1. home Home
  2. state
  3. up
  4. allahabad
  5. kinnar akhara mahamandaleshwar laxmi narayan tripathi angry on kangana ranaut statement sht

Prayagraj News: कंगान रनौत के बयान पर किन्नर अखाड़े की महामंडलेश्वर खफा, बताया-लोकतंत्र और संविधान का अपमान

कंगना के बयान पर किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने नाराजगी जताई है. उन्होंने कहा कि कंगना को अपने बयान के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Prayagraj News
Prayagraj News
social media

Prayagraj News: देश की आजादी को लेकर फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत द्वारा दिए गए बयान का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. कंगना के बयान पर सोमवार को प्रयागराज पहुंची किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मी नारायण त्रिपाठी ने टिप्पणी की. उन्होंने बयान को गलत बताते हुए कहा कि कंगना को देश से माफी मांगनी चाहिए. साथ ही अपना बयान वापस लेना चाहिए.

लोकतंत्र और संविधान का अपमान

किन्नर अखाड़े की आचार्य महामंडलेश्वर लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी ने कहा कि, देश की आजादी के बारे में इस तरह का बयान लोकतंत्र और संविधान का अपमान है. देश के कई महान स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना खून बहाया, सत्याग्रह में हिस्सा लिया और अपना सब कुछ बलिदान कर दिया, ताकि देश को अंग्रेजों की गुलामी से मुक्त किया जा सके.

कंगना के बयान को बताया 'देशद्रोह'

उन्होंने कहा कि, लोकतंत्र में अभिव्यक्ति की आजादी है. राजनीतिक बयानबाजी भी की जा सकती है, लेकिन देश की आजादी की तुलना 2014 में बनी किसी भी राजनीतिक दल की सरकार से नहीं की जा सकती. उन्होंने कंगना रनौत के इस बयान को 'देशद्रोह' करार दिया. साथ ही कहा कि प्रचार के लिए इस तरह के बयान देने का अधिकार किसी को नहीं है. हालांकि, उन्होंने भाजपा के कार्यों की सराहना भी किया.

कंगना के इस बयान पर मचा है बवाल

दरअसल, फिल्म अभिनेत्री कंगना ने पद्मश्री मिलने के बाद एक चैनल के कार्यक्रम में कहा था कि 'देश को 1947 में आजादी की भीख मिली थी. भारत को असली आजादी 2014 में मिली.' कंगना के इस बयान का सबसे पहले वरुण गांधी ने विरोध किया था, जिस पर कंगना ने पलट कर जवाब भी दिया था. इसके बाद से ही मामला तूल पकड़ता चला गया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें