1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. gorakhpur
  5. uttar pradesh 13 years old boy recovered from custody of kidnappers in basti gorakhpur rkt

UP: गोरखपुर STF को बड़ी कामयाबी, कपड़ा व्‍यवसायी के 13 साल के बेटे को किडनैपर्स के चंगुल से कराया मुक्‍त

बस्ती जिले के एक कपड़ा व्यापारी के 13 साल की बेटे को बदमाश किडनैप कर गोरखपुर ले गए और व्यापारी से 50 लाख की फिरौती मांगी. 23 अप्रैल की शाम को अशोक कसौधन अपने घर से सब्जी लेने के लिए बाजार गया था, तभी एक बाइक पर सवार दो बदमाशों ने अखंड को बहला-फुसलाकर अपनी बाइक पर बैठा लिया.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Gorakhpur
Updated Date
गोरखपुर STF को बड़ी कामयाबी
गोरखपुर STF को बड़ी कामयाबी
प्रभात खबर

Uttar Pradesh News: गोरखपुर एसटीएफ को एक बड़ी सफलता हासिल हुई है. बस्ती जिले से अगवा 13 साल के अखंड कसौधन को एसटीएफ टीम ने अपराधियों के चंगुल से मुक्त कराया है. गोरखपुर के सहजनवा क्षेत्र के सगे भाइयों ने रंगदारी के लिए 13 साल के मासूम का अपहरण किया था. अपहरणकर्ता सहजनवा इलाके के शिवपुरी कॉलोनी के एक किराए के मकान में बच्चे को बंधक बना कर रखा था. अपहरण के आरोपी सूरज सिंह और आदित्य सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

आपको बता दें बस्ती जिले के एक कपड़ा व्यापारी के 13 साल की बेटे को बदमाश किडनैप कर गोरखपुर ले गए और व्यापारी से 50 लाख की फिरौती मांगी. बस्ती जिले की रुधौली नगर पंचायत के गांधी नगर वार्ड में एक कपड़ा व्यापारी अशोक कसौधन अपने परिवार के साथ रहते हैं. 23 अप्रैल की शाम को अशोक कसौधन का 13 वर्षीय पुत्र अखंड उर्फ अनुज अपने घर से सब्जी लेने के लिए बाजार गया था, तभी एक बाइक पर सवार दो बदमाशों ने अखंड को बहला-फुसलाकर अपनी बाइक पर बैठा लिया.

बदमाश अखंड के पिता अशोक कसौधन से फोन करके उसके बेटे को छोड़ने की एवज में 50 लाख रुपये की रंगदारी की मांग कर रहे थे. जिसके बाद अशोक कसौधन ने पूरी घटना की जानकारी बस्ती पुलिस को दी. जिस नंबर से फिरौती मांगी गई थी उस नंबर को पुलिस ने जब ट्रेस किया तो वह नंबर एक शिवा नाम के युवक का निकला. जिसके बाद पुलिस उस नंबर को ट्रेस करके जब युवक तक पहुंची तो वह एक चाय बेचने वाला निकला. पूछताछ में उसने बताया कि अपहरणकर्ता अपनी मोबाइल खराब होने का बहाना बनाकर चाय वाले से फोन मांग कर फोन किया और रंगदारी मांगी थी.

पुलिस ने उस एरिया का सीसीटीवी फुटेज खंगालना शुरू किया जिस रास्ते से अपहरणकर्ता बच्चे को लेकर गए थे. उस एरिया के सीसीटीवी को खंगालने पर दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज से उसका मिलान किया. जिसके बाद किडनैपर की पहचान हुई. गोरखपुर एसटीएफ यूनिट के इंस्पेक्टर सत्य प्रकाश सिंह के मुताबिक बदमाशों ने गोरखपुर के सजनवा इलाके में एक किराए के मकान में छोटे से कमरे में बच्चे का हाथ बांधकर रखा हुआ था. बच्चे के साथ वह अपहरणकर्ता मारपीट भी करते थे. अपहरणकर्ता बच्चे को पानी तक नहीं देते थे. बच्चे को छोड़ने की एवज में बच्चे की पिता से अपहरणकर्ता 50 लाख रुपये की रंगदारी की मांग की थी. एसटीएफ गोरखपुर और पुलिस टीम ने शनिवार को बच्चे को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से मुक्त कराया है.

आपको बता दें एसटीएफ और पुलिस टीम ने अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया है दोनों अपहरणकर्ताओं की पहचान गोरखपुर के सहजनवा थाना क्षेत्र के पाली निवासी सूरज सिंह और आदित्य सिंह के रूप में हुई है यह दोनों सगे भाई हैं. पूछताछ में उन्होंने बताया कि अपहरण बच्चे की पिता की दुकान पर एक साल से कपड़े की सप्लाई करते थे. इस दौरान दुकान पर दोनों का आना जाना लगा रहता था और इसी दौरान उन लोगों ने बच्चे से भी परिचय बना ली थी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें