रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा के कहने पर ही चिन्मयानंद से मांगी गयी थी रंगदारी, SIT के पास पुख्‍ता सबूत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

शाजहजांपुर : भाजपा नेता और पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली 23 वर्षीय छात्रा को रंगदारी मांगने के मामले में बुधवार सुबह गिरफ्तार किया गया. छात्रा को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. गिरफ्तारी को लेकर एसआईटी प्रमुख नवीन अरोड़ा का बयान भी आया है.

एसआईटी प्रमुख ने कहा है कि चिन्मयानंद से रंगदारी की मांग करने के मामले में लॉ की छात्रा को पर्याप्त सबूतों के बाद ही गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा कि छात्रा के कहने पर ही चिन्मयानंद से पांच करोड़ रूपये की रंगदारी मांगी गयी थी. पुलिस सूत्रों के अनुसार छात्रा को सुबह लगभग नौ बजे उसके घर से गिरफ्तार किया गया.

उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि साक्ष्य एकत्र किये गये और दस्तावेजी बयान लिये गये. कुछ ऐसे साक्ष्य थे जो फॉरेंसिक लैब भेजे गये मसलन पेन ड्राइव एवं मोबाइल फोन... 24 सितंबर, मंगलवार की रात को एफएसएल से रिपोर्ट मिली. रात को भी छात्रा से पूछताछ की गयी थी. सुबह हम साक्ष्यों के साथ उसके आवास पर गये.

एसआईटी प्रमुख ने बताया कि हमने लड़की से गहन पूछताछ की. सारे वीडियो दिखाये, आवाज सुनाई. उन्होंने बताया कि इस बात का स्पष्ट साक्ष्य है कि पांच करोड़ रूपये की मांग की गयी थी. गिरफ्तार अन्य आरोपियों ने बताया कि लड़की के कहने पर ही उन्होंने चिन्मयानंद को व्हाटस एप मैसेज किया था.

अरोड़ा ने बताया कि एसआईटी ने सारे डिजिटल साक्ष्य लिये और उनके आधार पर लड़की से पूछताछ की. सबकी लोकेशन चेक करायी गयी. उन्होंने बताया कि जब पर्याप्त साक्ष्य हो गये तो तय हुआ कि लड़की को अब गिरफ्तार किया जा सकता है. अरोड़ा ने बताया कि कोतवाली थाने में मामला दर्ज कराया गया और लड़की को अदालत में पेश किया. अदालत ने लड़की को सात अक्तूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है.

सूत्रों ने बताया कि निरीक्षक दलबीर सिंह के नेतृत्व में गयी पुलिस टीम ने छात्रा को गिरफ्तार किया. उसे अदालत में पेश करने से पहले चिकित्सकीय जांच के लिए ले जाया गया. आपको बता दें कि स्वामी से पांच करोड रुपये की रंगदारी मांगने के मामले में चार आरोपियों में छात्रा भी शामिल है. तीन आरोपी पहले ही गिरफ्तार किये जा चुके हैं.

वायरल वीडियो

गौर हो कि स्वामी को पिछले दिनों ही में गिरफ्तार किया गया था. उनकी गिरफ्तारी के बाद रंगदारी वसूलने के मामले में छात्रा की गिरफ्तारी की मांग भी उठी थी. एलएलएम की पढ़ाई कर रही पीड़िता ने 24 अगस्त को एक वीडियो वायरल किया था. उसके बाद एक अन्य वीडियो वायरल हुआ, जिसमें पीड़िता संजय, विक्रम और सचिन के साथ कार में बैठी है और रंगदारी मांगने के बारे में चर्चा कर रही है.

एसआईटी ने इस प्रकरण में संजय, विक्रम और सचिन के अलावा 'मिस ए' यानी पीड़िता को आरोपी बनाया है. इसी मामले में पूर्व एमएलसी व भाजपा नेता जयेश प्रसाद ने भी पीड़िता की गिरफ्तारी की मांग की थी और स्वामी चिन्मयानंद के गिरते स्वास्थ्य पर चिंता जतायी थी. स्वामी को सीने में दर्द और निम्न रक्तचाप की शिकायत के बाद सोमवार को लखनऊ में एसजीपीजीआई के कार्डियालोजी विभाग में भर्ती कराया गया था.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें