1. home Hindi News
  2. state
  3. maharashtra
  4. school reopening religious place reopening all religious places will be open in maharashtra from monday uddhav government is considering opening schools vwt

School Reopening : महाराष्ट्र में सोमवार से खुल जाएंगे सभी धार्मिक स्थल, स्कूलों को खोलने पर विचार कर रही उद्धव सरकार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे.
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे.
फाइल फोटो.

School and religious place reopening : महाराष्ट्र में सोमवार से सभी धार्मिक स्थल खोल दिए जाएंगे. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को इसका ऐलान कर दिया है. हालांकि, राज्य में स्कूलों को खोले जाने पर अभी सरकार विचार कर रही है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शनिवार को कहा कि राज्य में धार्मिक स्थलों को आगामी सोमवार से फिर खोल दिया जाएगा. कोरोना महामारी के कारण इस साल मार्च में लगाए गए लॉकडाउन के समय से ही राज्य के सभी धार्मिक स्थल बंद हैं. ठाकरे ने एक बयान जारी कर दीपावली के अवसर पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं दीं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि कोरोना वायरस रूपी दैत्य आज भी हमारे बीच है. हालांकि, यह दानव अब धीरे-धीरे खामोश हो रहा है, लेकिन हम ढिलाई नहीं बरत सकते. लोगों को अनुशासन का पालन करने की जरूरत है. उन्होंनेकहा कि होली, गणेश चतुर्थी, नवरात्रि और अन्य त्योहारों में अनुशासन एवं संयम दिखाया गया. इसी तरह लोगों ने ईद, माउंट मेरी जैसे कई त्योहार भी कोविड-19 संबंधी प्रोटोकॉल का ध्यान रखकर मनाए.

नियमों और सुरक्षा प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

उनके मुताबिक, सोमवार से सभी धार्मिक स्थल फिर खोल दिए जाएंगे, लेकिन नियमों और सुरक्षा प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करना होगा. उन्होंने कहा कि भीड़ से बचना होगा. धार्मिक स्थलों को खोलना कोई शासनादेश नहीं है, बल्कि यह ईश्वर की इच्छा है. जूते-चप्पल धार्मिक स्थल परिसर से बाहर रखे जाएंगे और मास्क पहनना अनिवार्य होगा. ठाकरे ने कहा कि अगर हम अनुशासन का पालन करते हैं, तो हमें ईश्वर का आशीर्वाद मिलेगा.

दिवाली बाद स्कूल खोलने पर कर रहे हैं विचार

इसके साथ ही उद्धव ने यह भी कहा कि हम सभी एहतियाती कदम उठाते हुए दिवाली बाद स्‍कूल फिर से खोलने पर विचार कर रहे हैं. प्रदूषण और कोरोना के रिश्ते पर बोलते हुए उद्धव ने कहा कि प्रदूषण से कोरोना का असर बढ़ सकता है. मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे पटाखे और अतिशबाजी चलाने की जगह मिट्टी के दीये जलाएं. दिवाली के बाद 15 दिन अहम होंगे. हमें सावधान रहना होगा, ताकि फिर से लॉकडाउन लगाने की नौबत न आए.

एक कोरोना संक्रमित 400 लोगों को कर सकता है बीमार

कोरोना को लेकर पूरी सावधानी बरतने पर जोर देते हुए उद्धव ने कहा कि भीड़ में बिना मास्क के घूमने वाला कोविड-19 का मरीज करीब 400 लोगों को संक्रमित कर सकता है. इससे पहले एक वेबिनार बैठक में मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा था कि वैश्विक स्थिति को देखते हुए कोरोना की एक और लहर की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है. दिवाली के बाद अगले कुछ दिन तक और सतर्क रहने की जरूरत है.

बंद नहीं किए जा सकते स्कूलों में खोले गए आइसोलेशन सेंटर

उन्होंने कहा कि जिन स्कूलों में आइसोलेशन सेंटर खोले गए थे, उन्हें बंद नहीं किया जा सकता. स्थानीय प्रशासन को यह तय करना चाहिए कि क्या ऐसी जगहों के स्कूलों को वैकल्पिक स्थानों पर शुरू किया जा सकता है. स्कूलों की स्वच्छता, शिक्षकों के कोरोना निरीक्षण जैसे सभी बातों का ध्यान रखना जरूरी है.

अभिभावकों से की अपील

मुख्यमंत्री ठाकरे ने छात्रों के माता-पिता से अपील की है कि अगर उनके बच्चे की तबीयत खराब है या फिर परिवार में किसी सदस्य की तबीयत खराब है, तो वे अपने बच्चों को स्कूल में नहीं भेजें. इस अवसर पर स्कूली शिक्षा मंत्री गायकवाड ने कहा कि स्कूल शुरू होने से पहले सभी शिक्षकों की आरटीपीसीआर की जांच 17 से 22 नवंबर के दौरान स्थानीय प्रशासन के माध्यम से की जाएगी. इसके अलावा, विद्यार्थियों की थर्मल चेकिंग की जाएगी. एक बेंच पर एक छात्र को बैठाया जाएगा. राज्य मंत्री बच्चु कडू ने कहा कि स्कूल चरणबद्ध तरीके से शुरू किए जाएंगे.

Posted By : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें