अवैध खनन मामले में अखिलेश बोले - पूछताछ हुई तो दूंगा सीबीआई को जवाब

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

लखनऊ : समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने कार्यकाल में हुए कथित अवैध खनन मामले पर सीबीआई की कार्यवाही के बाद खुद से पूछताछ की आशंका के बारे में रविवार को कहा कि वह सीबीआई को जवाब देने के लिए तैयार हैं, मगर भाजपा यह याद रखे कि वह जिस संस्कृति को छोड़कर जा रही है, कल उसे भी उसका सामना करना पड़ेगा.

अखिलेश ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में खुद पर सीबीआई जांच की आंच पड़ने की आशंका के सवाल पर कहा, सपा इस कोशिश में है कि ज्यादा से ज्यादा लोकसभा सीटें जीते. जो हमें रोकना चाहते हैं, उनके पास सीबीआई है. एक बार कांग्रेस ने सीबीआई जांच करायी थी, तब भी पूछताछ हुई थी. अगर, भाजपा यह सब करा रही है और सीबीआई पूछताछ करेगी तो हम जवाब देंगे. मगर जनता भाजपा को जवाब देने के लिए तैयार है. उन्होंने कहा, आखिर सीबीआई छापेमारी क्यों कर रही है. जो पूछना है हमसे पूछ ले, लेकिन भाजपा के लोग यह याद रखें कि जो संस्कृति वे छोड़कर जा रहे हैं, उसका कल उन्हें भी सामना करना पड़ेगा. अखिलेश ने तंज भरे लहजे में कहा कि अब तो सीबीआई को बताना पड़ेगा कि हमने गठबंधन में कितनी-कितनी सीटें बांटी हैं. मुझे खुशी है इस बात की कि कम से कम भाजपा ने अपना रंग दिखा दिया. पहले कांग्रेस ने हमें सीबीआई से मिलने का मौका दिया था. इस बार भाजपा यह मौका दे रही है.

उन्होंने कहा कि भाजपा ने राजनीतिक शिष्टाचार ही खत्म कर दिया. भाजपा चाहती है कि जैसा उसका सियासी शिष्टाचार है, वैसा ही दूसरे दलों का भी हो जाये. मगर, हम अपना राजनीतिक शिष्टाचार नहीं बदलेंगे. अगर कांग्रेस चोर बोल रही है, तो भाजपा चाहती है कि हम भी उसे चोर बोलें. मालूम हो कि पूर्ववर्ती सपा सरकार के शासनकाल में वर्ष 2012 से 2016 के बीच राज्य में हुए कथित खनन घोटाला मामले में सीबीआई ने शनिवारको लखनऊ में आईएएस अफसर बी चंद्रकला के घर पर छापा मारा था. सीबीआई ने बुंदेलखंड में अवैध खनन के मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश पर चंद्रकला समेत 11 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया था. वर्ष 2012-13 में खनन विभाग तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पास था. लिहाजा माना जा रहा है कि सीबीआई इस मामले में उनसे भी पूछताछ कर सकती है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें