1. home Hindi News
  2. state
  3. mp
  4. congress celebrated black day on the completion of 100 days of bjp in madhya pradesh protests in this unique way

मध्यप्रेदश में भाजपा के 100 दिन पूरे होने पर कांग्रेस ने मनाया काला दिवस, इस अनोखे अंदाज में किया विरोध

By Agency
Updated Date
मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई वाली भाजपा सरकार के 100 दिन पूरे होने पर मंगलवार को कांग्रेस नेताओं ने यहां काला दिवस मनाते हुए झांझ-मजीरे बजाकर विरोध प्रदर्शन किया
मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई वाली भाजपा सरकार के 100 दिन पूरे होने पर मंगलवार को कांग्रेस नेताओं ने यहां काला दिवस मनाते हुए झांझ-मजीरे बजाकर विरोध प्रदर्शन किया
Twitter

मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई वाली भाजपा सरकार के 100 दिन पूरे होने पर मंगलवार को कांग्रेस नेताओं ने यहां काला दिवस मनाते हुए झांझ-मजीरे बजाए और 'भजन' गाया. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार शहर कांग्रेस अध्यक्ष विनय बाकलीवाल की अगुवाई में करीब 25 पार्टी नेता रीगल तिराहे के पास काले कपड़ों में पहुंचे. उन्होंने झांझ-मजीरे बजाते हुए "रघुपति राघव राजा राम.." भजन गाया.

इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा ने साजिश के तहत लोकतंत्र की हत्या करते हुए 100 दिन पहले सूबे की कमलनाथ नीत कांग्रेस सरकार गिरायी. उन्होंने कहा कि मौजूदा शिवराज सरकार कोविड-19 की रोकथाम समेत सभी मोर्चों पर नाकाम साबित हुई है. उधर, भाजपा की शहर इकाई के अध्यक्ष गौरव रणदिवे ने इस आरोप को खारिज करते हुए कहा, "मतदाताओं से धोखाधड़ी और कांग्रेस के अहंकार के कारण लड़खड़ायी कमलनाथ सरकार खुद गिर गयी थी. "

रणदिवे ने कहा, "शिवराज ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही सूबे को कोविड-19 के चंगुल से बाहर निकालने के कदम उठाने शुरू कर दिए थे. इन कदमों के कारण राज्य में यह महामारी नियंत्रित स्थिति में है. " गौरतलब है कि कांग्रेस के 22 बागी विधायकों के त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होने के कारण तत्कालीन कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गयी थी.

इस कारण कमलनाथ को 20 मार्च को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था. इसके बाद शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा 23 मार्च को सूबे की सत्ता में लौट आयी थी. दरअसल ये विधायक ज्योतिरादित्य सिंधया के समर्थक माने जाते हैं. उन्हीं के बाद पार्टी में ये फूट शुरू हुई और कांग्रेस टूट गयी. हांलाकि कांग्रेस विधायकों ने उन्हें वापस लौटाने की भरपूर कोशिश की लेकिन सफलता उनके हाथ लगी. अपने विधायकों को मनाने के लिए पार्टी के शीर्ष स्तर के नेता कर्नाटक भी गए थे लेकिन पुलिस के हस्थक्षेप की वजह से वो नहीं मिल पाए थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें