#VivekTiwari हत्याकांड : SIT जांच शुरू, परिजन से मिले यूपी के उपमुख्‍यमंत्री मौर्य

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

लखनऊ :उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिसकर्मियों की गोलियों के शिकार हुए विवेक तिवारी का रविवार को यहां बैकुंठधाम में अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस मौके पर प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक और क्षेत्रीय भाजपा विधायक आशुतोष टण्डन भी मौजूद थे. इस बीच बहुराष्ट्रीय कम्पनी एप्पल के अधिकारी तिवारी की हत्या मामले में गठित विशेष जांच टीम (एसआईटी) ने रविवार को जांच शुरू कर दी.

इधर एडीजी ने बताया कि विवके तिवारी के परिवार को 24 घंटे सुरक्षा दी जा रही है. साथ ही उन्‍होंने कहा कि अगर परिवार की इच्‍छा हुई तो सीबीआई जांच भी की जाएगी. एडीजी ने कहा, यह एक गंभीर घटना है, इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जीएगी. यह सुनिश्चित करने के लिए कि ऐसी घटना दोबारा न हो हमने अफसरों को कड़े निर्देश दिये हैं.

उत्तर प्रदेश के डेप्युटी सीएम केपी मौर्य ने विवेक तिवारी के परिवारवालों से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि सरकार इस घटना से दुखी है और वह परिवार के साथ खड़ी है. ऐसी घटना फिर न हो इसके लिए जरूरी कदम उठाये गये हैं. उन्‍होंने कहा, इस घटना के जिम्मेदार लोगों को कड़ी सजा दी जाएगी.

लखनऊ जोन के पुलिस महानिरीक्षक सुजीत पाण्डेय ने यहां संवाददाताओं को बताया कि एसआईटी और फोरेंसिक टीम ने उस जगह पर पहुंचकर तफ्तीश शुरू की जहां शुक्रवार/शनिवार की मध्यरात्रि को पुलिस कांस्टेबल प्रशांत चौधरी द्वारा चलायी गोली लगने से विवेक तिवारी की मौत हो गयी थी.

उन्होंने बताया कि टीम ने पुलिस की मोटरसाइकिल गिरने के स्थान का जायजा लेने के साथ-साथ हर चीज की विस्तार से जांच की. मौके पर मौजूद शीशे के टुकड़े एकत्र किये. टायर के निशान और जहां गाड़ी टकरायी, वहां की नापजोख वगैरह की गयी है. जांच में ये चीजें बहुत महत्वपूर्ण हो सकती हैं.

पाण्डेय ने कहा कि जो प्रत्यक्षदर्शी आज मौके पर नहीं पहुंचे, उन्हें बाद में ले जाया जाएगा. हमारे सामने जो मुद्दे हैं, उन पर अभी बहुत काम किया जाना बाकी है. हर पहलू की जांच के बाद ही हम रिपोर्ट देंगे. लखनऊ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक राजीव कृष्ण ने इस मौके पर बताया कि उनकी विवेक तिवारी के परिजन से बात हुई है. लेकिन उन्होंने उसका ब्यौरा प्रेस से साझा नहीं किया.

उन्होंने कहा कि एसआईटी सभी परिस्थितियों की जांच करेगी. उन्होंने हत्यारोपी पुलिसकर्मी प्रशांत चौधरी का जिक्र आने पर कहा कि पुलिस बल में ऐसे तत्व बहुत कम हैं. प्रदेश के पास अच्छा पुलिस बल है. उसमें इस तरह के गलत तत्व हैं तो उनके खिलाफ कार्रवाई करना हमारी जिम्मेदारी है. इस सवाल पर कि कुछ पुलिसकर्मियों ने प्रशांत चौधरी के बचाव में चंदा एकत्र कर उसकी पत्नी के खाते में डाला है, कृष्ण ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है.

विवेक तिवारी का फाइल फोटो

#VivekTiwari हत्याकांड : SIT जांच शुरू, परिजन से मिले यूपी के उपमुख्‍यमंत्री मौर्य

इस मौके पर प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक और क्षेत्रीय भाजपा विधायक आशुतोष टंडन भी मौजूद थे. पाठक ने बाद में संवाददाताओं से कहा कि वारदात दुर्भाग्यपूर्ण है और संकट की इस घड़ी में सरकार तिवारी के परिजन के साथ खड़ी है. सरकार परिवार को जल्द न्याय दिलाने के लिए हत्यारोपी पुलिसकर्मियों प्रशांत चौधरी और संदीप कुमार के खिलाफ मुकदमे की सुनवाई फास्ट ट्रैक अदालत में कराने की कोशिश करेगी.

शोक में डूबी विवेक की पत्नी और परिजन

#VivekTiwari हत्याकांड : SIT जांच शुरू, परिजन से मिले यूपी के उपमुख्‍यमंत्री मौर्य

इसे भी पढ़ें...

साथ ही गृह विभाग के प्रमुख सचिव और पुलिस महानिदेशक से कहा जाएगा कि बड़े शहरों में संवेदनशील पुलिसकर्मियों को तैनात किया जाए. प्रदेश के पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह ने कहा कि कीमती जान के नुकसान की कोई माफी नहीं हो सकती. वह तिवारी की दो छोटी बच्चियों, उनकी पत्नी तथा परिवार के सदस्यों को लेकर बेहद गमज़दा हैं. इस घटना को अंजाम देने वाले पुलिसकर्मियों का यह आपराधिक बर्ताव अक्षम्य है. हम ऐसे वर्दीधारियों को सजा देने के लिए संकल्पबद्ध हैं, जिन्होंने हमें शर्मसार किया है.

लाल टी-शर्ट्स पहने इसी कांस्‍टेबल की गोली से हुई थी विवेक की मौत

#VivekTiwari हत्याकांड : SIT जांच शुरू, परिजन से मिले यूपी के उपमुख्‍यमंत्री मौर्य

मालूम हो कि राजधानी लखनऊ के गोमती नगर क्षेत्र में शुक्रवार और शनिवार की दरम्यानी रात कथित तौर पर वाहन नहीं रोकने पर एक सिपाही ने एप्पल कंपनी के अधिकारी विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्या कर दी थी. गोली मारने के आरोपी पुलिसकर्मी प्रशांत चौधरी और उसके साथ संदीप के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया गया है.

इसे भी पढ़ें...

दोनों को बर्खास्त भी कर दिया गया है. वारदात में मारे गए तिवारी की पत्नी कल्पना ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर मामले की सीबीआई जांच की मांग की है. साथ ही पुलिस विभाग में नौकरी देने और परिवार का भविष्य सुरक्षित करने के लिए एक करोड़ रुपये मुआवजे की भी मांग की है.

इसी गाड़ी में थे विवेक. गाड़ी में गोली का निशान.

#VivekTiwari हत्याकांड : SIT जांच शुरू, परिजन से मिले यूपी के उपमुख्‍यमंत्री मौर्य

इसे भी पढ़ें...

मुख्यमंत्री योगी ने इस घटना पर कहा कि प्रथम दृष्ट्या दोषी पुलिसकर्मियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा. आवश्यकता पड़ेगी तो मामले की सीबीआई जांच करायी जाएगी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें