1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. lucknow
  5. anger across the country regarding the hathras incident protests continue in up against police action ksl

हाथरस घटना को लेकर देश भर में गुस्सा, यूपी में पुलिसिया कार्रवाई के विरोध में धरना प्रदर्शन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
दिल्ली के जंतर-मंतर पर लेफ्ट और भीम आर्मी ने किया प्रदर्शन
दिल्ली के जंतर-मंतर पर लेफ्ट और भीम आर्मी ने किया प्रदर्शन
ANI

लखनऊ / नयी दिल्ली : उत्तर प्रदेश में राजनीतिक पारा चढ़ानेवाले हाथरस कांड को लेकर देश भर में गुस्सा है. हर ओर विरोध प्रदर्शन का सिलसिला शुक्रवार को भी जारी रहा. घटना को लेकर राजधानी लखनऊ से लेकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ही नहीं, बल्कि देश के दूसरे प्रदेशों में भी विरोध प्रदर्शन हुआ.

दिल्ली जंतर-मंतर पर धरने में शामिल हुए चंद्रशेखर और सीताराम येचुरी 

दिल्ली के जंतर-मंतर पर शुक्रवार को हाथरस की घटना के विरोध में लेफ्ट और भीम आर्मी के समर्थकों ने प्रदर्शन किया. हाथरस की घटना के विरोध में आयोजित प्रदर्शन में सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी और सीपीआई नेता डी राजा शामिल हुए. सीताराम येचुरी ने कहा कि, ''यूपी सरकार को सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है. हमारी मांग है कि न्याय दिया जाये." वहीं, भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि ''मैं हाथरस का दौरा करूंगा. हमारा संघर्ष तब तक जारी रहेगा, जब तक यूपी के सीएम इस्तीफा नहीं देते, और न्याय दिया जाता है. मैं सर्वोच्च न्यायालय से घटना का संज्ञान लेने का आग्रह करता हूं."

मौन व्रत पर बैठने जा रहे सपा कार्यकर्ताओं को रोका गया

हाथरस कांड और कृषि संबंधी नये कानून के विरोध में मौन व्रत पर बैठने के लिए जा रहे समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं को शुक्रवार को हजरतगंज इलाके में पुलिस ने आगे नहीं जाने दिया. जब सपा कार्यकर्ताओं ने हजरतंगज स्थित गांधी प्रतिमा तक जाने का प्रयास किया, तो उन्हें रोक दिया गया. इस पर पार्टी नेताओं और पुलिस अधिकारियों के बीच बहस हुई. प्रदर्शन कर रहे सपा कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया.

अलीगढ़ में एएमयू के छात्रों ने किया प्रदर्शन

महिलाओं पर अपराधों के विरोध में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के छात्रों ने भी प्रदर्शन किया. हाथरस घटना और कृषि कानूनों के विरोध में मौन व्रत पर बैठने जा रहे समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को शुक्रवार को हजरतगंज इलाके में पुलिस ने रोकने का प्रयास किया. उनके नहीं रुकने पर लाठीचार्ज कर उन्हें आगे नहीं जाने दिया. वहीं, प्रदेश में महिलाओं पर बढ़ते अपराध और कथित मानवाधिकार हनन के मुद्दे को लेकर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के छात्रों ने भी विरोध प्रदर्शन किया. एएमयू के छात्रों ने मांग की है कि हर जिले में फास्ट ट्रैक अदालतों का गठन हो और कानून में बदलाव हो, ताकि बलात्कारियों को फांसी की सजा मिल सके.

दिल्ली में आयोजित की गयी प्रार्थना सभा, शामिल हुईं प्रियंका गांधी वाड्रा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा हाथरस गैंग रेप मामले की पीड़िता के लिए शुक्रवार को वाल्मीकि मंदिर में आयोजित प्रार्थना सभा में शामिल हुईं. उन्होंने कहा कि पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए सभी आवाज उठाएं. उन्होंने कहा, ''इस देश की एक-एक महिला सरकार पर नैतिक दबाव डाले. हमारी बहन के साथ न्याय होना चाहिए.'' लड़की का रात के समय और कथित तौर पर परिवार की मर्जी के बिना अंतिम संस्कार करने का हवाला देते हुए कांग्रेस महासचिव ने कहा, ''हमारे देश की ये परंपरा नहीं है कि उसका परिवार उसकी चिता को आग नहीं दे पाये.''

दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष के आवास के निकट प्रदर्शन

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा को हाथरस जाने से पुलिस द्वारा रोके जाने और कथित तौर पर धक्का-मुक्की किये जाने के विरोध में पार्टी के कई कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास के निकट प्रदर्शन किया. कुछ देर बाद ही पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया, हालांकि कुछ देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया.

उत्तर प्रदेश में पीड़िता के गांव जा रहे तृणमूल कांग्रेस नेताओं को रोका गया

तृणमूल कांग्रेस ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने हाथरस में कथित सामूहिक बलात्कार पीड़िता के परिवार के सदस्यों से मिलने से उसके नेताओं को रोक दिया. पार्टी ने कहा है कि पुलिस ने तृणमूल कांग्रेस के सांसदों के प्रतिनिधि मंडल को पीड़िता के घर से करीब 1.5 किलोमीटर दूरी पर रोक दिया. इस प्रतिनिधिमंडल में डेरेक ओ ब्रायन, डॉ काकोली घोष दस्तीदार, प्रतिमा मंडल और ममता ठाकुर (पूर्व सांसद) शामिल थे. इनमें से एक सांसद ने कहा, ''हम परिवार से मिलने और सहानुभूति व्यक्त करने के लिए शांति से हाथरस जा रहे थे. हम अलग-अलग जा रहे थे और सभी नियमों का पालन कर रहे थे. हमारे पास हथियार नहीं थे. हमें रोका क्यों गया? यह किस प्रकार का जंगलराज है, जिसमें निर्वाचित सांसदों को शोकाकुल परिवार से मिलने से रोका गया.''

राहुल गांधी के खिलाफ पुलिसिया कार्रवाई से नाराज पुडुचेरी के मुख्यमंत्री भूख हड़ताल पर बैठे

हाथरस में कथित सामूहिक बलात्कार पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे कांग्रेस नेताओं राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा के खिलाफ पुलिस के 'लापरवाह' व्यवहार से नाराज पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी और उनके साथी मंत्रियों ने शुक्रवार को यहां भूख हड़ताल की. पुडुचेरी कांग्रेस प्रमुख एवी सुब्रमण्यम ने भूख हड़ताल का नेतृत्व किया. इसमें कांग्रेस की युवा और छात्र शाखाओं के प्रतिनिधिमंडलों ने राष्ट्रीय दल द्वारा आहूत प्रदर्शन में भाग लिया.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें