगा.

गौरतलब है कि बीजेपी उच्च सदन में सबसे बड़ी पार्टी हो गई है. यूपी एमएलसी चुनाव 2022 का रिजल्ट 12 अप्रैल को घोषित होने के बाद बीजेपी को बहुमत मिल गया है. 27 सीटों के लिए हुए चुनाव में बीजेपी ने 24 में जीत हासिल की है. इससे पहले वह 9 सीटें निर्विरोध जीत चुकी है. इस तरह बीजेपी ने 36 में से कुल 33 सीटें जीती हैं. इसी के साथ अब विधान परिषद यानी की उच्च सदन में उसकी 68 सीटें हो गई हैं.

यूपी एमएलसी चुनाव 2022 में बीजेपी का दबदबा हो गया है. वहीं समाजवादी पार्टी इस चुनाव में शून्य पर पहुंच गई है. दो निर्दलीय सदस्य जीते घोषित किए गए हैं. इनमें एक को बीजेपी ने हाल ही में पार्टी से निकला है. जबकि दूसरा जीता सदस्य एक माफिया की पत्नी हैं. एक अन्य सदस्य राजा भैया के जनसत्ता दल लोकतांत्रिक का जीता है.

यूपी विधान परिषद में अब सपा के 17 सदस्य बचे हैं. यूपी की सीटे उच्च सदन में लगातार घट रही हैं. वहीं बीजेपी ने लगातार अपने सदस्यों की संख्या बढ़ाई है. कांग्रेस की स्थिति सबसे खराब है. उच्च सदन में मौजूद उनके एकमात्र सदस्य का कार्यकाल जुलाई में समाप्त हो रहा है. बसपा के चार, अपना दल (एस) के एक और निषाद पार्टी का एक सदस्य उच्च सदन में है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें