1. home Home
  2. state
  3. up
  4. gorakhpur
  5. navratri 2021 yogi adityanath ram navami puja in dussehra gorakhpur uttar pradesh avi

Navratri 2021: शक्ति कलश की स्थापना करेंगे सीएम योगी, नौ दिन व्रत रहते हैं गोरक्षपीठाधीश्वर

कलश स्थापना के बाद नौ दिन तक दुर्गा सप्तशती का पाठ गोरक्षपीठाधीश्वर के द्वारा किया जाता है. हालांकि सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ लखनऊ में ही सप्तशती पाठ करते हैं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
navratri 2021
navratri 2021
Twitter

देशभर में आज से शैल्य देवी की पूजा के साथ ही शारदीय नवरात्रि की शुरूआत हो गई है. नवरात्रि मनाने की परंपरा गोरक्षपीठ में वर्षों से चली आ रही है, जिसका निर्वहन सीएम बनने के बाद भी सीएम योदी आदित्यनाथ करते हैं. नवरात्रि में सीएम कलश स्थापना कर नौ दिन व्रत करते हैं.

बताया जाता है कि नवरात्रि के पहले दिन गोरखनाथ मंदिर के भैरो की अक्षत, पुष्प, माला, धूप, अगरबत्ती से पूजा होती है. इसके बाद सभी संत एक साथ मंदिर से निकलते हैं. इस दौरान गोरक्षपीठाधीश्वर के साथ संस्कृत विद्यालय के आचार्य, छात्र व मंदिर के कर्मचारी घंटा के साथ शोभायात्रा में शामिल होते हैं. शोभायात्रा बगल के भीम सरोवर तक जाती है. यहीं पर कलश स्थापना के लिए गोरक्षपीठाधीश्वर जल भरते हैं.

वहीं कलश स्थापना के बाद नौ दिन तक दुर्गा सप्तशती का पाठ गोरक्षपीठाधीश्वर के द्वारा किया जाता है. हालांकि सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ लखनऊ में ही सप्तशती पाठ करते हैं. वहीं गोरखपुर में मंदिर के पुजारी पाठ करते हैं.

बताया जाता है कि गोरखपुर के गोरक्षपीठ में शिव और शक्ति की आराधना की वर्षों परंपरा रही है. गोरखपुर मठ के पहले तल पर स्थापित शक्ति मंदिर में नवरात्रि पूरे 10 दिन अनवरत साधना चलती रहती है. नवरात्रि की पूर्णाहुति पर भगवान श्रीराम के राजतिलक करने की परंपरा का भी पालन यहां किया जाता है. बता दें कि शास्त्रों के मुताबिक विजयदशमी को भगवान श्रीराम ने रावण का वध किया था. गोरखपुर मठ में विजयदशमी के दिन राघव और शक्ति मिलन में गोरक्ष पीठाधीश्वर खुद मौजूद रहते हैं.

सीएम योगी ने ट्वीट कर लोगों को दी शुभकामनाएं- वहीं शारदीय नवरात्रि के पहले दिन यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर शुभकामनाएं दी है. उन्होंने लिखा, 'ॐ देवी शैलपुत्र्यै नमः. शक्ति व विजय के प्रतीक पावन पर्व शारदीय नवरात्रि की सभी प्रदेशवासियों व भक्तों को हार्दिक बधाई व शुभकामनाएं. माँ शैलपुत्री से प्रार्थना है कि हम सभी को सुख-सिद्धि तथा आनन्दमय जीवन प्रदान करें. जय माता दी!.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें