1. home Home
  2. state
  3. up
  4. kanpur
  5. bjp minister nand gopal gupta nandi targeted akhilesh yadavs statement about jinnah sht

Kanpur News: जिन्ना प्रेम में बुरे फंसे अखिलेश यादव, ओवैसी के बाद योगी के मंत्री ने दिया बड़ा बयान

योगी सरकार के मंत्री सोमवार कानपुर में एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे. यहां उन्होंने अखिलेश यादव के जिन्ना को लेकर दिए गये बयान को लेकर हमला बोला.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी
नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी
प्रभात खबर

Kanpur News: सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के मोहम्मद अली जिन्ना पर दिए गए बयान को लेकर बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा. ऐसे में अब योगी सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने अखिलेश यादव के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है.

नंदी ने कहा है कि अखिलेश अपनी बचपना करने वाली हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं. उन्होंने कहा कि, अखिलेश का बचपना जगजाहिर है. साल 2012 से 2017 तक जब समाजवादी पार्टी की सरकार उत्तर प्रदेश में थी, तो उन्होंने 5 साल अपनी सरकार में केवल वीडियो गेम खेला और उत्तर प्रदेश के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया.

नंद गोपाल नंदी ने आगे कहा कि, अखिलेश यादव थूक कर चाटने वाले राजनेता हैं. उन्हें पिता से विरासत में कुर्सी मिली है. उन्होंने इसके लिए कभी संघर्ष नहीं किया और इसकी कीमत शायद इसीलिए अखिलेश यादव नहीं जानते हैं. कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने उत्तर प्रदेश को लूटा है और बीएसपी चीफ मायावती पैसे लेकर टिकट बांटती आई हैं.

बता दें की योगी सरकार के मंत्री से पहले अखिलेश यादव के जिन्ना प्रेम पर एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने भी उनपर जमकर निशाना साधा. असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव को देश के इतिहास की जानकारी नहीं है.

एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि अखिलेश यादव को समझना चाहिए कि भारतीय मुसलमानों का मुहम्मद अली जिन्ना से कोई वास्ता नहीं है. हमारे पूर्वजों ने टू नेशन थ्योरी को खारिज कर दिया था. उन्होंने भारत में रहना चुना था.

असदुद्दीन ओवैसी ने आगे कहा कि अखिलेश यादव को लगता है कि ऐसे बयानों से समाज में रहने वाला एक हिस्सा खुश हो सकता है तो वो गलत हैं. उन्हें अपने सलाहकारों को बदल देना चाहिए. अखिलेश यादव को खुद को शिक्षित करना चाहिए. ओवैसी ने अखिलेश यादव को इतिहास पढ़ने की सलाह भी दी.

रिपोर्ट- आयुष तिवारी

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें