1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. agra
  5. there will no longer be any demonstration in chamunda devi temple case of agra nrj

आगरा के चामुंडा देवी मंदिर मामले में अब नहीं होगा प्रदर्शन, जिला और रेलवे प्रशासन म‍िलकर सुलझाएंगे समस्या

प्राचीन मंदिर मां चामुंडा देवी प्रबंध एवं सेवा समिति ने एक पत्र जारी किया है. जिसमें सभी हिंदू संगठनों से निवेदन किया गया है कि मंदिर को लेकर अब कोई भी प्रदर्शन या नया बयान ना दें. और अगर कुछ भी करें तो इससे पहले समिति की इजाजत जरूर लें.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Agra
Updated Date
आगरा में चामुंडा देवी मंद‍िर को हटाने की सूचना पर हो रहा था व‍िरोध.
आगरा में चामुंडा देवी मंद‍िर को हटाने की सूचना पर हो रहा था व‍िरोध.
प्रभात खबर

Agra News: राजामंडी रेलवे स्टेशन पर स्थित चामुंडा देवी मंदिर और रेलवे के बीच का विवाद अब खत्म होता जा रहा है. प्राचीन मंदिर मां चामुंडा देवी प्रबंध एवं सेवा समिति ने एक पत्र जारी किया है. जिसमें सभी हिंदू संगठनों से निवेदन किया गया है कि मंदिर को लेकर अब कोई भी प्रदर्शन या नया बयान ना दें. और अगर कुछ भी करें तो इससे पहले समिति की इजाजत जरूर लें. उन्होंने यह भी कहा कि मंदिर का विवाद जिला प्रशासन व रेलवे प्रशासन के साथ बैठकर सुलझाया जाएगा.

क्‍या कहा गया है पत्र में?

कई दिनों से आगरा में स्थित राजामंडी स्टेशन पर मौजूद चामुंडा देवी मंदिर को लेकर रेलवे और मंदिर समिति के बीच विवाद चल रहा था. रेलवे इस मंदिर को अतिक्रमण बता कर राजा मंडी स्टेशन से स्थानांतरित करने की बात कर रहा था तो वहीं दूसरी तरफ मंदिर प्रशासन ने साफ चेतावनी दे दी थी कि अगर मंदिर से हाथ भी लगाया गया तो इसका अंजाम रेलवे को भुगतना पड़ेगा. वहीं, प्राचीन मंदिर मां चामुंडा देवी प्रबंध एवं सेवा समिति ने सोमवार को एक पत्र जारी किया, जिसमें उन्होंने बताया कि राजा मंडी रेलवे स्टेशन पर स्थित मां चामुंडा देवी परिसर एवं रेल प्रशासन के बीच उत्पन्न विवाद के संबंध में जिला प्रशासन एवं रेल प्रशासन द्वारा समाचार पत्रों के माध्यम से स्पष्ट कर दिया गया है कि चामुंडा देवी मंदिर को कहीं भी स्थानांतरित नहीं किया जाएगा. इस आश्वासन के बाद प्रबंध एवं सेवा समिति द्वारा उत्पन्न विरोध प्रदर्शन पूर्णता स्थगित कर दिया गया है.

हिंदू संगठनों ने जमकर किया था विरोध

साथ ही सभी सम्मानीय हिंदू संगठनों अथवा आम जनता से निवेदन है कि अपना विरोध प्रदर्शन आदि गतिविधियां स्थगित कर दें. कोई भी सज्जन बिना कमेटी की सहमति के अपना बयान न जारी करें. और इस विवाद को जिला प्रशासन एवं रेल प्रशासन के साथ बैठकर सुलझाया जाएगा. हालांकि, इससे पहले कई सारे हिंदू संगठनों ने रेलवे प्रशासन के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया था. कहीं ना कहीं इसी वजह से रेलवे प्रशासन बैकफुट पर नजर आ रहा है. वहीं मंदिर समिति का भी यही कहना है कि अब जिला प्रशासन और रेलवे प्रशासन के साथ बैठकर इस समस्या का समाधान किया जाएगा.

रिपोर्ट : राघवेंद्र गहलोत

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें