1. home Home
  2. state
  3. maharashtra
  4. ed summons maharashtra minister anil parab for questioning in money laundering case allegedly involving anil deshmukh smb

मनी लॉन्ड्रिंग केस : ED ने महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब को भेजा समन, मंगलवार तक पेश होने का निर्देश

ED Summons Anil Parab प्रवर्तन निदेशालय ने रविवार को महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब को समन जारी किया है. ईडी ने महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब को अनिल देशमुख से मनी लॉन्ड्रिंग में पूछताछ के लिए तलब किया है. अनिल परब को मंगलवार यानी 1 सितंबर से पहले जांच एजेंसी के सामने पेश होने का निर्देश दिया गया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
ED Summons Maharashtra Minister Anil Parab
ED Summons Maharashtra Minister Anil Parab
twitter

ED Summons Maharashtra Minister Anil Parab प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने रविवार को महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब को समन जारी किया है. ईडी ने महाराष्ट्र के मंत्री अनिल परब को अनिल देशमुख से मनी लॉन्ड्रिंग में पूछताछ के लिए तलब किया है. अनिल परब को मंगलवार यानी 1 सितंबर से पहले जांच एजेंसी के सामने पेश होने का निर्देश दिया गया है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के अधिकारियों के हवाले से इसकी जानकारी दी है. बता दें कि इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख और अन्य के खिलाफ जारी मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच के तहत पूछताछ के लिए देशमुख को पांच जुलाई को जांच एंजेसी के समक्ष पेश होने को कहा था. अनिल देशमुख को कथित तौर पर 100 करोड़ रुपए की रिश्वत लेने एवं जबरन वसूली करने वाले रैकेट से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले के संबंध में ईडी द्वारा सम्मन जारी किया. खुद पर लगे इन आरोपों के कारण अनिल देशमुख ने महाराष्ट्र के गृह मंत्री के पद से इस साल अप्रैल महीने में इस्तीफा दे दिया था.

उल्लेखनीय है कि पूर्व मुंबई पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने अनिल देशमुख पर कम से कम सौ करोड़ रुपए की रिश्वत लेने का आरोप लगाया था. जिसके आधार पर सीबीआई ने देखमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया था. बाद में ईडी ने देशमुख और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया. परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि देशमुख ने मुंबई पुलिस के निलंबित सहायक पुलिस निरीक्षक सचिन वाजे को मुंबई के बार और रेस्तरां से एक महीने में 100 करोड़ रुपये से अधिक की रकम वसूलने को कहा था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें