1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. ballia
  5. maulana saad had come out to share death a murder case should be filed wasim rizvi

मौत बांटने निकले थे मौलाना साद, दर्ज हो हत्या का मुकदमा : वसीम रिजवी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
मौत बांटने निकले थे मौलाना साद, दर्ज हो हत्या का मुकदमा : वसीम रिजवी
मौत बांटने निकले थे मौलाना साद, दर्ज हो हत्या का मुकदमा : वसीम रिजवी

लखनऊ : कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद भी दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात आयोजित कराने के मामले में मौलाना साद पर चारों तरफ से हमला हो रहा है. शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड चेयरमैन वसीम रिजवी लगातार इस मामले में हमला बोल रहे हैं. वसीम रिजवी ने निजामुद्दीन मरकज में तब्लीगी जमात के मुखिया मो. साद पर हत्या का मुकदमा दर्ज करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि तब्लीगी जमात ने देश में मस्जिदों से मौत बांटने का काम किया है. ऐसे में जमात या फिर इनके कारण किसी दूसरे की मृत्यु होने पर उसका दोषी मौलाना मोहम्मद साद को मानते हुए मृत्युदंड से कम सजा न दी जाये.शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा कि निजामुद्दीन मरकज के मौलाना साद के खिलाफ हत्या का केस दर्ज हो.

रिजवी ने कहा कि वहाबी जमातियों को देखकर ऐसा लगता है कि उनका अल्लाह कोई और है, क्योंकि वह कहते हैं कि यह महामारी अल्लाह ने दी है और बंदों को इसके लिए अल्लाह से तौबा करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर जमात में शामिल लोगों की वजह से कोरोना वायरस तेजी से फैलता है और किसी की भी मौत उस संक्रमण से होती है तो निजामुद्दीन मरकज के मौलाना मोहम्मद साद के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज होना चाहिए. वसीम रिजवी ने कहा कि अल्लाह की इबादत करना और उससे तौबा करना अच्छी बात है, लेकिन अल्लाह कभी अपने बंदों पर जुल्म नहीं करता. यहां पर असल में यह कुछ इंसानों की गलतियां हैं, जिसे दुनिया भर के इंसानों को झेलना पड़ रहा है.वसीम रिजवी ने एक वीडियो पर कहा कि कुछ मुसलमान झूम-झूम कर छींक रहे हैं. अगर यह वीडियो सही है तो कट्टरपंथी मुसलमानों की मस्जिदों और मदरसों में कोरोना बम तैयार किये जा रहे हैं.

उन्होंने देश के सभी मुसलमानों से कट्टरपंथियों के चक्कर से बाहर निकलने की भी अपील की. इससे पहले वसीम रिजवी ने दिल्ली के निजामुद्दीन में हुए मामले पर मौलाना मोहम्मद साद पर आरोप लगाये. रिजवी ने कहा कि दिल्ली निजामुद्दीन से तब्लीगी जमात के लोग मौत बांटने निकले थे.ओसामा व अबु बकर बगदादी ने भी की थी तब्लीगी जमात की मददसैयद वसीम रिजवी ने कहा कि तब्लीगी जमात मुसलमानों का एक खतरनाक समूह है जो पूरी दुनिया में इस्लाम के प्रचार के नाम पर मुसलमान लड़कों को कट्टरपंथी बनाता है. इनका काम है- चार-चार, पांच-पांच के गुटों में शहरों-शहरों और गांव-गांव जाते हैं और मुसलमान लड़कों को रोककर उनको इस्लाम की बातें बताते हैं.

रिजवी ने कहा कि यह जमात पूरी दुनिया में फैली है, हिंदुस्तान में भी इसके लाखों सदस्य हैं. चाहे अबु बकर बगदादी हो, या ओसामा बिन लादेन- यह सब तब्लीगी जमात के मददगार थे. तब्लीगी जमात को दुनिया के कट्टरपंथी और आतंकी मुल्ला ही चला रहे हैं. रिजवी ने कहा कि इनके पास पूरी दुनिया से पैसा आता है. यह कहा जाता है कि इस पैसे से मुस्लिम लड़कों को कट्टरपंथी बनाएं और इस्लाम का ऐसा प्रचार करें जिससे वह यह समझें कि अगर अल्लाह की राह में कुर्बानी भी देनी पड़ जाये तो देने से पीछे ना हटें.

यह दुनिया तो खत्म हो जायेगी, दुनिया में जो भी इंसान आया है वह चंद दिनों के लिए आया है, असली जिंदगी उसको अल्लाह के लिए ही जीनी है. इस्लाम की बातों पर अमल करोगे और अल्लाह की राह में कुर्बानी के लिए हर वक्त तैयार रहोगे, तो अल्लाह तुमको मरने के बाद जन्नत में रखेगा और हर ऐशो आराम देगा.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें