1. home Hindi News
  2. state
  3. rajasthan
  4. petrol diesel price petrol diesel rate making new records day by day in this state petrol price is very expensive petrol rate in jaipur rajastha news in hindi upl

Petrol/Diesel Price: कोरोना काल में पेट्रोल-डीजल के दाम रोज बना रहे महंगाई का नया रिकॉर्ड, इस राज्य में बिक रहा है सबसे महंगा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
कोरोनावायरस लॉकडाउन के बाद पेट्रोल और डीजल में मूल्य वृद्धि शुरू हुई जो अभी तक रुकने का नाम नहीं ले रही है.
कोरोनावायरस लॉकडाउन के बाद पेट्रोल और डीजल में मूल्य वृद्धि शुरू हुई जो अभी तक रुकने का नाम नहीं ले रही है.
Prabhat khabar

Petrol/Diesel Price, fuel price, Petrol rate in Jaipur, Rajasthan News: कोरोनावायरस लॉकडाउन के बाद पेट्रोल और डीजल में मूल्य वृद्धि शुरू हुई जो अभी तक रुकने का नाम नहीं ले रही है. तेल कंपनियों द्वारा रोजाना डीजल और पेट्रोल की कीमतों में बढ़ोतरी कर रहीं हैं जिससे का रिकॉर्ड भी बन रहा है. राजस्थान में पेट्रोल का दाम 90 पार कर गया है.

गुडरिटर्न वेबसाइट के मुताबिक 4 दिसंबर को राजस्थान की राजधानी जयपुर में पेट्रोल का दाम 90.19 रुपये था. इससे पहले गुरुवार को पेट्रोल 18 पैसे महंगा होकर पहली बार 90.05 रु. लीटर हो गया. वहीं डीजल भी 21 पैसे महंगा होकर 82.01 रु. लीटर हो गया है. इसी तरह पिछले 14 दिनों में जयपुर में पेट्रोल के दाम में करीब 1 रुपये 76 पैसे डीजल के दाम में 2 रुपये 66 पैसे की बढोतरी हुई है.

एलपीजी फेडरेशन ऑफ राजस्थान के महासचिव कार्तिकेय गौड़ ने मीडिया को बताया कि एक साल में पेट्रोल 12.32 रु., डीजल 10.66 रु. लीटर महंगा हुआ है. वहीं अगर बीते एक साल की बात करें तो जनवरी-फरवरी में पेट्रोल डीजल के दाम बढ़े थे बाद में मई तक दाम स्थिर थे और लॉक डाउन के बाद पेट्रोल डीजल के दामों में 11 से 13 रुपये तक की बढ़ोतरी हुई है.

इधर, पेट्रोल-डीजल के दाम में बढोतरी को लेकर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत केंद्र सरकार पर हमला बोल रहे हैं. सीएम गहलोत ने कोरोना महामारी के दौर में भी केंद्र सरकार द्वारा डीजल, पेट्रोल और रसोई गैस के दामों में बढ़ोत्तरी करने को लेकर केंद्र सरकार को लताड़ लगाई है. सीएम गहलोत ने कहा कि आम आदमी के साथ विश्वासघात है किया.

सीएम अशोक गहलोत ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, जब केंद्र में यूपीए की सरकार हुआ करती थी तब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें 120 डॉलर प्रति बैरल थीं लेकिन पेट्रोल, डीजल के दाम 70 रुपये प्रति लीटर तक सीमित थे. और अब जब कच्चे तेल के दाम कम है फिर भी देश की जनता को कम दाम में पेट्रोल और डीजल नहीं मिल रहा.

Posted By: Utpal kant

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें