UP 4th Budget 2020: योगी ने रखा सबका ख्‍याल,तलाकशुदा को पेंशन, जानें बजट की खास बातें

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

Uttar Pradesh 4th Budget 2020: उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपना चौथा बजट मंगलवार को पेश किया जिसमें हर वर्ग का ख्‍याल रखा गया है. योगी सरकार ने तलाकशुदा महिलाओं से लेकर किसानों तक को रिझाने का प्रयास किया है. वर्ष 2020-21 के लिए 5,12,860.72 करोड़ रुपये का बजट यूपी सरकार ने पेश किया है.

बजट की बात करें तो इसमें सेफ सिटी लखनऊ योजना के लिए 97 करोड़, तेजाब, बलात्कार से पीड़ितों को आर्थिक सहायता के लिए 28 करोड़, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए 1200 करोड़ रुपये योगी सरकार देगी. यही नहीं तलाकशुदा महिलाओं को 500 रुपये महीने पेंशन भी देने का प्रावधान बजट में है. आइए आपको बताते हैं योगी सरकार के बजट में और क्या है खास...

1. उत्तर प्रदेश विधानसभा में पेश हुआ राज्य के इतिहास का अब तक का यह सबसे बड़ा बजट (5 लाख 12 हजार 860 करोड़) है जिसे वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने पेश किया.

2. सेफ सिटी लखनऊ योजना के लिए 97 करोड़, तेजाब, बलात्कार से पीड़ितों को आर्थिक सहायता के लिए 28 करोड़, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के लिए 1200 करोड़ रुपये योगी सरकार देगी.

3. यूपी पुलिस को योगी सरकार और सशक्त करने का काम करेगी. पुलिस आधुनिकीकरण के लिए 122 करोड़ रुपये सरकार देगी.

4. बजट में आगरा मेट्रो के लिए 286 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गयी है जबकि तलाकशुदा महिलाओं को 500 रुपये प्रति महीने पेंशन योगी सरकार देगी.

5. अस्पतालों की सेहत सुधारने का काम भी योगी सरकार करेगी. लखनऊ के कैंसर संस्थान के लिए 187 करोड़ रुपये और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के लिए 477 करोड़ रुपये, इटावा स्थित मेडिकल कॉलेज के लिए 309 करोड़ रुपये, सैफई पीजीआई को 309 करोड़ रुपये, लखनऊ के एसजीपीजीआई के लिए 820 करोड़ रुपये, केजीएमयू लखनऊ के लिए 919 करोड़ रुपये की व्यवस्था सरकार की ओर से की जाएगी.

6. असाध्य रोगों पर योगी सरकार का खास ध्‍यान है. इसके लिए निशुल्क इलाज की व्यवस्था के लिए 40 करोड़, प्रदेश के जिला पुरुष और महिला चिकित्सालयों के विकास के लिए 70 करोड़ रुपये की व्यवस्था बजट में की गयी है.

7. एक्सप्रेस-वे को चमकाने का काम भी सरकार करने जा रही है. एक्सप्रेस-वे परियोजनाओं के लिए 3194 करोड़ रुपये बजट में है. वहीं सिंचाई क्षमता बढ़ाने के लिए 12208 करोड़ रुपये, जेवर एयरपोर्ट के लिए 800 करोड़ रुपये, अयोध्या में एयरपोर्ट के लिए 500 करोड़ रुपये की घोषणा योगी सरकार ने बजट में की है.

8. गन्ना किसानों को योगी सरकार तोहफा देगी. जी हां , गन्ने का समर्थन मूल्य 325 रुपये/क्विंटल करने का प्रस्ताव बजट में है. वहीं मनरेगा के लिए 4,800 करोड़ रुपये, मुसहर, वनटंगिया और थारू जनजातियों के आवास के लिए 370 करोड़ रुपये की व्यवस्था बजट में है.

9. काशी विश्वनाथ मंदिर पर भी बजट में ध्‍यान दिया गया है. पूर्वांचल निधि के लिए 300 करोड़ और बुंदेलखंड निधि के लिए 210 करोड़, काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए बजट में 200 करोड़ रुपये की व्यवस्था बजट में है.

10. योगी सरकार ने प्रधानमंत्री जन विकास कार्यक्रम के लिए 783 करोड़ रुपये, मान्यता प्राप्त मदरसों व मकतबों के लिए 479 करोड़ रुपये, केंद्रीय मार्ग योजना के लिए 2 हज़ार 80 करोड़ रुपये की व्यवस्था, पुलों के निर्माण के लिए 2 हज़ार 529 करोड़ रुपये, प्रधानमंत्री मातृ योजना हेतु 291 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है.

11. सड़कों पर भी योगी सरकार ने ध्‍यान केंद्रीत किया है. विश्व बैंक की सहायता से प्रस्तावित उत्तर प्रदेश कोर रोड नेटवर्क परियोजना के लिए 830 करोड़ रुपये, ग्रामीण मार्गो के निर्माण हेतु 2305 करोड़ , राज्य सड़क निधि हेतु 1500 करोड़, मार्गों के अनुरक्षण हेतु 3 हज़ार 524 करोड़ रुपये की घोषणा योगी सरकार ने की है.

12. मुख्यमंत्री शिक्षुता प्रोत्साहन योजना के लिए 100 करोड़ रुपये बजट में है जिसके तहत युवाओं को प्रशिक्षण के दौरान 2500 रुपये का स्टाइपेंड योगी सरकार देगी.

13. योगी सरकार ने दिव्यांगों को 500 रुपये प्रतिमाह पेंशन के लिए 621 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है. यही नहीं मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के लिए 250 करोड़ रुपये की व्यवस्था, समग्र शिक्षा अभियान के लिए 18363 करोड़ रुपये की व्यवस्था, राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के तहत 111 करोड़ रुपये की व्यवस्था की घोषणा बजट में की गयी है.

पर्यटन पर विशेष जोर
उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से विधानसभा में पेश 2010-21 के बजट में पर्यटन क्षेत्र पर विशेष जोर दिया गया है. वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सदन में बजट पेश किया. उन्होंने कहा कि अयोध्या में उच्च स्तरीय पर्यटक अवसंरचना के विकास के लिए 85 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गयी है जबकि अयोध्या हवाई अड्डे के लिये 500 करोड़ रूपये का प्रस्ताव किया गया है. खन्ना ने कहा कि वाराणसी में संस्कृति केंद्र की स्थापना के लिए 180 करोड़ रूपये का प्रस्ताव है जबकि काशी विश्वनाथ मंदिर के लिए 200 करोड रूपये का प्रावधान किया गया है. गोरखपुर के रामगढ़ ताल में वाटर स्पोर्ट्स के लिए 25 करोड़ रुपये की व्यवस्था बजट में है. उन्होंने बताया कि मेरठ, गाजियाबाद, फिरोजाबाद, अयोध्या, गोरखपुर, मथुरा-वृंदावन और शाहजहांपुर को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किया जायेगा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें