1. home Home
  2. state
  3. up
  4. allahabad
  5. congress leader pramod tiwari targeted yogi govt on lakhimpur kheri violence abk

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने पूछा आशीष मिश्रा के फरार होने पर सवाल, प्रियंका को बता दिया दूसरी इंदिरा गांधी

प्रमोद तिवारी ने शुक्रवार को प्रयागराज में कहा बीजेपी सरकार में अपराधी आज टीवी पर इंटरव्यू दे रहे हैं. किसानों से मिलने जा रही हमारी नेता प्रियंका गांधी को असंवैधानिक तरीके से हिरासत में लेकर रखना लोकतंत्र की हत्या है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने पूछा आशीष मिश्रा के फरार होने पर सवाल
कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने पूछा आशीष मिश्रा के फरार होने पर सवाल
सोशल मीडिया

Prayagraj News: लखीमपुर खीरी की घटना पर कांग्रेस नेता और यूपी प्रभारी प्रमोद तिवारी ने सुप्रीम कोर्ट को धन्यवाद कहा है. लखीमपुर हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट के स्वत: संज्ञान को प्रमोद तिवारी ने ऐतिहासिक कदम बताया है.

प्रमोद तिवारी ने शुक्रवार को प्रयागराज में कहा बीजेपी सरकार में अपराधी आज टीवी पर इंटरव्यू दे रहे हैं. किसानों से मिलने जा रही हमारी नेता प्रियंका गांधी को असंवैधानिक तरीके से हिरासत में लेकर रखना लोकतंत्र की हत्या है. उन्होंने सवाल उठाते हुए पूछा कि पुलिस छावनी में तब्दील हुए लखीमपुर खीरी के तिकुनिया गांव से मंत्री पुत्र आशीष मिश्रा कैसे फरार हो गया.

गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा पर लगाए गंभीर आरोप

लखीमपुर घटना को लेकर प्रमोद तिवारी ने कहा कि यह नरसंहार हुआ है. ऐसा नरसंहार शायद ही यूपी में देखने को मिला हो. सत्ता के मद में चूर भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी ने जो कहा था वो कर दिखाया.

गृह राज्यमंत्री ने कहा था कि यदि किसानों ने विरोध किया तो दो मिनट में ठीक कर दूंगा. लोग मेरा इतिहास ना भूलें. प्रमोद तिवारी ने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी पर भी आरोप लगाते हुए कहा कि वो हिस्ट्रीशीटर रहे हैं. उन पर हत्या समेत कई मुकदमे दर्ज हैं. केंद्रीय गृह राज्यमंत्री ने जो भी कहा था उसे करके दिखा दिया है.

प्रियंका गांधी वाड्रा दूसरी इंदिरा गांधी: प्रमोद तिवारी

कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने इंदिरा को याद करते हुए मीडिया को बताया कि यह एक महज इत्तिफाक ही है कि 1972 में इंदिरा गांधी जब गिरफ्तार हुईं तो वो दिन भी 3 अक्टूबर था. प्रियंका गांधी जब गिरफ्तार हुई तो भी 3 अक्टूबर की तारीख थी. प्रमोद तिवारी ने कहा कि मैं प्रियंका को इंदिरा तो नहीं कह रहा. लेकिन, नवरात्रि से ठीक एक दिन पहले उनकी रिहाई यह बता रही है कि वो शक्ति स्वरूप विरोधियों के दमन के लिए निकल चुकी हैं. हमें प्रियंका दूसरी इंदिरा के रूप मिली हैं.

(रिपोर्ट: एसके इलाहाबादी, प्रयागराज)

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें