1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. aligarh
  5. uttar pradesh one year of aligarh poisonous liquor case special story rkt

अलीगढ़ जहरीली शराब कांड: अंधा होने की जगह काश मैं मर जाता- उस दिन को याद करके आज भी सिहर उठते हैं पीड़ित

अलीगढ़ जहरीली शराब कांड में अब तक पुलिस ने 33 मुकदमें दर्ज किए हैं. मामले में 87 आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है. 13 लोग जमानत पर रिहा हुए. मुख्य आरोपी ऋषि शर्मा, मुनीष शर्मा, अनिल चौधरी जेल में हैं. आरोपितों की 100 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त की जा चुकी है.

By Rajat Kumar
Updated Date
अलीगढ़ जहरीली शराब कांड
अलीगढ़ जहरीली शराब कांड
प्रभात खबर

Aligarh Poisonous Liquor Case : चारपाई पर बैठा पप्पू, पिछले एक साल से अपनी अंधेरी दुनिया और सरकार को कोस रहा होता है, उसके दिल से बस यही आह निकलती है कि अंधा होने की जगह काश मैं मर जाता. अलीगढ़ के करसुआ का रहने वाले पप्पु की आंखो की रोशनी पिछले साल घटी जहरीली शराब कांड में चली गयी. आज से ठीक एक साल पहले 28 मई 2021 को हुए इस शराब कांड में एक दो नहीं बल्कि 100 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी.

जहरीली शराब पीने से करसुआ गांव के निवासी पप्पू पुत्र खूबी राम के आंखों की रोशनी चली गई. पप्पू के दो बच्चे हैं. आंखों की रोशनी जाने के बाद पप्पू एक खोके पर अपने दोनों बच्चों को लेकर गुजर बसर कर रहा है. बच्चें ही पप्पू को पकड़कर गांव से खोके पर और खोके से गांव ले जाते हैं. सरकार द्वारा जहरीली शराब कांड में मरे लोगों के परिवार वालों को 5 लाख आर्थिक सहायता दी गई. पप्पू के भाई की भी मृत्यु इसी शराब कांड में हुई पर वारिस ना होने के कारण एक रुपए भी नहीं दिया गया और ना ही पप्पू के आंखों की रोशनी चली जाने पर कोई आर्थिक सहायता पप्पू को दी गई. जबकि उसे 2.5 लाख रुपए मिलने चाहिए थे.

सांसद-विधायकों ने दिया था मदद का आश्वासन... पप्पू को सांसद व विधायकों ने आंखों की रोशनी जाने पर आर्थिक सहायता की मदद देने का आश्वासन किया था. पप्पू ने प्रभात खबर को बताया कि विधायक उस समय पूछ कर गए, परंतु आज तक कुछ भी मदद नहीं मिली.

अलीगढ़ जहरीली शराब कांड...28 मई 2021 को अलीगढ़ के गांव करसुआ में शराब पीने से लोगों की मौत होने का सिलसिला शुरू हुआ. गांव के ठेके से लोगों ने शराब खरीदी और पीने के बाद हालत बिगड़ी. खैर के गांव रायट, अंडला, हैबतपुर, फतेह नगरिया, नंदपुर पला में भी लोगों की शराब पीने से मौत हुई. पहले दिन 22 से अधिक मौतें हुई. 10 दिन तक लगातार मौत का सिलसिला जारी रहा. सरकारी रिकॉर्ड के अनुसार 106 मृतकों के पोस्टमार्टम हुए.

शराब कांड में अब तक हुई यह कार्रवाई ...अलीगढ़ जहरीली शराब कांड में अब तक पुलिस ने 33 मुकदमें खैर, लोधा, पिसावा, गभाना, जवां, महुआ खेड़ा, क्वार्सी थाने में दर्ज किए हैं. मामले में 87 आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है. 13 लोग जमानत पर रिहा हुए. मुख्य आरोपित ऋषि शर्मा, मुनीष शर्मा, अनिल चौधरी जेल में हैं. आरोपितों की 100 करोड़ से अधिक की संपत्ति जब्त की जा चुकी है.

जांच में 26 अधिकारी और कर्मचारी पाए गए दोषी...अलीगढ़ जहरीली शराब कांड की जांच में 26 अधिकारी और कर्मचारी दोषी पाए गए. जिसमें जिला आबकारी अधिकारी धीरज शर्मा, आबकारी निरीक्षक अतरौली अवनीश कुमार पांडे, आबकारी निरीक्षक गभाना चंद्र प्रकाश यादव, आबकारी निरीक्षक लोधा खैर टप्पल राजेश कुमार यादव, आबकारी सिपाही रामराज राना, अशोक कुमार, नितेंद्र सिंह, प्रमोद कुमार शर्मा, योगेंद्र सिंह, तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक अकराबाद रजत कुमार शर्मा शामिल थे. इन सभी के तबादले हो चुके हैं, इनमें से अधिकतर घटना के बाद से निलंबित चल रहे हैं.

रिपोर्ट - चमन शर्मा

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें