1. home Home
  2. state
  3. maharashtra
  4. shiv sena 55th anniversary hindutva is not a company uddhav thackeray ksl

शिवसेना की 55वीं वर्षगांठ पर उद्धव ठाकरे ने संघ-भाजपा पर साधा निशाना : बोले - 'हिंदुत्व कोई कंपनी नहीं, पेट में दर्द होने वालों को दूंगा राजनीतिक दवा

शिवसेना के 55वें स्थापना दिवस पर पार्टी प्रमुख व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शिवसैनिकों को बधाई देते हुए विपक्ष पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि हिंदुत्व कोई कंपनी नहीं है. हिंदुत्व दिल से आता है. साथ ही कुछ लोगों शक्ति खोने के बाद पेट में दर्द हो रहा है, उन्हें अपना ख्याल रखना चाहिए. मैं उन्हें दवा नहीं दे सकता, लेकिन राजनीतिक दवा दूंगा.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
उद्धव ठाकरे, शिवसेना प्रमुख व महाराष्ट्र के मुूख्यमंत्री
उद्धव ठाकरे, शिवसेना प्रमुख व महाराष्ट्र के मुूख्यमंत्री
सोशल मीडिया

मुंबई : शिवसेना के 55वें स्थापना दिवस पर पार्टी प्रमुख व महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शिवसैनिकों को बधाई देते हुए विपक्ष पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि हिंदुत्व कोई कंपनी नहीं है. हिंदुत्व दिल से आता है. साथ ही कुछ लोगों शक्ति खोने के बाद पेट में दर्द हो रहा है, उन्हें अपना ख्याल रखना चाहिए. मैं उन्हें दवा नहीं दे सकता, लेकिन राजनीतिक दवा दूंगा.

शिवसेना के 55वें स्थापना दिवस पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि हिंदुत्व कोई कंपनी नहीं है, जैसा कि वे कहते हैं. शिवसेना ने इसलिए छोड़ दिया, क्योंकि हमने (कांग्रेस और राकांपा के साथ) सरकार बनायी थी. हिंदुत्व दिल से आता है. कुछ लोग जानना चाहते हैं कि यह सरकार कब तक चलेगी, हम देखेंगे. लेकिन, फिलहाल हमें गरीबों के लिए काम करना है.

साथ ही उन्होंने कहा कि हमारे हिंदुत्व पर संदेह है. हमारा हिंदुत्व संकीर्ण नहीं है. अगर शिवसेना महाविकास का नेतृत्व करती है, तो यह पूछा जाता है कि क्या हिंदुत्व छोड़ दिया है. मैं इन लोगों को बताना चाहता हूं कि हिंदुत्व कोई छीननेवाली चीज नहीं है. हिंदुत्व हमारे दिल में है, हिंदुत्व हमारी सांस है!

उद्धव ठाकरे ने कहा कि शिवसेना पहले से ज्यादा मजबूत बनकर उभरी है. कुछ लोगों को अपनी ताकत खोने के बाद पेट में दर्द हो रहा है. उन्हें अपना ख्याल रखना चाहिए. मैं उन्हें दवा नहीं दे सकता, लेकिन मैं उन्हें राजनीतिक दवा दूंगा.

शिवसेना प्रमुख ने कहा कि नेतृत्व बनाये रखने के लिए आप चिंता ना करें, हमारा इरादा नेक है. तीनों दल मिलकर राज्य का विकास कर रहे हैं. गरीबों की सेवा कर उनका आशीर्वाद ले रहे हैं! संबोधन के अंत में उद्धव ठाकरें ने 55 साल की सेवा का श्रेय सभी शिवसैनिकों को दिया, जिन्होंने पार्टी को पाला और पोषित किया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें