1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. ayodhya ram mandir bhumi pujan kab hai history ram mandir bhumi pujan date time muhurt status poster video live update of guest list arrangements donations pm modi and cm yogi part of lord ram temple nirman ayodhya changed in police camp due to pm modi program corona transition in bhoomi pujan became a challenge for administration

Ram mandir bhumi pujan date, time, muhurt LIVE Updates: मध्यप्रदेश के उपचुनाव क्षेत्र में पांच लाख लड्डू बांटेगी भाजपा, कांग्रेस ने जतायी आपत्ति

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
PM Modi (File Photo)
PM Modi (File Photo)
Social Media

ram mandir bhumi pujan date, time, muhurt, status, poster, video, LIVE Updates: अयोध्या के हनुमानगढ़ी मंदिर में राम अर्चना के साथ पूजा शुरू हो गई है. कल बुध्रवार को रामलला के मंदिर निर्माण का भूमिपूजन होगा. पीएम मोदी राम मंदिर के भूमिपूजन के लिए 5 अगस्त को अयोध्या आ रहे हैं. अयोध्या सहित पूरे देश में इसे लेकर उत्साह का माहौल है. लेकिन कोरोना संक्रमण से श्रीरामजन्मभूमि को कोरोना फ्री बनाए रखना बड़ी चुनौती है. जिसे लेकर तैयारियां भी की जा रही है. इसी क्रम में अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि के1 किमी के इलाके में मौजूद हर व्यक्ति का कोरोना टेस्ट किया जा रहा है.वहीं पुरे प्रदेश की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. अयोध्या में एसपीजी ने कमान थाम ली है. सूबे में कई खुफिया एजेंसियां भी सक्रिय है.

email
TwitterFacebookemailemail

श्री राम जन्मभूमि परिसर में श्री रामार्चा पूजन का अनुष्ठान आज प्रातः काल प्रारम्भ हुआ. यह शिलान्यास कार्यक्रम तक जारी रहेगा.

email
TwitterFacebookemailemail

भव्य मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम को हम महोत्सव की तरह मनायेंगे : भाजपा

इंदौर : अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर शिलान्यास के मौके पर मध्यप्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा ने इंदौर जिले के सांवेर विधानसभा क्षेत्र में घर-घर जाकर करीब पांच लाख लड्डुओं का प्रसाद बांटने की घोषणा की है. अनुसूचित जाति के लिये आरक्षित इस क्षेत्र में उपचुनाव होने वाले हैं. उधर, प्रमुख विपक्षी कांग्रेस ने घर-घर लड्डू बांटे जाने से कोविड-19 का संक्रमण फैलने के खतरे का हवाला देते हुए प्रशासन से मांग की है कि चुनावी राजनीति से प्रेरित भाजपा के इस कार्यक्रम पर तत्काल रोक लगायी जाये.

भाजपा की जिला इकाई के अध्यक्ष राजेश सोनकर ने मंगलवार को संवाददाताओं को बताया, अयोध्या में भगवान राम की जन्मभूमि पर उनके भव्य मंदिर के शिलान्यास कार्यक्रम को हम महोत्सव की तरह मनायेंगे. इसके तहत सांवेर क्षेत्र के 252 गांवों में विभिन्न धार्मिक आयोजनों के साथ ही लोगों के घर-घर जाकर प्रसाद के रूप में करीब पांच लाख लड्डू बांटे जायेंगे. सोनकर ने दावा किया, लड्डू वितरण कार्यक्रम की विशेषता यह होगी कि सांवेर क्षेत्र के हर परिवार की भागीदारी के बावजूद इसमें कोविड-19 से बचाव के दिशा-निर्देशों का राई के दाने के बराबर भी उल्लंघन नहीं होगा.

गौरतलब है कि राज्य के जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट को सांवेर क्षेत्र के आगामी उपचुनावों में भाजपा का टिकट मिलना तय माना जा रहा है, जबकि पूर्व लोकसभा सांसद प्रेमचंद बौरासी "गुड्डू" कांग्रेस खेमे से उम्मीदवारी के तगड़े दावेदार हैं. पखवाड़े भर में सिलावट और गुड्डू, दोनों कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं. संक्रमित पाये जाने से पहले दोनों प्रतिस्पर्धी नेता आगामी उपचुनावों के मद्देनजर सांवेर क्षेत्र के सघन दौरे कर रहे थे.

इस बीच, भाजपा के लड्डू वितरण कार्यक्रम पर निशाना साधते हुए प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला ने कहा, "भगवान राम में हमारी पूरी आस्था है. लेकिन, भाजपा महज अपनी चुनावी राजनीति चमकाने के लिये कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे को नजरअंदाज करते हुए सांवेर के लोगों की सेहत से खिलवाड़ करना चाहती है." उन्होंने कहा, "हम इस खतरे के मद्देनजर जिला प्रशासन से मांग करते हैं कि वह भाजपा का घोषित लड्डू वितरण कार्यक्रम तत्काल रुकवाये."

email
TwitterFacebookemailemail

बिहार के दलित युवक ने रखी थी राममंदिर की पहली ईंट

अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास तीस साल पहले राजीव गांधी सरकार की अनुमति से नौ नवंबर, 1989 को किया गया था. शिलान्यास में पहली ईंट बिहार के दलित युवक कामेश्वर चौपाल ने रखी थी. दरअसल, राम मंदिर शिलान्यास से पहले पूरे देश में विश्व हिंदू परिषद ने इसके लिए अभियान चला रखा था. राम मंदिर शिलान्यास के लिए आठ अप्रैल, 1984 को दिल्ली के विज्ञान भवन में एक विशाल धर्म संसद का भी आयोजन किया गया था. 1986 में राम मंदिर का ताला खुला. विहिप के नेता और रिटायर्ड जज देवकी नंदन अग्रवाल ने 01 जुलाई, 1989 को फैजाबाद की एक अदालत में राम के मित्र के रूप में दावा दायर किया. इस दावा में कहा गया था कि राम और जन्म स्थान दोनों पूज्य हैं. वही इस संपत्ति के मालिक हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

अशोक सिंघल के भतीजे सलिल सिंघल कार्यक्रम में ''यजमान'' होंगे

विहिप के दिवंगत नेता अशोक सिंघल के भतीजे सलिल सिंघल कार्यक्रम में ''यजमान'' होंगे. साथ ही नेपाल के संतों को भी आमंत्रित किया गया है क्योंकि जनकपुर का बिहार, उत्तर प्रदेश और अयोध्या से भी संबंध है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार एक डाक टिकट भी जारी करेगी जोकि मंदिर के डिजाइन पर आधारित है. राय के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी परिसर में ''पारिजात'' का पौधा भी लगाएंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए 175 प्रतिष्ठित अतिथियों को आमंत्रित किया गया

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने सोमवार को समाचार कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए 175 प्रतिष्ठित अतिथियों को आमंत्रित किया गया है. ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने संवाददाताओं से कहा कि निमंत्रण सूची भाजपा के वरिष्ठ नेताओं लाल कृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के अलावा वरिष्ठ वकील के परासरन एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ ''निजी तौर पर चर्चा'' करके तैयार की गई है.

email
TwitterFacebookemailemail

भूमिपूजन का शुभ मुहूर्त मात्र 32 सेकेंड का

भूमिपूजन का शुभ मुहूर्त मात्र 32 सेकेंड का है जो दोपहर 12 बजकर 44 मिनट 8 सेकेंड से 12 बजकर 44 मिनट 40 सेकेंड के बीच है. इसी मुहूर्त के बीच प्रधानमंत्री चांदी की ईंट से राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

अयोध्या के पहरेदार हैं हनुमानगढ़ी के हनुमान, इन कारणों से भूमिपूजन के पहले पीएम मोदी करेंगे यहां पूजा..

हनुमानगढ़ी भगवान राम के परम भक्त हनुमान जी का भव्य मंदिर है, जो अयोध्या में है. अथर्ववेद में अयोध्या को ईश्वर का नगर बताया गया है और इसकी संपन्नता की तुलना स्वर्ग से की गई है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, लंका से लौटने के बाद श्रीराम ने अपने सबसे बडे भक्त हनुमान को रहने के लिए यही जगह दिया था. साथ ही यह भी अधिकार उन्हें मिला कि जो भी अयोध्या आएगा उसे पहले यहां आकर हनुमान की पूजा कर अनुमति लेनी होगी.

email
TwitterFacebookemailemail

समारोह के लिए आमंत्रित किए गए 175 लोगों में से 135 संत

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने कई ट्वीट और संवाददाता सम्मेलन में बताया कि मुख्य समारोह के लिए आमंत्रित किए गए 175 लोगों में से 135 संत हैं जो विभिन्न आध्यात्मिक परंपराओं का हिस्सा हैं। ट्रस्ट ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण धार्मिक नेताओं सहित कुछ अतिथियों को भूमि-पूजन समारोह में शामिल होने में कुछ दिक्कतें आ रही हैं.

email
TwitterFacebookemailemail

PM मोदी का मिनट 2 मिनट कार्यक्रम

- 9.35 बजे कल दिल्ली से लखनऊ रवाना होंगे

- 10.35 बजे लखनऊ एयरपोर्ट पर लैंडिंग

- 10.40 बजे हेलिकॉप्टर से अयोध्या जाएंगे

- 11.30 बजे साकेत कॉलेज हेलीपैड पर लैंडिंग

- 11.40 बजे हनुमानगढ़ी में दर्शन करेंगे PM

- 12 बजे रामजन्मभूमि परिसर पहुंचेंगे PM

- 10 मिनट रामलला के दर्शन करेंगे पीएम

- 12.15 बजे परिसर में पारिजात लगाएंगे

- 12.30 बजे भूमिपूजन कार्यक्रम का शुभारंभ

- 12.40 बजे मंदिर की आधारशिला रखेंगे PM

- 2.05 बजे साकेत कॉलेज जाएंगे PM

- 2.20 बजे लखनऊ के लिए उड़ेगा हेलिकॉप्टर

email
TwitterFacebookemailemail

भूमि पूजन के लिए सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष और बाबरी मस्जिद के पक्षकार को भी न्योता

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन के अवसर पर सौहार्द मंच भी सजने को लेकर चर्चा जोरों पर है. अयोध्या में 5 अगस्त को राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम में सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष जफर फारूखी, अयोध्या के समाजसेवी पद्म श्री मोहम्मद शरीफ, बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी आमंत्रित लोगों की सूची में शामिल हैं. गौर हो कि इकबाल अंसारी के पिता हातिम अंसारी न सिर्फ बाबरी मस्जिद के मुख्य पक्षकार थे, बल्कि वे राम मंदिर आंदोलन के अगुआ रहे रामचंद्र परमहंस के करीबी दोस्त भी थे. सबसे खास बात यह है कि दोनों के बीच दोस्ती भी ऐसी कि मुकदमा लड़ने भी साथ जाते थे.

email
TwitterFacebookemailemail

हनुमानगढ़ी मंदिर में आज 5 घंटे की रामार्चा पूजा

अयोध्या के हनुमानगढ़ी मंदिर में आज रामार्चा पूजा होगी. ये पूजा सुबह 9 बजे शुरू होकर क़रीब 5 घंटे तक चलेगी. इसमें कुल 6 पुजारी शामिल होंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

हनुमानगढ़ी मंदिर में राम अर्चना के साथ पूजा शुरू

अयोध्या के हनुमानगढ़ी मंदिर में राम अर्चना के साथ पूजा शुरू हो गई है. कल बुध्रवार को रामलला के मंदिर निर्माण का भूमिपूजन होगा. पीएम मोदी राम मंदिर के भूमिपूजन के लिए 5 अगस्त को अयोध्या आ रहे हैं. अयोध्या सहित पूरे देश में इसे लेकर उत्साह का माहौल है.

email
TwitterFacebookemailemail

भूमि पूजन से पहले ही अयोध्या राममय हुई

भूमि पूजन से पहले ही अयोध्या राममय हो गयी है. जगह-जगह भगवान राम के भजन गूंज रहे हैं. रामनगरी में चारों ओर केसरिया रंग के झंडे लहरा रहे हैं. मुख्य मार्ग और रामलला मंदिर की ओर जाने वाले मार्गों पर केसरिया पताकाएं लहरा रही हैं. इन पताकाओं पर भगवान राम और राम दरबार और हनुमान जी के चित्र उकेरे गये हैं. वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे को लेकर पूरी अयोध्या सील हो गयी है. कोरोना के चलते हनुमानगढ़ी और रामजन्मभूमि जैसे इलाके को सैनिटाइज किया जा रहा है.

email
TwitterFacebookemailemail

भूमि पूजन में नहीं शामिल होंगी उमा भारती

पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में राम जन्मभूमि पर भूमि पूजन करेंगे. भूमि पूजन के पहले गृहमंत्री अमित शाह और उत्तर प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष के कोविड संक्रमित आने के कारण चिंताए बढ़ गयी है. इस पर भारतीय जनता पार्टी की नेता उमा भारती ने भी ट्वीट कर कहा है कि वो अयोध्या के भूमि पूजन कार्यक्रम में तो आएंगी, लेकिन मंदिर स्थल पर ना रहकर सरयू नदी के तट पर रहेंगी.

email
TwitterFacebookemailemail

पीएम के सुरक्षा घेरे में 45 साल से कम उम्र के ही पुलिसकर्मी होंगे तैनात

पीएम की सुरक्षा को मजबूत करने के लिए अयोध्या में पुरी तैयारी कर ली गई है.वहीं सुरक्षा घेरे को कोरोना फ्री रखने के लिए जिला प्रशासन ने ऐसे 200 पुलिसकर्मियों को चुना है, जिनकी उम्र 45 साल से कम हो. इन सबका कोरोना टेस्ट निगेटिव आया है. ये पुलिसकर्मी ही पीएम के सुरक्षा घेरे में रहेंगे.

email
TwitterFacebookemailemail

हेलिपैड से रामजन्मभूमि तक का रास्ता किया जा रहा सैनिटाइज

पीएम मोदी का हेलिकॉप्टर अयोध्या के साकेत डिग्री कॉलेज में बने हेलिपैड पर लैंड करेगा. यहां से पीएम मोदी रामजन्मभूमि तक जाएंगे. यह दूरी लगभग एक किमी की है.जिस एक किलोमीटर के रास्ते से पीएम मोदी गुजरेंगे उसे भी सैनिटाइज किया जा रहा है. उस इलाके में लोगों का एंटीजन टेस्ट किया जा रहा है.

email
TwitterFacebookemailemail

भूमिपूजन कार्यक्रम की तैयारी अंतिम पड़ाव पर

अयोध्या में रामलला के मंदिर निर्माण की तैयारी जोर-शोर से चल रही है. 5 अगस्त को होने वाले मंदिर के भूमि पूजन समारोह में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी भाग लेंगे. कार्यक्रम की तैयारियां अब अंतिम पडाव पर है. पीएम की सुरक्षा को लेकर भी कड़ी तैयारी की गई है. वहीं मंदिर के भूमिपूजन से पहले पीएम मोदी हनुमानगढ़ी में दर्शन करेंगे. जिसे लेकर मंदिर में विशेष तैयारी की जा रही है.

email
TwitterFacebookemailemail

भूमि पूजन कार्यक्रम से पहले प्रधानमंत्री मोदी हनुमानगढ़ी जाकर वहां दर्शन करेंगे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) 5 अगस्त को अयोध्या श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन (Ram Mandir Bhumi pujan) करने अयोध्या जायेंगे. राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होने से पहले प्रधानमंत्री मोदी हनुमानगढ़ी जाकर वहां दर्शन करेंगे. इसके बाद ही प्रधानमंत्री रामलला के दर्शन करेंगे. मोदी ऐसा एक परंपरा के कारण करेंगे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें