1. home Home
  2. state
  3. up
  4. gorakhpur
  5. shivpal singh yadav ready to merger with akhilesh yadav samajwadi party abk

गाड़ियों का काफिला, चांदी का मुकुट, सिक्कों से तुलादान, गोरखपुर में शिवपाल ने ऐसे बदलाव का किया ऐलान

शिवपाल यादव ने कहा कि भाजपा को हटाने के लिए वो किसी भी तरह का समझौता कर सकते हैं. अखिलेश कहेंगे तो सपा में विलय को भी तैयार हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Gorakhpur
Updated Date
Shivpal Singh Yadav In Gorakhpur
Shivpal Singh Yadav In Gorakhpur
सोशल मीडिया

UP Chunav 2022: सामाजिक परिवर्तन रथ यात्रा लेकर गोरखपुर पहुंचे प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्‍होंने कहा कि भाजपा ने जो वादे किए, उसे पूरा नहीं किया. कालाधन वापस नहीं ला पाए. नोटबंदी और जीएसटी से जनता को फायदा नहीं हुआ. महंगाई चरम पर पहुंच गई है. शिवपाल यादव ने कहा कि भाजपा को हटाने के लिए वो किसी भी तरह का समझौता कर सकते हैं. अखिलेश कहेंगे तो सपा में विलय को भी तैयार हैं.

प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव लंबी गाड़ियों के काफिले के साथ सामाजिक परिवर्तन रथ लेकर गोरखपुर पहुंचे. मंच पर उनका चांदी का मुकुट पहनाकर स्‍वागत किया. कार्यकताओं ने 80 हजार रुपए के सिक्कों से उनका तुलादान किया. इन सबके बीच जनसभा स्थल पर खाली कुर्सियां और महज दो से तीन सौ लोगों की भीड़ चर्चा का विषय बनी रही. जनसभा में शिवपाल यादव ने कहा कि उन्हें बेहद खुशी है कि छठ मईया के त्योहार में बाबा गोरखनाथ की धरती पर आने का मौका मिल गया है.

शिवपाल यादव ने कहा कि आजादी की लड़ाई में बिस्मिल जैसे क्रांतिकारी यहां शहीद हुए हैं. बहुत से साहित्यकार यहां जन्म लिए हैं. सामाजिक परिवर्तन रथ कृष्ण जी की जन्मभूमि से शुरू होकर बाबा गोरखनाथ की धरती पर आई है. अब परिवर्तन होना ही है. भाजपा ने भगवान राम और गंगा की भी कसम खाई थी. गंगा आज भी मैली है. उनका पहला नारा था कि काला धन लाएंगे. सभी के खाते में 15-15 लाख रुपए डालेंगे. सारे वादे झूठे निकले. भ्रष्टाचार नहीं खत्म हुआ. बिना रिश्वत के कुछ नहीं होता.

शिवपाल यादव ने कहा मोदी सरकार में सिर्फ अडानी-अंबानी को फायदा हुआ. रेलवे से लेकर अन्य सरकारी सेक्टर का निजीकरण हो रहा है. वो किसानों की जमीन भी उद्योगपतियों को देना चाहते हैं. कोरोना संकट में कितने बेरोजगार हुए. फैक्ट्रियों और रेल में कोरोना नहीं फैला. दूसरी लहर में कितने लोग चले गए. नोटबंदी और जीएसटी से उद्योगपतियों और भाजपा के कई बड़े नेताओं को फायदा हुआ है. उत्तर प्रदेश में विपक्ष का कोई चेहरा दिखाई नहीं देता है. यही वजह है कि वो निकले हैं.

(रिपोर्ट: अभिषेक पांडेय, गोरखपुर)

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें