1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. aligarh
  5. police announces reward on the accused of etah businessman murder case sht

Etah News: व्यापारी हत्याकांड में पुलिस की बड़ी कार्रवाई, आरोपी अंकुश-दुष्यंत पर घोषित किया इनाम

व्यापारी संदीप गुप्ता मर्डर केस में मुख्य आरोपित अंकुश और दुष्यंत पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Aligarh
Updated Date
मृतक व्यापारी संदीप गुप्ता
मृतक व्यापारी संदीप गुप्ता
फाइल फोटो

Aligarh News: 27 दिसंबर को अलीगढ़ में एटा के अलीगंज निवासी व्यापारी संदीप गुप्ता के मर्डर में मुख्य आरोपित अंकुश अग्रवाल और उसके दोस्त दुष्यंत के ऊपर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया है. हत्याकांड में अंकुश अग्रवाल के पिता राजीव अग्रवाल को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है.

अंकुश-दुष्यंत फरार, रखा 25-25 हजार का इनाम

एटा के अलीगंज निवासी व्यापारी संदीप गुप्ता हत्याकांड में मुख्य आरोपित अंकुश अग्रवाल और दुष्यंत अभी फरार हैं. अलीगढ़ एसएसपी ने दोनों पर 25-25 हजार का इनाम भी घोषित कर दिया है. दोनों की तलाश में उत्तर प्रदेश सहित कई राज्यों में टीमें भेजी गई हैं. जहां-जहां मृतक संदीप गुप्ता का कारोबार था, वहां भी पांच टीमें तलाश में जुटी हैं.

हत्या में 8 से अधिक लोगों के होने की संभावना

एटा व्यापारी की हत्या में अंकुश अग्रवाल दुष्यंत के सहित 8 से अधिक लोगों के संलिप्त होने की संभावना जताई जा रही है. जिस तरह से एटा व्यापारी की हत्या की गई वह शार्प शूटरों का काम नजर आता है. पुलिस का पहले अंकुश अग्रवाल और दुष्यंत को गिरफ्तार करने का लक्ष्य है, जिनसे बाकी सभी का पता लग सकेगा.

यह था हत्या का कारण

अंकुश की शादी एटा के अलीगंज की युवती से हुई थी. अंकुश अपनी पत्नी से मारपीट करता था. इस मामले में संदीप मारपीट का विरोध करते थे. कई बार संदीप गुप्ता की अंकुश से नोकझोंक भी हुई थी. अंकुश भी ट्रांसपोर्ट का कारोबार करता है. ऐसे में संदीप ने उसकी गाड़ियां भी रुकवा दी थी. अलीगंज थाने में अंकुश और उसके परिवार के लोगों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया था. इसी बात को लेकर अंकुश ने संदीप की हत्या कराई.

ऐसे हुई थी एटा के व्यापारी की हत्या

एटा के अलीगंज निवासी संदीप गुप्ता, जिनका मुख्य बाजार मोहल्ला राम प्रसाद चौधरी में साड़ी संसार के नाम से प्रतिष्ठान है. अलीगढ़ के कासिमपुर रोड स्थित एक सीमेंट फैक्ट्री की फ्रेंचाइजी के साथ ही उनका ट्रांसपोर्ट का कारोबार है, उनके एक दर्जन से ज्यादा ट्रक लगे हुए हैं. संदीप गुप्ता सोमवार को डीआईजी दीपक कुमार से मिलकर गांधी आई हॉस्पिटल के सामने से गुजरे, तो उनका ड्राइवर गुटखा लेने दुकान पर गया, तभी अज्ञात बदमाशों ने गाड़ी पर ताबड़तोड़ फायरिंग की और फरार हो गए.

व्यापारी के सिर, कमर समेत शरीर में तीन गोली लगी. मौके पर पहुंचकर पुलिस ने व्यापारी को वरूण ट्रोमा में भर्ती कराया. जहां से जेएन मेडिकल कालेज में रेफर कर दिया था. जहां डॉक्टरों ने व्यापारी संदीप गुप्ता को मृत घोषित कर दिया था.

रिपोर्ट- चमन शर्मा

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें