1. home Home
  2. state
  3. maharashtra
  4. shiv sena mp gave reply to union minister narayan rane said west bengal is the tiger of the country ksl

केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को शिवसेना सांसद संजय राउत ने दिया जवाब, कहा- ''देश का बाघ है पश्चिम बंगाल''

शिवसेना सांसद संजय राउत ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए पश्चिम बंगाल को 'देश का बाघ' बताया. मालूम हो कि भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने एक बयान में कहा था कि 'महाराष्ट्र को पश्चिम बंगाल नहीं बनने देंगे.''

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
संजय राउत, सांसद, शिवसेना
संजय राउत, सांसद, शिवसेना
ANI

मुंबई : शिवसेना सांसद संजय राउत ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए पश्चिम बंगाल को 'देश का बाघ' बताया. मालूम हो कि भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने एक बयान में कहा था कि 'महाराष्ट्र को पश्चिम बंगाल नहीं बनने देंगे.''

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि ''महाराष्ट्र को पश्चिम बंगाल नहीं बनने देंगे'' (नारायण राणे द्वारा) कथन का क्या अर्थ है? आप (भाजपा) पश्चिम बंगाल में हार गये. यदि आप एक ही भाषा का प्रयोग करते रहे, तो महाराष्ट्र में आपकी उपस्थिति भी नगण्य हो जायेगी. पश्चिम बंगाल 'देश का बाघ' है.''

शिवसेना सांसद ने गुरुवार को केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता नारायण राणे की उस टिप्पणी का जवाब दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि ''भाजपा महाराष्ट्र को पश्चिम बंगाल की तरह नहीं बनने देगी.'' मालूम हो कि नारायण राणे भाजपा में आने से पहले शिवसेना में ही थे.

इससे पहले केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर 15 अगस्त को मुख्यमंत्री के संबोधन के दौरान, भारत की आजादी के कितने साल हुए, तंज कसते हुए कहा था कि ''अगर मैं वहां होता, तो मैं थप्पड़ मार देता.'' इसके बाद केंद्रीय मंत्री को मामले में गिरफ्तार किया गया था. हालांकि, बाद में जमानत भी मिल गयी थी.

मुंबई के जुहू में केंद्रीय मंत्री के आवास के सामने शिवसेना कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन भी किया था. वहीं, महाराष्ट्र में कई जगहों पर हिंसक विरोध प्रदर्शन भी किये गये. इसके बाद केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने हिंसक घटनाओं को लेकर कहा था कि भाजपा महाराष्ट्र में पश्चिम बंगाल जेसी हिंसा की अनुमति देगी.

मालूम हो कि पश्चिम बंगाल में साल की शुरुआत में हुए विधानसभा चुनाव के बाद कई जगहों से हिंसा की खबरें आयी थीं. इस चुनाव में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में आयी और लगातार तीसरी बार विधानसभा चुनाव जीता. वहीं, दूसरे स्थान पर रही भाजपा ने आरोप लगाया था कि उसके कार्यकर्ताओं और समर्थकों को सरकार के समर्थक निशाना बना रहे हैं.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें