1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. agra
  5. railways gave notice to remove bhure shah tomb after chamunda devi temple in agra acy

Agra News: एक्शन में रेलवे, चामुंडा देवी मंदिर के बाद भूरे शाह की मजार को हटाने के लिए दिया नोटिस

राजा मंडी स्टेशन और कैंट स्टेशन पर बने धर्म स्थलों को हटाने को लेकर रेलवे ने तर्क दिया है कि इन दोनों धर्म स्थलों की वजह से स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. यात्रियों की सुरक्षा भी खतरे में आती है जिसकी वजह से इन सभी धर्म स्थलों को यहां से स्थानांतरित करना जरूरी है.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Agra
Updated Date
चामुंडा देवी मंदिर के बाद भूरे शाह की मजार को हटाने के लिए दिया नोटिस
चामुंडा देवी मंदिर के बाद भूरे शाह की मजार को हटाने के लिए दिया नोटिस
सोशल मीडिया

Agra News: ताजनगरी में रेलवे स्टेशनों से धर्मस्थल हटाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. रेलवे ने पहले राजा मंडी स्टेशन पर स्थित चामुंडा देवी मंदिर को हटाने के लिए नोटिस चस्पा किया. उसके बाद अब कैंट स्टेशन पर बनी भूरे शाह मजार को हटाने के लिए भी नोटिस दे दिया है. चामुंडा देवी को दिए गए नोटिस के बाद तमाम हिंदू संगठनों ने विरोध किया था, जिसके बाद अब मजार पर लगे नोटिस के बाद अन्य संगठनों द्वारा विरोध जताया जा रहा है.

भूरेशाह बाबा की मजार
भूरेशाह बाबा की मजार
सोशल मीडिया

बता दें कि राजा मंडी स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर एक पर स्थित चामुंडा देवी के मंदिर को हटाने के लिए रेलवे ने कुछ दिन पहले एक नोटिस चस्पा किया था, जिसमें 10 दिन के अंदर मंदिर को वहां से स्थानांतरित करने की बात कही गई थी. इसके बाद मंदिर के महंत और तमाम हिंदू वासियों ने कड़ा विरोध किया था. वहीं गुरुवार को हिंदू संगठनों ने रेलवे के खिलाफ पुतला फूंक कर विरोध प्रदर्शन किया.

रेलवे की तरफ से यह मामला यहीं पर नहीं थमा. रेलवे ने कैंट स्टेशन पर स्थित भूरे शाह की मजार को भी हटाने के लिए वहां नोटिस चस्पा किया है. नोटिस में 8 दिन का समय दिया गया है. रेलवे ने चेतावनी दी है कि इस अवधि में मजार को अन्य जगह स्थानांतरित कर लिया जाए नहीं तो रेलवे कार्रवाई कर खुद हटा देगा. जिसके बाद रेलवे के खिलाफ मजार से जुड़े लोगों ने विरोध जताया है.

राजा मंडी स्टेशन और कैंट स्टेशन पर बने हुए धर्म स्थलों को हटाने को लेकर रेलवे ने तर्क दिया है कि इन दोनों धर्म स्थलों की वजह से स्टेशन पर आने वाले यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. यात्रियों की सुरक्षा भी खतरे में आती है जिसकी वजह से इन सभी धर्म स्थलों को यहां से स्थानांतरित करना जरूरी है. वहीं, रेलवे आगरा मंडल की पीआरओ प्रशस्ति श्रीवास्तव ने बताया है कि मजार के सेवकों को अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया गया है. बातचीत के बाद फाइनल निर्णय लिया जाएगा.

रिपोर्ट- राघवेंद्र सिंह गहलोत

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें