1. home Home
  2. state
  3. up
  4. allahabad
  5. professor sangeeta srivastava completes one year in allahabad university as vice chancellor acy

Prayagraj News: संगीता श्रीवास्तव का बतौर कुलपति इलाहाबाद विश्वविद्यालय में एक साल पूरा, जानें कैसा रहा सफर

प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने बतौर कुलपति इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में एक साल पूरा कर लिया है. इस मौके पर विश्वविद्यालय के तिलक भवन में आयोजित कार्यक्रम के तहत उन्हें महिला कर्मचारियों ने 21 किलो का हार पहनाकर अभिनंदन किया.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Prayagraj
Updated Date
संगीता श्रीवास्तव का बतौर कुलपति इलाहाबाद विश्वविद्यालय में एक साल पूरा
संगीता श्रीवास्तव का बतौर कुलपति इलाहाबाद विश्वविद्यालय में एक साल पूरा
प्रभात खबर

Prayagraj News: इलाहाबाद विश्वविद्यालय की कुलपति संगीता श्रीवास्तव के एक वर्ष का कार्यकाल पूर्ण होने पर मिनिस्टीरियल एंड टेक्निकल स्टाफ यूनियन ( इविवि कर्मचारी संघ ) द्वारा उनका अभिनंदन किया गया. उन्होंने 30 नवंबर 2020 को बतौर इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति का कार्यभार ग्रहण किया था.

इस मौके पर विश्वविद्यालय के तिलक भवन में आयोजित कार्यक्रम के तहत उन्हें महिला कर्मचारियों ने 21 किलो का हार पहनाकर अभिनंदन किया. कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुरेश ओझा ने पुष्प गुच्छ देकर कुलपति का स्वागत किया. इस दौरान विश्वविद्यालय के समस्त कर्मचारी तथा कई प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित रहे.

कुलपति प्रोफेसर संगीता श्रीवास्तव ने इस मौके पर कहा, मैं विश्वविद्यालय परिवार द्वारा मिले अपार स्नेह से अभिभूत हूं. आपने जो स्नेह दिया, मैं उसके लिए हृदय से कृतज्ञता ज्ञापित करती हूं. 35 वर्षों से मेरा विश्वविद्यालय से लगाव है. यहां की एक-एक जगह मेरी स्मृति में है. मैं मानती हूं कि कर्मचारीगण इस विश्वविद्यालय की रीढ़ की हड्डी हैं. आपके कारण ही विश्वविद्यालय अपने स्थान पर खड़ा है.

कुलपति ने वैश्विक महामारी कोरोना का जिक्र करते हुए कहा कि विपरीत हालातों में हमारे कार्य करने की क्षमता का विकास होता है. विपरीत परिस्थितियों में ही हमारा व्यक्तित्व निखरता है. पिछले 28 सालों से विश्वविद्यालय में कर्मचारियों के प्रमोशन रुके हुए थे. कर्मचारियों में निराशा थी. उनके दर्द को समझते हुए उन्होंने कोरोना महामारी में भी 95 से ज्यादा कर्मचारियों के प्रमोशन की संस्तुति दी.

कुलपति ने आगे कहा कि वह इस बात का खास ख्याल रखती हैं कि विश्वविद्यालय के सारे कर्मचारी व शिक्षक मानसिक रूप से स्वस्थ रहें. उन्हें किसी कार्य के लिए बार-बार कार्यालयों के चक्कर न लगाने पड़े. मैं विश्वविद्यालय का पुराना गौरव पुनः वापस लाना चाहती हूं. जिसके लिए हम सबको परिवार की तरह मिलकर काम करना होगा. कुलपति ने अपनी बात समाप्त करते हुए कहा कि...

जिंदगी की असली उड़ान अभी बाकी है

हमारे इरादों का इम्तिहान अभी बाकी है

अभी तो नापी है मुट्ठी भर ज़मीन

अभी तो सारा आसमान बाकी है

इविवि कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुरेश चंद्र ओझा ने कहा कि कुलपति को कार्यभार ग्रहण किए एक वर्ष बीत गए. इस दौरान कुलपति ने विश्वविद्यालय को निरंतर आगे ले जाने का कार्य किया. कुलपति ने एक ओर जहां विश्वविद्यालय की आधारभूत संरचनाओं का विकास किया. वहीं दूसरी ओर गैर शैक्षणिक कर्मचारियों के हितों के लिए भी कई कदम उठाए. उन्होंने मई 2021 में 95 से ज्यादा कर्मचारियों के प्रमोशन के लिए कुलपति का आभार प्रकट किया.

कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के तौर बोलते हुए कुलसचिव प्रो. नरेंद्र शुक्ल ने कहा कि एक वर्ष पहले आज ही के दिन विश्वविद्यालय को नया कुलपति मिला था. लगभग एक वर्ष तक विश्वविद्यालय में कोई स्थाई कुलपति नहीं था. वैश्विक महामारी कोरोना में काम करना काफी कठिन था. कुलपति प्रो संगीता श्रीवास्तव के नेतृत्व में आज इलाहाबाद विश्वविद्यालय पूरे देश में अपनी अलग पहचान बना रहा है. विजयनगरम हाल का उद्घाटन, विज्ञान संकाय का सौंदर्यीकरण, दीक्षांत समारोह का भव्य आयोजन, नए छात्रावासों का निर्माण जैसे कई अन्य कार्य पिछले एक साल में काफी तेजी से सम्पन्न हुए. बरसों से बंद तिलक हॉल का भी पुनरुद्धार किया गया.

अशर्फी लाल ने कार्यक्रम का संचालन किया तथा सुरेश चंद्र ओझा ने धन्यवाद ज्ञापन दिया. कार्यक्रम में प्रो. हर्ष कुमार, डॉ. जया कपूर के अलावा संजय त्रिपाठी, अनिल सिंह, राजेन्द्र यादव, नीलम सिंह, सुशील सिंह, भगवती देवी, जे बी सिंह आदि सैकड़ों कर्मचारी उपस्थित रहे.

(रिपोर्ट- एस के इलाहाबादी, प्रयागराज)

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें